1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा

Published By News Desk

Published on

आज के समय में नवीकरणीय ऊर्जा का प्रयोग करने के लिए आधुनिक तकनीक के उपकरण उपलब्ध हैं। ऐसे में यदि आप बजट की परवाह किए बिना एक अच्छे सोलर सिस्टम को लगाने का विचार कर रहे हैं तो आप 1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक को अपने प्रतिष्ठान में स्थापित कर सकते हैं। ऐसे सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले सभी प्रकार के उपकरण जैसे सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर एवं सोलर बैटरी सभी एडवांस तकनीक के होते हैं। इनकी दक्षता एवं कार्य क्षमता सामान्य सोलर सिस्टम से कई अधिक होती है।

1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा
1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर सिस्टम

1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक में प्रयोग किए जाने वाले सभी उपकरणों की दक्षता उच्च रहती है। एवं इन की विशेषताएं अधिक हैं। ऐसे सोलर सिस्टम को स्थापित कर आप सौर ऊर्जा से प्राप्त होने वाली बिजली का प्रयोग कर सकते हैं। इस लेख की सहायता से आप 1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक में प्रयोग होने वाले उपकरणों एवं सोलर सिस्टम की स्थापना में होने वाले कुल खर्चे की जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं। सोलर सिस्टम की स्थापना कर आप पर्यावरण को सुरक्षित रखने में भी अपना सहयोग प्रदान कर सकते हैं।

एडवांस टेक्नोलॉजी के सोलर पैनल

सोलर पैनल सोलर सिस्टम का सबसे मुख्य एवं महत्वपूर्ण उपकरण होते हैं। सोलर सिस्टम के द्वारा ही सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है, जो दिष्ट धारा DC के रूप में होती है। सोलर पैनल में यह कार्य सोलर सेल (PV Cell- फोटोवोल्टिक सेल) के द्वारा किया जाता है। आज के समय में सोलर पैनल की सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी का उदाहरण बाइफेशियल सोलर पैनल हैं, इस प्रकार के सोलर पैनल द्वारा दोनों ओर से बिजली का निर्माण किया जाता है। यह सूर्य से सीधे प्राप्त होने वाले प्रकाश से एवं टकराकर प्राप्त होने वाले Albedo Light से भी बिजली का उत्पादन करते हैं।

1 किलोवाट के सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले बाइफेशियल सोलर पैनेल की कीमत लगभग 40,000 रुपये तक है। इस सोलर पैनल की प्रतिवत कीमत लगभग 40 रुपये है। इस प्रकार के सोलर पैनल कम धूप में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं। इस प्रकार के सोलर पैनल अन्य सोलर पैनल की तुलना में अधिक बिजली का निर्माण करते हैं, 1 किलोवाट बाइफेशियल सोलर पैनल द्वारा प्रतिदिन 7 यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है।

एडवांस टेक्नोलॉजी का 1 KVA सोलर इंवर्टर

सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर सोलर पैनल से प्राप्त होने वाली DC को AC में परिवर्तित किया जाता है। बाजार में अनेक ब्रांड द्वारा आधुनिक तकनीक के सोलर इंवर्टर लांच किए गए हैं। सोलर इंवर्टर PWM (Pulse Width Modulation) एवं MPPT (Maximum Power Point Tracking) तकनीक में बने होते हैं। इनमें से PWM तकनीक के सोलर इंवर्टर द्वारा सोलर पैनल से प्राप्त होने वाली बिजली की करंट को नियंत्रित किया जाता है। MPPT तकनीक के सोलर इंवर्टर द्वारा पैनल से प्राप्त बिजली की करंट एवं वोल्टेज दोनों को नियंत्रित किया जाता है। MPPT तकनीक के सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर 30% अधिक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। UTL-Gamma-Plus-2000VA-24Volt-rMPPT-Solar-Hybrid-Inverter-Support-2000-Watt-Solar-Panels

यह भी देखें:अगर 1.5 Ton AC सोलर से चलाना है तो कितने किलोवाट का सोलर पैनल लगेगा, जानें?

1.5 Ton AC को चलाने के लिए कितने किलोवाट का सोलर पैनल लगाएं, जानें

UTL Gamma Plus 3350 Solar Inverter– यह MPPT तकनीक का सोलर इंवर्टर होता है। इस इंवर्टर के द्वारा 3 KVA तक का लोड चलाया जा सकता है। इस इंवर्टर का प्रयोग करने पर भविष्य में नागरिक अपने सोलर सिस्टम की क्षमता में वृद्धि कर सकता है। इस सोलर इंवर्टर की बैटरी वोल्टेज रेटिंग 24 वोल्ट है। इस पर 2 सोलर बैटरियों को जोड़ा जा सकता है। यह इंवर्टर आधुनिक तकनीक की लिथियम आयन बैटरी को सपोर्ट करता है। इस सोलर इंवर्टर की कीमत UTL की आधिकारिक वेबसाइट पर लगभग 20,000 रुपये है।

एडवांस टेक्नोलॉजी की सोलर बैटरियाँ

सोलर बैटरियों का प्रयोग कर सोलर पैनल से निर्मित होने वाली बिजली को संग्रहीत करने में किया जाता है। आज के समय में प्रयोग की जाने वाली सबसे आधुनिक तकनीक की सोलर बैटरी लिथियम बैटरी है। इस बैटरी का प्रयोग कर आप लंबे समय तक अपनी आवश्यकता के अनुसार पावर बैकअप का प्रयोग कर सकते हैं। इन सोलर बैटरियों की कीमत इस प्रकार रहती है:-

  • 100 Ah की 24 वोल्ट लिथियम बैटरी की कीमत लगभग 65,000 रुपये है। इस प्रकार की बैटरियों की लाइफ साइकिल लंबी होती है। एवं यह अपने उच्च कार्य प्रदर्शन के लिए जानी जाती है। यह एक बैटरी 150 Ah की दो लेड-एसिड बैटरियों के बराबर बिजली स्टोर करती है।
  • 50 Ah की 24 वोल्ट लिथियम बैटरी की कीमत लगभग 35,000 रुपये है। इस बैटरी का प्रयोग भी आप अपने एडवांस सोलर सिस्टम में कर सकते हैं। ये लंबे समय तक कार्य करती हैं। इस प्रकार की सोलर बैटरियों को कम रखरखाव की आवश्यकता होती है।

सोलर सिस्टम में अन्य खर्च

सोलर सिस्टम की स्थापना में सोलर उपकरणों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए अन्य उपकरणों का प्रयोग भी किया जाता है। इन उपकरणों में पैनल स्टैन्ड, ACDB/DCDB बॉक्स जैसे उपकरणों का प्रयोग किया जाता है। सोलर सिस्टम में कनेक्शन स्थापित करने के लिए अलग-अलग प्रकार की वायर का प्रयोग होता है। इन सभी की कीमत को सोलर सिस्टम के अन्य खर्चे में समिलित किया जाता है। 1 किलोवाट के एडवांस सोलर सिस्टम में अन्य खर्च लगभग 10,000 रुपये तक होता है।

1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कुल कीमत

इस लेख में हमारे द्वारा आपको 1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कुल औसतन खर्चे की जानकारी दी जाएगी। क्योंकि सोलर उपकरणों को नागरिक अपनी सुविधा के अनुसार ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल या नजदीकी बाजार से खरीद सकते हैं। जिस कारण यह कीमत स्थान एवं ब्रांड के आधार पर अलग-लग हो सकती है। लेख में दिए गए खर्च में स्थापना करने वाले एक्सपर्ट कर्मियों का भुगतान शुल्क शामिल नहीं किया गया है। 1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी वाले सोलर सिस्टम की कीमत इस प्रकार हो सकती है:-

  • 1 किलोवाट क्षमता के बाइफेशियल सोलर पैनल की कीमत- 40,000 रुपये
  • UTL Gamma Plus 3350 Solar Inverter की कीमत- 20,000 रुपये
  • 100 Ah, 24 V लिथियम सोलर बैटरी की कीमत- 65,000 रुपये
  • अन्य खर्च- 10,000 रुपये
  • कुल औसतन खर्च- 1,35,000 रुपये

निष्कर्ष

1 Kw सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कुल कीमत की जानकारी आप इस लेख के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप सस्ता सोलर सिस्टम स्थापित करना चाहते हैं, तो आप पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल एवं लेड एसिड बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं। एडवांस तकनीक के सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले सभी उपकरणों की कीमत अधिक है। जिनका प्रयोग कर आप लंबे समय तक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रकार के सोलर सिस्टम को इसके कुशल प्रदर्शन के लिए जाना जाता है।

यह भी देखें:बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत जानें

बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें