Solar Panels for AC: बिजली नहीं अब सोलर से चलाओ ए.सी ,फ्रीज और पंखे

गर्मियों में सोलर पैनल लगाकर आप कर सकते हैं बिजली बिल के पैसों की बचत, सोलर पैनल लगाकर आप घर में एसी, फ्रीज तथा पंखे जैसे उपकरण आसानी से चला सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

Solar Panels for AC: बिजली नही अब सोलर से चलाओ ए.सी ,फ्रीज और पंखे
Solar Panels for AC

Solar Panels for AC: आज के समय में, बढ़ती बिजली कीमतों एवं बिजली कटौती के कारण, सोलर पैनल एक आकर्षक विकल्प बनकर सामने आए हैं। ये गर्मियों में लोगों को ठंडक का एहसास करा रहें हैं वो भी बिना बिजली बिल के। जी हाँ लोग अपने घरों की छतों पर सोलर पैनल स्थापित करके एसी, फ्रिज एवं पंखे तथा घर के अन्य उपकरण आसानी से चला रहें हैं। बिजली बिल को कम करने के साथ यह पर्यावरण को भी सुरक्षित रखते हैं। आप घर के जितने भी उपकरण चलाना चाहते हैं उसके हिसाब से आपको सोलर पैनल चुनना होता है यह सोलर पैनल की क्षमता पर निर्भर करता है।

सोलर पैनल में एक बार खर्चा करने के बाद यह आपको कई सालों तक लाभ ही लाभ देता है। सोलर पैनल सूर्य के प्रकाश को ग्रहण करके बिजली का निर्माण के लिए विद्युत ऊर्जा का निर्माण करते हैं। इसमें सोलर इन्वर्टर और बैटरी का भी इस्तेमाल होता है जो बिजली कटौती में भी उपकरणों को चलाने में सहायक होते हैं।

यह भी पढ़ें – शुरू करें सोलर Product का Business! Dealer, Distributor बनकर कमाएं 1 से 12 लाख महीना!

सोलर पैनल से चलेगा AC

सोलर पैनल से एसी चलाने के लिए , अपनी निम्न उपकरणों की आवश्यकता होती है।

  • सोलर पैनल– ये सबसे मुख्य होते हैं जो सूरज के प्रकाश को विद्युत् ऊर्जा में परिवर्तित करने का काम करते हैं।
  • सोलर इन्वर्टर– सोलर इन्वर्टर का काम डीसी बिजली को एसी बिजली में परिवर्तन करने का होता है। इसका इस्तेमाल एसी द्वारा किया जाता है।
  • बैटरी– कई बार बिजली कटौती हो जाती है तो आपको उपकरण चलाने के लिए एक बैटरी की भी जरुरत पड़ेगी। बैटरी दिन भर में सोलर पैनल द्वारा चार्ज होती है अर्थात यह बिजली संग्रहित करती है तथा रात में बिजली कटौती के दौरान यह काम आती है।

सोलर पैनल से उपकरण चलाने के फायदे

  • सोलर पैनल बढ़ते बिजली बिल से छुटकारा पाने का एक अच्छा विकल्प है। यह बिजली बचाने में सहायक होते हैं। बिजली बिलों में बचत करके पैसे बचाते हैं। यह उन क्षेत्रों के लिए अधिक उपयोगी हैं जहां बिजली कटौती की अधिक समस्या रहती है।
  • सोलर पैनल नवीकरणीय ऊर्जा के स्रोत हैं जो पर्यावरण को नुकसान नहीं करते हैं। यह पर्यावरण के अनुकूल होकर इसे सुरक्षा प्रदान करते हैं।
  • सोलर पैनल लगाकर आपको बिजली ग्रिड पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं है। अर्थात आप बिजली मामलों में आत्मनिर्भर बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें- घर पर बनाएं बिजली, ज्यादा हुआ तो सरकार को बेच दें…सरकार भी दे रही सोलर पर 65% की सब्सिडी

यह भी देखें:List of Floating Solar Projects in India: भारत में फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट्स कौन-कौन से है देखें

List of Floating Solar Projects in India: भारत में फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट्स कौन-कौन से है देखें

सोलर पैनल की क्या है लागत?

यदि आप सोलर पैनल लगाकर घर के सभी उपकरण चलाना चाहते हैं तो इसकी प्रारंभिक लागत अपेक्षाकृत अधिक हो सकती है। लेकिन अब आप पीएम सूर्य योजना के तहत आवेदन करके कम लागत पर सब्सिडी प्रदान करके आप सोलर पैनल लगवा सकते हैं। सब्सिडी प्राप्त करके आपके कम खर्चे में ही काम बन जाता है। इसके बाद यह आपको 25 से 30 साल तक लाभ ही लाभ प्रदान करेगा। आप लम्बी अवधि तक बिजली बिलों पर पैसे बचाकर इस लागत को वसूल सकते हैं।

सोलर पैनल की जो लागत होती है वह कई कारकों पर निर्भर करती है, जैसे कि पैनलों की गुणवत्ता, आपने अपनी जरुरत एवं चुने गए इंस्टॉलर।

क्या बिजली आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए सोलर पैनल सही हैं?

अगर आप बिजली बचाना चाहते है, पर्यावरण को सुरक्षित रखना चाहते हैं और स्वच्छ ऊर्जा का उपयोग करना चाहते हैं तो सोलर पैनल एक सही विकल्प है। आप अपनी बिजली जरूरतों एवं बजट के अनुसार घर पर सोलर पैनल लगा सकते हैं।

यह भी देखें:जनरेटर और इंवर्टर बैक-अप: फायदे और नुकसान देखें।

जनरेटर और इंवर्टर बैक-अप: फायदे और नुकसान देखें।

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें