ये सोलर स्टॉक कर रहे हैं धमाल, एक साल में 1300 प्रतिशत रिटर्न निवेशक हुए मालामाल

सोलर स्टॉक में निवेश करने वाले निवेशक बने मालामाल, पिछले एक साल में 1300 प्रतिशत रिटर्न प्राप्त हुआ। लोग नवीकरणीय स्वच्छ ऊर्जा को कर रहें हैं अधिक पसंद। तो चलिए इस पूरी जानकारी को जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Published By News Desk

Published on

ये सोलर स्टॉक कर रहे हैं धमाल, एक साल में 1300 प्रतिशत रिटर्न निवेशक हुए मालामाल
ये सोलर स्टॉक कर रहे हैं धमाल, एक साल में 1300 प्रतिशत रिटर्न निवेशक हुए मालामाल

Soler Stock: सोलर स्टॉक में निवेश करने वाले नागरिकों को पिछले एक साल में अविश्वसनीय रिटर्न देखने को मिला है। आपको बता दें निवेशकों को पिछले एक साल में 1300% तक रिटर्न मिला। कुछ ही सालों में ग्रीन एनर्जी को उल्लेखनीय गति करते हुए देखा जा रहा है। एक्सपर्ट ने कहा है कि यह वृद्धि आगे जाकर और भी बढ़ेगी। नवकरणीय ऊर्जा को लोग अधिक पसंद कर रहें हैं। इसमें अम्बानी और अडानी दोनों ही हिस्सेदारी पाने की होड़ में लगे हुए हैं।

पिछले एक साल में, सोलर ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में तेजी से वृद्धि हुई है। वारि रिन्यूएबल टेक्नोलॉजीज, एक स्मॉलकैप सोलर कंपनी, 1,318% के आश्चार्यजनक वार्षिक रिटर्न के साथ शीर्ष पर चल रही है। इसके पश्चात WAA सोलर 561% जोडिएक एनर्जी 393% तथा SJVN 236% के लाभ के साथ थी। यह दर्शाता है कि निवेशकों का रुझान स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र की ओर बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें- इस मल्टीबैगर सोलर स्टॉक ने सिर्फ 1 साल में 9,200 फीसदी रिटर्न, आप भी जरूर करें निवेश

सौर स्टॉक ही क्यों?

विश्व में, ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों में तेजी से बढ़ावा हो रहा है। मार्केट में सौर ऊर्जा की सबसे अधिक डिमांड है। दूसरे वर्ष नई बिजली निर्माण का यह सबसे बड़ा स्रोत बन जाएगा।

भारत भी इस क्षेत्र में अपनी मुख्य भूमिका निभा रहा है। वर्ष 2023 तक 340 वाट गीगावॉट की ग्रीन ऊर्जा क्षमता स्थापित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। देश जीवाश्म ईंधन पर निर्भर ना रहकर हरित ऊर्जा प्रणाली की ओर बढ़ रहा है। यह जो लक्ष्य बनाया गया है इसमें करीबन 20 लाख करोड़ रूपए का अनुमानित बजट तय करना होगा।

आपको बता दें पिछले दो दशकों में भारत के सौर ऊर्जा उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि देखी जा रही है। वर्ष 2000 में 0.01 TWh से बढ़कर यह वर्ष 2023 में 113 TWh तक पहुँच गया है।

ग्लोबल एनर्जी थिंक टैंक एम्बर की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने वर्ष 2023 में एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करते हुए जापान को पीछे छोड़कर सौर ऊर्जा उत्पादन में तीसरा स्थान प्राप्त कर लिया है। वर्ष 2015 में यह 0.5% था तथा जो वर्ष 2023 में बढ़कर 5.8% हो गया था।

यह दर्शाता है कि भारत सरकार द्वारा सौर पैनलों, हरित ऊर्जा एवं इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने में अपने सभी प्रयास लगा रहा है।

यह भी देखें:MICROTEK SPGS Combo Solar खरीदें कम कीमत में, जानकारी यहाँ देखें

MICROTEK SPGS Combo Solar खरीदें कम कीमत में, यहाँ देखें

इंडिपेंडेंट मार्केट एक्सपर्ट हेमांग जानी का कहना है कि सौर ऊर्जा क्षेत्र में निवेश के लिए बड़ी कम्पनियाँ सबसे बेस्ट ऑप्शन हो सकती हैं। इनके अनुसार, रिलायंस इंस्डट्रीज, टाटा पावर एवं अडानी ग्रीन इस क्षेत्र में निवेश के बेहतर तरीके हैं।

यह भी पढ़ें- देश-विदेश में है सोलर की धूम, आज ही इन्वेस्ट करें इन 3 सोलर स्टॉक में, 2027 तक हो जाओगे मालामाल

क्या कहा यस सिक्योरिटीज ने?

स्टर्लिंग एवं विल्सन के पास मजबूत एवं आर्डर पाइपलाइन है तथा उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले समय में अच्छे आर्डर ऑर्डर मिल सकते हैं। वर्तमान स्थिति पर नज़र रखते हुए स्टॉक की पुनर्मूल्यांकन की सम्भावना को दर्शा रहा है।

सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए पीएम सूर्योदय योजना के तहत इच्छुक नागरिकों को सब्सिडी प्रदान की जा रही है। योजना का उद्देश्य देश के करीबन 1 करोड़ लोगों के घरों की छत पर सोलर पैनल स्थापित करने है। योजना के तहत स्वच्छ ऊर्जा नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा। बल्कि सौर ऊर्जा कंपनियों के लिए एक बड़ा बाजार खुलेगा।

जेएम फाइनेंशियल के अचल लोहाडे के अनुसार, सौर ऊर्जा क्षेत्र में बढ़ती मांग के कारण, कई कंपनियां निवेशकों के लिए आकर्षक हैं।

इनमें से कुछ प्रमुख लाभार्थी हैं जिसकी जानकारी हम आपको नीचे बताने जा रहें हैं।

  • पैनल निर्माण- वारी एनर्जी, रिन्यूबल्स, प्रीमियर एनर्जी एवं इन्सोलेशन जैसी कम्पनियाँ
  • इन्वर्टर- वी-गार्ड एवं हैवेल्स जैसी कंपनियां
  • मीटरिंग- एचपीएल एवं जीनस पावर जैसी कंपनियां
  • वायर- पोलीकैब, आरआर केबल एवं फिनोलेक्स जैसी कंपनियां
  • बैटरी- वी-गार्ड जैसी कम्पनियाँ

यह भी देखें:अगर 1.5 Ton AC सोलर से चलाना है तो कितने किलोवाट का सोलर पैनल लगेगा, जानें?

1.5 Ton AC को चलाने के लिए कितने किलोवाट का सोलर पैनल लगाएं, जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें