सोलर पैनल लगाने के क्या फायदे और उपयोग है, देखें

Published By News Desk

Published on

प्राकृतिक ऊर्जा का सबसे बड़ा स्रोत सूर्य है। सौर ऊर्जा के प्रयोग से बिजली का उत्पादन करने के लिए सोलर पैनल का उपयोग होता है। सोलर पैनल से बिजली का उत्पादन करने की प्रक्रिया पर्यावरण के अनुकूल है, एवं इस से किसी प्रकार का प्रदूषण उत्पन्न नहीं होता है, इसलिए सरकार द्वारा सोलर पैनल को स्थापित करने के लिए नागरिकों को प्रोत्साहित किया जाता है। सोलर पैनल लगाने के क्या फायदे और उपयोग हैं? क्या आप जानते हैं?

इस लेख के माध्यम से हम आपको सोलर पैनल का उपयोग (what is the use of solar panels) की जानकारी प्रदान करेंगे। वर्तमान समय में बाजारों में अत्याधुनिक तकनीक के सोलर पैनल उपलब्ध हो गए हैं। जो उच्च दक्षता के हैं एवं उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रसिद्ध हैं। सोलर पैनल का प्रयोग घर से लेकर हर बड़े-छोटे प्रतिष्ठान में किया जा सकता हैं, इस आर्टिकल के माध्यम आप सोलर पैनलों के विभिन्न अनुप्रयोगों एवं व्यावहारिक उपयोगों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

what is the use of solar panels: सोलर पैनल का उपयोग क्या है
सोलर पैनल का उपयोग क्या है

सोलर पैनल होते क्या हैं

सामान्यतः सिलिकॉन के छोटे-छोटे PV फोटोवोल्टिक सेल की सहायता से बनने वाले सोलर पैनल होते हैं। सोलर पैनल में सूर्य से आने वाली ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। यह कार्य PV सेल के द्वारा ही किया जाता है, जिन्हें सोलर सेल के नाम से भी जाना जाता है। सोलर सेल सोलर पैनल का मुख्य भाग है। सोलर पैनल मुख्यतः 2 प्रकार के होते हैं, जिन्हें पॉलीक्रिस्टलाइन एवं मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल के नाम से जाना जाता है। दोनों का ही प्रयोग किया जा सकता है, मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल उच्च दक्षता के होते हैं एवं अधिक महंगे होते हैं। यह हल्की धूप में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं।

सोलर पैनल लगाने के फायदे और उपयोग

सोलर पैनलों का उपयोग घर के विद्युत उपकरणों को संचालित करने से लेकर बहुत से व्यवसायों में किया जाता है, सोलर पैनल का उपयोग निम्न क्षेत्रों में किया जाता है:

घरों में बिजली उत्पादन

सामान्यतः घरों में सोलर पैनल का उपयोग बिजली उत्पादन करने के लिए किया जाता है। जिसके लिए घर के मालिक अपनी सहूलियत के अनुसार उसकी स्थापना कर सकते हैं। सरकार द्वारा अपने घरों की छतों पर सोलर पैनल स्थापित करने के लिए सब्सिडी भी प्रदान की जाती है।

वैज्ञानिक अनुसंधानों में

वैज्ञानिक अनुसंधानों एवं अभियानों में सोलर पैनल का उपयोग अधिक किया जाता है, इसमें उच्च क्षमता के सोलर पैनल का प्रयोग होता है। जैसे अंतरिक्ष में उपग्रह भेजने पर उन पर सोलर पैनल लगाए जाते हैं, जिस से वे चार्ज होते हैं एवं सही से कार्य करते हैं।

कृषि क्षेत्र में

सोलर पैनल का प्रयोग कृषि के क्षेत्र में कृषि में प्रयोग होने वाले उपकरणों को चलाने में लिया जाता है, जैसे सोलर पंप को सोलर पैनल से संचालित कर कृषि में सिंचाई की जाती है। इस से जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को कम किया जाता है। जो प्रदूषण को भारी मात्रा में उत्पन्न करते हैं।

डेयरी उद्योग में

डेयरी उद्योग में सोलर पैनल से बिजली का उत्पादन कर उसमें प्रयोग होने वाले बायलर फ़ीडवाटर आदि उपकरणों को संचालित किया जाता है। साथ ही प्रेशर, ड्राईनेस आदि प्रक्रियाओं को इस बिजली के द्वारा किया जाता है।

कपड़ा उद्योग में

सोलर पैनलों का उपयोग कपड़ा उद्योग में बड़े पैमाने पर किया जाता है। इस से निर्मित बिजली से ब्लीचिंग, रंगाई, सुखाने और डीग्रीजिंग जैसी अनेक प्रक्रियाओं को इसमें किया जाता है।

यह भी देखें:Havells 3 Kw Solar System कीमत, जानें सोलर उपकरणों की पूरी जानकारी

Havells 3 Kw Solar System की क्या कीमत है, जानें

कागज उद्योग में

कागज उद्योग में गर्मी की आवश्यकता अधिक होती है, इसमें सुखाने, बॉयलर फीडवाटर एवं ब्लीचिंग जैसी अनेक गतिविधियों के लिए आवश्यक गर्मी प्रदान करने के लिए सोलर पैनल का प्रयोग किया जाता है।

रासायनिक विनिर्माण में

सोलर पैनल के माध्यम से निर्मित की जाने वाली बिजली से Heat को उत्पन्न किया जाता है। जिसे बाद में सिंथेटिक रबर, साबुन आदि जैसे पदार्थों के उत्पादन में प्रयोग किया जाता है।

पेयजल पदार्थ उत्पादन में

इस उद्योग में पास्चुरीकरण, धुलाई जैसी प्रक्रियाओं के लिए सोलर पैनल से निर्मित बिजली का प्रयोग किया जाता है।

प्लास्टिक उद्योग में

सोलर पैनल द्वारा उत्पन्न गर्मी का प्रयोग प्लास्टिक उद्योग में किया जाता है। इससे आसवन, पृथक्करण, सम्मिश्रण जैसी अनेक प्रक्रियाओं को आसानी से किया जा सकता है।

डिब्बाबंद खाद्य उद्योग में

इस उद्योग में होने वाली प्रक्रियाएं जैसे पास्चुरीकरण, स्टरलाइज़ेशन, खाना पकाने एवं ब्लीचिंग में आवश्यक ताप की जरूरत होती है, जिसे सोलर पैनल के द्वारा प्रदान किया जाता है।

अन्य उपयोग

सोलर पैनल का प्रयोग विभिन्न उद्योगों में किया जाता है। ऐसे ही इंवर्टर को सोलर पैनल से कनेक्ट करने पर उस से निर्मित होने वाली बिजली जो दिष्ट धारा DC के रूप में होती है। उसे प्रत्यावर्ती धारा AC के रूप में परिवर्तित किया जाता है। जिनका प्रयोग घरों में एवं अन्य सभी उद्योगों में किया जा सकता है।

निष्कर्ष

सोलर पैनल का प्रयोग वर्तमान समय में सभी क्षेत्रों में किया जा रहा है। जिस से उत्पन्न होने वाली बिजली द्वारा उद्योगों में होने वाले उद्देश्यों को पूरा किया जाता है। नवीकरणीय ऊर्जा का प्रयोग कर जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को खत्म किया जा सकता है, यह पर्यावरण को प्रदूषित करने का कार्य करता है।

सोलर पैनल पर्यावरण के अनुकूल कार्य करते हैं, एवं यह लंबे समय तक ऊर्जा प्रदान करने में सक्षम होते है। सोलर पैनल की अनेक विशेषताएं होती है, जिनसे इनके उपयोगकर्ता को लाभ प्राप्त होता है। इनका प्रयोग अधिक से अधिक कर हरित भविष्य बनाया जा सकता है।

यह भी देखें:12v और 24v के सोलर पैनल में क्या अंतर है

12v और 24v के सोलर पैनल में अंतर जानें

1 thought on “सोलर पैनल लगाने के क्या फायदे और उपयोग है, देखें”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें