आ गया नए जमाने का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, जानें कीमत

नए सोलर पैनल थर्मो-रैडियेटिव तकनीक से रात में भी बिजली पैदा कर सकते हैं। ये पैनल दिन में सूर्य की रोशनी और रात में वातावरण से गर्मी खींचकर ऊर्जा उत्पन्न करते हैं। कीमत 30,000 से 50,000 रुपये के बीच हो सकती है, जिससे बिजली बिलों में बचत होगी।

Published By News Desk

Published on

आ गया नए जमाने का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, जानें कीमत
आ गया नए जमाने का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, जानें कीमत

सोलर पैनल तकनीक में एक बड़ा बदलाव आया है, जिससे अब सोलर पैनल दिन के साथ-साथ रात में भी बिजली पैदा कर सकेंगे। इस नई तकनीक ने सौर ऊर्जा के क्षेत्र में एक नई क्रांति ला दी है, जिससे बिजली उत्पादन में निर्भरता और प्रभावशीलता बढ़ेगी।

आजकल के समय में ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों का अधिक उपयोग किया जा रहा है। इसमें सौर ऊर्जा भी शामिल है, लोग अपने घरों में Solar Panel लगवा रहें हैं ताकि बिजली बिल की लागत को कम किया जा सके।

आपने देखा होगा कि पारम्परिक जो सोलर पैनल होते हैं वे सूरज पर निर्भर रहते हैं ताकि वे रोशनी प्राप्त कर सके। लेकिन अब से सोलर पैनल रात में भी बिजली उत्पन्न कर सकते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा एक क्रांतिकारी सोलर पैनल को विकसित किया गया है जो रात में भी बिजली उत्पादन कर सकते हैं। यह नई तकनीक भारत के साथ साथ पूरी दुनिया में रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में बदलाव ला रही है।

यह अभूतपूर्व तकनीक स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के इंजीनियरों ने विकसित की है। जो कि दिन में तो एनर्जी जनरेट करते हैं साथ ही रात में भी कार्य करते हैं। तो चलिए जानते हैं इस नई टेक्नोलॉजी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी।

यह भी पढ़ें- सरकार लगवाएगी हर घर पर सोलर पैनल, दिल्ली वालों को मिली बड़ी सौगात

ये एडवांस सोलर पैनल ऐसे करता है काम?

इन सोलर पैनलों को इस तरीके से डिजाइन किया गया है कि यह रात में भी बिजली जनरेट कर सके। यह थर्मोइलेक्ट्रिक जनरेशन के सिद्धांत पर कार्य करते हैं। सोलर पैनल अपने आस पास वातावरण के बीच मौजूद टेम्प्रेचर को जनरेट करता है। आपको बता दें रात में भी सोलर सेल एवं ऐम्बिएट एयर के बीच तापमान में डिफरेंस होता है, बिजली उत्पन्न करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

एडवांस सोलर पैनल रिन्यूएबल एनर्जी के उपयोग बढ़ाने में सहायक होते हैं। ये पैनल उन दूरदराज के इलाकों में बिजली लाते हैं जहाँ बिजली की लाइनें नहीं पहुँच पाती है। ऑफ-ग्रिड उपकरणों तथा मिनी-ग्रिड के लिए निरंतर ऊर्जा का स्रोत हैं। ये जीवाश्म ईंधन की निर्भरता कम करते हैं और पर्यावरण में प्रदूषण नहीं करते हैं। वातावरण के लिए अनुकूल होते हैं जिससे स्वच्छ हवा निरंतर बनी रहती है।

नई तकनीक की विशेषताएं

थर्मो-रैडियेटिव टेक्नोलॉजी

इस नए सोलर पैनल की सबसे खास बात यह है कि यह रात के समय भी बिजली पैदा कर सकता है। यह पैनल एक विशेष थर्मो-रैडियेटिव टेक्नोलॉजी का उपयोग करता है, जो रात के समय वातावरण से गर्मी को खींचकर बिजली में बदलता है।

यह भी देखें:सरकार लगवाएगी हर घर पर सोलर पैनल, दिल्ली वालों को मिली बड़ी सौगात

सरकार लगवाएगी हर घर पर सोलर पैनल, दिल्ली वालों को मिली बड़ी सौगात

दोहरे उपयोग की क्षमता

दिन में यह पैनल सामान्य सोलर पैनल की तरह सूर्य की रोशनी से बिजली उत्पन्न करता है और रात में थर्मल ऊर्जा को बिजली में परिवर्तित करता है। इस पैनल में थर्मोइलेक्ट्रिक जनरेटर को एकीकृत किया गया है, जिससे यह रात में 50 mW/m² बिजली उत्पन्न कर सकता है।

यह भी पढ़ें- आधुनिक तकनीक का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, अब धूप की टेंशन खत्म

ऊर्जा क्रांति के द्वार खोल रहे हैं एडवांस सोलर पैनल

इन अत्याधुनिक सोलर पैनलों को और अधिक बेस्ट बनाने के लिए अभी भी विकास प्रक्रिया जारी है, जो कि जल्द संभव हो जाएगा। टेक्नोलॉजी को पूरी तरह से फंक्शनल किया जाएगा लोग आसानी से इसका उपयोग कर सकते हैं। इससे लगातार बिजली का निर्माण किया जा सकता है। फॉसिल फ्यूल की निर्भरता कम होती है जिससे पर्यावरण प्रदूषित होने से बच सके।

रात में बिजली उत्पन्न करना इन सोलर पैनल को एडवांस टेक्नोलॉजी और मॉडर्न बनाती है, यह अपने एडवांसमेंट को प्रदर्शित करता है। अब आपको दिन में सूरज का इन्तजार नहीं करना पड़ेगा। वैज्ञानिकों द्वारा रात में ऐसे सोलर पैनल बनाए गए हैं जो रात के अँधेरे में भी बिजली उत्पन्न कर सकते हैं।

कीमत और उपलब्धता

नए जमाने के इस सोलर पैनल की कीमत पारंपरिक सोलर पैनल से थोड़ी अधिक हो सकती है, लेकिन इसकी अतिरिक्त बिजली उत्पादन क्षमता और निर्भरता को देखते हुए यह एक फायदे का सौदा साबित हो सकता है।

  • शुरुआती कीमत: शुरुआती कीमत लगभग 30,000 से 50,000 रुपये हो सकती है, जो पैनल के आकार और क्षमता पर निर्भर करती है।
  • लाभ: लंबी अवधि में बिजली की बचत और ऊर्जा उत्पादन में निरंतरता से यह निवेश लाभदायक होगा।

किसके लिए उपयोगी

यह नया सोलर पैनल खासकर उन क्षेत्रों के लिए अत्यंत उपयोगी है जहां दिन में सूरज की रोशनी कम होती है या मौसम खराब रहता है। इसके अलावा, घरों, उद्योगों और कृषि के लिए भी यह पैनल बेहद फायदेमंद साबित होगा।

नए जमाने के सोलर पैनल ने सौर ऊर्जा के क्षेत्र में एक नई दिशा दी है। इसकी थर्मो-रैडियेटिव तकनीक के माध्यम से अब रात में भी बिजली उत्पादन संभव हो सकेगा। यह पैनल न केवल ऊर्जा उत्पादन में बढ़ोतरी करेगा बल्कि बिजली के बिलों को भी कम करने में मदद करेगा। शुरुआती कीमत थोड़ी अधिक हो सकती है, लेकिन दीर्घकालिक लाभ इसे एक लाभदायक निवेश बनाते हैं।

यह भी देखें:सोलर पैनल लगाकर सरकार को कैसे बिजली बेच सकते हैं आप? साल में इतनी होगी कमाई

सोलर पैनल लगाकर सरकार को कैसे बिजली बेच सकते हैं आप? साल में इतनी होगी कमाई

6 thoughts on “आ गया नए जमाने का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, जानें कीमत”

  1. Detail it’s price capasity and it’s cost to instal wheather it’s generate electcity afer sun set in evening I am interested to get instal who much subsidy will available it’s life who many years

    Reply
  2. रात में भी कार्य करता है तो बहुत अच्छा है। फिर तो हर घर के लिए उपयोगी है।
    कीमत क्या होगी।
    मुझे भी चाहिए।

    Reply
  3. I have already 2kw solar panel but i am also interested in this new technology. Plz tell me the launching date and the price list of different capacity .

    Reply

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें