सोलर पैनल खराब हो गए, कैसे सही करें? सोलर पैनल काम नहीं करने का क्या कारण है, जानें

घर पर अचानक सोलर पैनल ख़राब हो जाए, तो आप घर बैठे इसे कर सकते हैं ठीक। आखिर क्या कारण होता है सोलर पैनल काम नहीं करने के। यह जानकारी जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल खराब हो गए, कैसे सही करें? सोलर पैनल काम नहीं करने का क्या कारण है, जानें
सोलर पैनल खराब हो गए, कैसे सही करें? सोलर पैनल काम नहीं करने का क्या कारण है, जानें

भारत सरकार स्वच्छ एवं नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए सोलर पैनल स्थापित करने में नागरिकों की सहायता कर रही है। सोलर पैनल एक महत्वपूर्ण उपकरण है जो बिजली आवश्यकताओं को पूरा करने में प्रयोग किया जाता है। सोलर पैनल सूर्य की रोशनी को ग्रहण करके बिजली का उत्पादन करते हैं जिसका इस्तेमाल घर के उपकरण चलाने में किया जाता है। सोलर सिस्टम लगाने में अधिक खर्चा आता है लेकिन इसका लाभ भी आपको लम्बे समय तक मिलता है। अधिकतर सोलर पैनलों में 25 अथवा 30 साल की वारंटी प्रदान की जा सकती है। लेकिन कई बार सोलर पैनल में कुछ खराबी के कारण ये काम करना बंद कर देते हैं जिसकी जानकारी लोगों को मालूम नहीं होती है। लेकिन चिंता ना करें हम आपको इस लेख में यह सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहें हैं।

यह भी पढ़ें- सोलर पैनल पर 25 साल की वारंटी कैसे एक मिथक है? जानें

सोलर पैनल कैसे ख़राब होते हैं?

जब सोलर पैनल डैमेज होने लगते हैं तो वे धीरे धीरे करके ख़राब होने लगते हैं यही इसका असली कारण होता है। अगर सुपर पैनल पर कोई पत्थर गिरता, सोलर पैनल का गिरना, नुकीली चीज का पैनल में घुसना आदि इन वजहों से सोलर पैनल डैमेज हो जाते हैं। इसके अतिरिक्त सोलर पैनल के पीछे जंक्शन बॉक्स में जो डायोड लगा होता है वह भी ख़राब हो जाता है जिसके कारण सोलर पैनल डैमेज होने लगता है। इस स्थिति में अधिकतर लोग सोलर पैनल को ख़राब कहने लगते हैं परन्तु खराबी डायोड के कारण होता है।

ख़राब सोलर पैनल ठीक कैसे करें?

अगर आपका सोलर पैनल ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है या फिर बिलकुल काम नहीं कर रहा है, तो आपको इस स्थिति में सोलर पैनल के पीछे लगे जंक्शन बॉक्स को ओपन करना है। इसके पश्चात आपको एक मल्टीमीटर की मदद से डायोड को चेक करना है। चेक करने पर यदि आपको कोई डायोड ख़राब दिखता है तो उसे सोल्डरिंग आयरन एवं एक स्क्रूड्राइवर की मदद से इसे बाहर निकाल लेना है।

यह भी पढ़ें- अब सोलर पैनल से होंगे इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्ज IIT Jodhpur ने बनाया Adopter, कीमत मात्र 1000 रुपये

यह भी देखें:किसानों को सोलर पैनल ट्यूबवेल के लिए मिल रही 75% सब्सिडी

किसानों को सोलर पैनल ट्यूबवेल के लिए मिल रही 75% सब्सिडी

सही दिशा में लगाएं डायोड

डायोड को आराम एवं सावधानीपूर्वक बाहर निकालें, और निकालने पहले डायोड की वर्तमान स्थिति को चेक कर लें। अर्थात आपको यह देखना है कि डायोड पर बनी सिल्वर लाइन किस दिशा में है। जब आप नया डायोड लगाएंगे तो आपको इसी जगह पर लगाना है। अगर आप इसे गलत जगह पर लगाते हैं तो सोलर पैनल ढंग से काम नहीं करेगा।

अब जिस भी रेटिंग का डायोड आपके पैनल में लगा हुआ था उसी रेटिंग का दूसरा डायोड आपको मार्केट से जाकर लाना है। आप इसे इलेक्ट्रिक शॉप से खरीद सकते हैं। अगर आपको इसके बारे में नहीं पता तो आप पुराने डायोड को दिखाकर नया डायोड ला सकते हैं ताकि वही डायोड प्राप्त हो सके।

अब आपको नए डायोड को सोल्डरिंग आयरन की मदद से वापस सोलर पैनल पर ढंग से फिट कर देना है। इसके बाद आपका सोलर पैनल सही तरीके से काम करने लग जाएगा।

यह भी देखें:अदानी 3kW On Grid सोलर सिस्टम लगवाएं बिल्कुल नाममात्र कीमत में, लगवाने की कीमत है बस इतनी

अदानी 3kW On Grid सोलर सिस्टम लगवाएं बिल्कुल नाममात्र कीमत में, लगवाने की कीमत है बस इतनी

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें