सामान्य इंवर्टर की बजाय साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण

इंवर्टर का प्रयोग डीसी से एसी प्राप्त करने के लिए किया जाता है, घरों में साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग क्यों करना चाहिए, यह जानकारी इस लेख से प्राप्त कर सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

बिजली की आवश्यकताएं प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, ऐसे में अधिक लोड होने से कई क्षेत्रों में बिजली की कटौती भारी मात्रा में होती है, जिस से आवश्यक कार्य को करने में रुकावट पैदा हो जाती है। आज के समय में ग्रिड की बिजली के चले जाने के बाद इंवर्टर द्वारा बिजली की आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सकती है, घरों एवं औद्योगिक क्षेत्रों में अधिकांश उपकरण प्रत्यावर्ती धारा (AC- Alternative Current) के द्वारा चलते हैं, इंवर्टर द्वारा DC को AC में परिवर्तित करने का कार्य किया जाता है। इस लेख से आप सामान्य इंवर्टर की बजाय साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सामान्य इंवर्टर की बजाय साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण
साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण

इंवर्टर क्या होता है?

आज के समय में बाजार में अनेक प्रकार के एवं ब्रांड के इंवर्टर उपलब्ध हैं, सभी प्रकार के इंवर्टर का मुख्य कार्य बिजली की धारा को DC से AC में परिवर्तित करना है, इंवर्टर का प्रयोग उपभोक्ता उनकी बिजली की आवश्यकता की क्षमता के अनुसार कर सकते हैं, एक इंवर्टर से सामान्यतः लाइट, फैन, अन्य घरेलू उपकरण और एलिवेटर, कंप्यूटर, स्कैनर आदि सभी प्रकार के उपकरण चलाए जा सकते हैं, यह इंवर्टर की क्षमता पर ही निर्भर करता है। साइन वैव इंवर्टर या सामान्य इंवर्टर का प्रयोग घरों में किया जाता है।

सामान्य इंवर्टर को स्क्वायर वेव इंवर्टर भी कहा जाता है, बैटरी में जमा की गई दिष्ट धारा (DC) को इसके माध्यम से AC में परिवर्तित किया जाता है। साइन वेव इंवर्टर के द्वारा भी करंट को बदलने का ही काम किया जाता है। साइन वेव इंवर्टर की कीमत सामान्य इंवर्टर से अधिक होती है, क्योंकि इस इंवर्टर का आउटपुट बहुत ज्यादा स्मूथ होता है। इस इंवर्टर का प्रयोग करने से उपयोगकर्ता को अनेक लाभ प्राप्त होते हैं। इस सोलर इंवर्टर को चुनने के मुख्य कारण जान कर आप इसके लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

सामान्य इंवर्टर की बजाय साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण

साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग करने के लिए बताए जाने वाले वाले मुख्य कारण इस प्रकार हैं:-

यह भी देखें:

खुशखबरी! सरकारी योजना से होगा 78 हजार रूपए का शानदार लाभ

  • इंवर्टर की दक्षता एवं पावर लॉस-सामान्य इंवर्टर के द्वारा 75% से 85% तक दक्षता में कार्य करने की जानकारी दी जाती है, वहीं प्रीमियम साइन वेव इंवर्टर की कार्य करने की दक्षता 90% से 95% तक रहती है। सामान्य इंवर्टर की तुलना में मध्यम गुणवत्ता के साइन वेव इंवर्टर अधिक कुशल होते हैं, साइन वेव इंवर्टर द्वारा बिजली की हानि कम होती है, जिस से इसका प्रयोग सही से किया जा सकता है, और बिजली के बिल को कम करने में यह सहायक होता है।
  • शोर (Noice) एवं गड़बड़ियाँ– सामान्य इंवर्टर का प्रयोग करते समय इसके द्वारा अधिक विद्युत शोर उत्पन्न किया जाता है, साथ ही इसके प्रयोग से संचालित होने वाले उपकरणों (जैसे- टीवी, लाइट, फैन, कंप्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर आदि) के खराब होने की संभावनाएं अधिक रहती हैं। वहीं दूसरी ओर यदि उपभोक्ता साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग करे तो यह उपकरणों को सुरक्षित ढंग से संचालित करने में सहायता प्रदान करने का कार्य करता है, साइन वेब इंवर्टर के प्रयोग से उपकरणों को चलाने पर वे उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हैं।
  • आउटपुट वेव– साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग करने पर इस से प्राप्त होने वाली आउटपुट वेव, इलेक्ट्रिक ग्रिड से प्राप्त होने वाली बिजली की वेव के समान ही प्राप्त होती है, ऐसे में हार्मोनिक विरूपण (Harmonic Distortion) न्यूनतम होता है। तथा ऐसे में उपकरणों को चलाने में स्वच्छ एवं स्थिर बिजली की आपूर्ति संचालित होने वाले उपकरण को प्राप्त होती है। साइन वेव इंवर्टर के माध्यम से कंप्यूटर, टीवी, माइक्रोवेव, एसी आदि उपकरणों को सुरक्षित रूप से संचालित किया जा सकता है। जबकि सामान्य इंवर्टर में आउटपुट में हार्मोनिक डिस्टॉर्शन अधिक होता है।
  • इन्डक्टिव लोड– वे सभी उपकरण जिनमें कि इलेक्ट्रिक कोइल होती है, जैसे- मोटर। ऐसे उपकरणों में यह लोड रहता है, जो की इलेक्ट्रिक सर्किट का एक घटक होता है, जो उपकरणों को संचालित करने के लिए चुंबकीय ऊर्जा का प्रयोग करता है। जब ऐसे उपकरणों को बिजली प्रदान की जाती है, तो ऐसे में साइन वेव इंवर्टर, सामान्य इंवर्टर की तुलना में अधिक कुशल एवं सक्षम होते हैं। सामान्य इंवर्टर का प्रयोग कर ऐसे उपकरणों को संचालित करने के लिए बिजली प्रदान करने पर उपकरण अधिक गर्म हो जाता है, जिस से उसके खराब होने के चांस बढ़ जाते हैं और उसकी लाइफ-साइकिल कम हो जाती है।
  • इंवर्टर की कीमत– यदि हम सामान्य इंवर्टर एवं साइन वेव इंवर्टर की कीमत की बात करें तो यहाँ पर साइन वेव इंवर्टर की कीमत अधिक होती है, जिसका कारण आप आसानी से समझ सकते हैं कि साइन वेव इंवर्टर, सामान्य इंवर्टर से अधिक सखसम एवं कुशल है, इसका प्रयोग कर उपयोगकर्ता को अनेक प्रकार से लाभ प्राप्त होता है। इनकी लाइफ-साइकिल अधिक होती है, इस प्रकार के इंवर्टर अधिक पावर बैकअप प्रदान करते हैं, और इन इनवर्टरों में मरम्मत, रखरखाव की आवश्यकता कम होती है। सामान्य इंवर्टर की कीमत कम होती है, लेकिन इनका प्रयोग करना खतरनाक साबित हो सकता है।
  • त्वरित चार्जिंग सुविधा– सामान्य इंवर्टर चार्ज होने में अधिक समय लेते हैं, जबकि साइन वेव इंवर्टर अधिक तेजी से चार्ज होते हैं। यदि उपभोक्ता ऐसे स्थान में रहता हैं जहां बिजली की कटौती अधिक मात्रा में होती है, तो चार्जिंग की गति उसके लिए आवश्यक हो जाती है। व्यावसायिक या वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों (जैसे- होटल, मॉल, हॉस्पिटल आदि) में प्रयोग की जाने वाली लिफ्ट के संचालन के लिए इस प्रकार के इंवर्टर का प्रयोग ही किया जाता है। जिस से उपकरणों को सही प्रकार से चलाया जा सकता है।

साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग करें

साइन वेव इंवर्टर एवं सामान्य इंवर्टर की विशेषता की जानकारी प्राप्त करने से आप यह समझ गए होंगे कि आपको किस प्रकार के इंवर्टर में निवेश करना है, एवं उसका प्रयोग कर के लाभ प्राप्त करना है। बाजार में अनेकों ब्रांड के साइन वेव इंवर्टर उपलब्ध हैं, जिनका प्रयोग कर के आप अपनी बिजली को आवश्यकताओं को सही से प्रयोग कर सकते हैं। उच्च दक्षता के साथ आउटपुट प्रदान करने वाले साइन वेव इंवर्टर एडवांस तकनीक में निर्मित किया जाते हैं, इनके द्वारा लगभग सभी प्रकार के उपकरणों को चलाया जा सकता है। अपनी बिजली की आवश्यकताओं और बजट के अनुसार आप सही क्षमता के साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इस प्रकार उपरोक्त लेख के माध्यम से आप सामान्य इंवर्टर की बजाय साइन वेव इंवर्टर चुनने के मुख्य कारण की जानकारी आसानी से समझ सकते हैं। सामान्य इंवर्टर के जल्दी खराब होने की संभावनाएं रहती हैं, साथ ही इसके प्रयोग से चलाए जाने वाली उपकरण भी खराब हो सकते हैं। साइन वेव इंवर्टर के द्वारा अपने सर्किट को सुरक्षा के साथ चलाया जा सकता है। साइन वेव इंवर्टर का प्रयोग कर पर्यावरण को सुरक्षित रखने में भी नागरिक सहयोग प्रदान कर सकते हैं। इनके द्वारा प्रदूषण रहित कार्य किया जाता है।

यह भी देखें:सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें