आधुनिक तकनीक का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, अब धूप की टेंशन खत्म

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के इंजीनियरों द्वारा एक नवीन सोलर पैनल को विकसित किया गया है,

Published By News Desk

Published on

आज के समय में नवीकरणीय ऊर्जा से संबंधित आधुनिक उपकरण बनाएं जा रहे हैं। जिनके द्वारा एडवांस तकनीक के साथ कार्य किया जाता है। सौर ऊर्जा के द्वारा बिजली का उत्पादन करने के लिए सोलर पैनल का प्रयोग किया जाता है। सामान्यतः सोलर पैनल सूर्य की उपस्थिति में ही बिजली का उत्पादन करने का कार्य करते हैं। सोलर पैनल के निर्माण में इंजीनियरों द्वारा एक ऐसे सोलर पैनल का निर्माण किया गया है, जो रात के समय में भी बिजली का उत्पादन कर सकता है। इस तकनीक के सोलर पैनल नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में क्रांति ला सकते हैं।

आधुनिक तकनीक का सोलर पैनल, रात में भी पैदा करेगा बिजली, अब धूप की टेंशन खत्म
आधुनिक तकनीक का सोलर पैनल

आधुनिक तकनीक का सोलर पैनल

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के इंजीनियरों द्वारा एक नवीन सोलर पैनल को विकसित किया गया है, ऐसे आधुनिक सोलर पैनल पारंपरिक सोलर पैनल को चुनौती देते हैं, पारंपरिक तकनीक के सोलर पैनल केवल दिन के समय ही सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में ही विद्युत ऊर्जा पैदा कर सकते हैं। आधुनिक तकनीक के नए सोलर पैनल धूप की अनुपस्थिति में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होंगे।

बिजली का उत्पादन कैसे होगा?

आधुनिक तकनीक के सोलर पैनल रात के समय में भी बिजली निर्मित करने के लिए सोलर पैनल के मूल सिद्धांत थर्मोइलेक्ट्रिक जनरेटर पर कार्य करते हैं। यह जनरेटर सोलर सेल एवं वातावरण के तापमान में अंतर का उपयोग कर ऊर्जा उत्पन्न करता है। रात में भी सोलर सेल एवं हवा के बीच तापमान का अंतर होता है, जिसका उपयोग कर के इस सोलर पैनल द्वारा बिजली का उत्पादन किया जा सकेगा।

यह भी देखें:Solar Panels for Home 2024: घर में कितना बड़ा सोलर प्लांट लगवाएं और कितना आएगा टोटल खर्च जाने!

Solar Panels for Home 2024: घर में कितना बड़ा सोलर प्लांट लगवाएं और कितना आएगा टोटल खर्च जाने!

आधुनिक तकनीक के सोलर पैनल के फायदे

आधीनक तकनीक के रात में भी बिजली का उत्पादन करने वाले सोलर पैनल से निम्न फायदे होंगे:-

  • आधुनिक तकनीक के सोलर पैनल के द्वारा नवीकरणीय ऊर्जा का प्रयोग अधिक से अधिक किया जा सकेगा।
  • ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग सर्वाधिक ऐसे क्षेत्र में किया जा सकेगा, जहां इलेक्ट्रिक ग्रिड की बिजली की उपलब्धता नहीं होगी।
  • ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग कर ऑफ-ग्रिड उपकरणों एवं मिनी-ग्रिड उपकरणों का प्रयोग आसानी से किया जा सकेगा। क्योंकि ऐसे उपकरणों को लगातार बिजली की सप्लाई प्रदान करनी होती है।
  • सोलर सिस्टम का प्रयोग कर जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को शून्य किया जा सकता है। जिस से किसी भी प्रकार से प्रदूषण को उत्पन्न नहीं किया जाएगा।

भविष्य में और अधिक एडवांस तकनीक के सोलर पैनल एवं सोलर उपकरणों को देखा जाएगा। ऐसे में आपको यह इंतजार अभी कुछ समय और करना पड़ेगा, क्योंकि अभी इस आधुनिक सोलर पैनल पर कार्य किया जा रहा है। एक बार पूरी तरह से कार्य सफल होने, पर आम नागरिक भी इन सोलर पैनलों को अपने सोलर सिस्टम में स्थापित कर सकते हैं। एवं निरतंर बिजली को प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही पर्यावरण को सुरक्षित रखने में सहयोग प्रदान करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

यह भी देखें:सौर ऊर्जा से चलने वाले कृषि उपकरण कौन हैं? यहाँ जानें

सौर ऊर्जा से चलते हैं ये कृषि उपकरण, देखें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें