सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

सोलर सिस्टम को स्थापित करने के बाद यदि उसका रकरखाव सही से किया जाए तो ऐसे में सोलर पैनल का प्रयोग बहुत लंबे समय तक किया जा सकता है।

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?
सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब?

आज के समय में बिजली की आवश्यकता हर दिन बढ़ रही है, ऐसे में बिजली का बिल भी तेजी से बढ़ रहा है। सोलर पैनल का प्रयोग कर बिजली के बिल से राहत प्राप्त की जा सकती है। सोलर पैनल सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में बदलने का काम करते हैं, इनके द्वारा पर्यावरण के अनुकूल बिजली का उत्पादन किया जाता है।

सौर ऊर्जा के प्रयोग से जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं? की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब

सोलर पैनल पर किए जाने वाले निवेश को समझदारी का निवेश कहा जाता है, क्योंकि एक बार सोलर पैनल स्थापित करने के बाद इनके द्वारा आने वाले अनेक सालों तक बिजली का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। एवं इसमें किए गए निवेश को सोलर पैनल के प्रयोग से प्राप्त होने वाली बिजली के द्वारा 4 या 5 साल में वापस प्राप्त किया जा सकता है, उसके बाद के साल में आप फ्री बिजली का लाभ उठा सकते हैं। एक सोलर पैनल की क्षमता में प्रतिवर्ष 0.5% की कमी आती है, ऐसे में अधिकांश कंपनियों द्वारा बताया जाता है कि सोलर पैनल 25 साल में 80% क्षमता के साथ बिजली का उत्पादन कर सकते हैं।

इस प्रकार आप यह समझ सकते हैं कि आप सोलर पैनल का प्रयोग कम से कम 25 साल से 30 साल तक तो कर ही सकते हैं। सोलर पैनल का प्रयोग लंबे समय तक करने के लिए आवश्यक है कि पैनल पर किसी प्रकार की गंदगी या धूल को जमा न होने दिया जाए, और नियमित रूप से उसकी सफाई की जाए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो सोलर पैनल की क्षमता एवं दक्षता में तेजी से गिरावट देखी जा सकती है।

सोलर पैनल की सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

सोलर पैनल की सर्विसिंग से आप यह समझ सकते हैं कि सोलर पैनल के रखरखाव को करने में कितना खर्चा आता है, इसके लिए आप सोलर पैनल की लाइफ-साइकिल से इसका अनुमान लगा सकते हैं। सोलर पैनल की सर्विसिंग करने के लिए आप जिस कंपनी द्वारा सोलर सिस्टम स्थापित करते हैं उनसे AMC (Annual Maintenance contract) कर सकते हैं। ऐसे कॉन्ट्रेक्ट के बाद कुछ सर्विसिंग आपको मुफ़्त में भी प्रदान की जाती है। एवं उसके बाद की सर्विसिंग का कम पैसा ही आपसे लिया जाता है।

यह भी देखें:सौर ऊर्जा का इतिहास (The History of Solar Energy)

सौर ऊर्जा का इतिहास (The History of Solar Energy)

सोलर पैनल की सर्विसिंग में सोलर पैनल की क्षमता, दक्षता की जांच होती है, सोलर पैनल एवं उसमें लगे अन्य उपकरणों का रखरखाव किया जाता है। सोलर पैनल की सफाई की जाती है। एवं सिस्टम में यदि किसी प्रकार की कोई परेशानी होती है तो उसे सुधारा जाता है। सोलर पैनल को जितनी कुशलता एवं सुरक्षा के साथ रखा जाता है, उनके द्वारा उतने ही अच्छे से बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। आज के समय में सोलर उपकरणों की सर्विसिंग के लिए भी बाजार में अनेक कंपनियां उपलब्ध हैं।

सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी पाएं।

सरकार द्वारा सोलर पैनल लगाने के लिए नागरिकों को सोलर सब्सिडी प्रदान की जा रही है। जिसके लिए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार अपने-अपने स्तर से प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार द्वारा सब्सिडी प्राप्त करने के लिए ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करना होता है, ऐसे सोलर सिस्टम में बैटरी का प्रयोग नहीं किया जाता है। ऐसे सोलर सिस्टम में पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ शेयर किया जाता है। इस सिस्टम में ग्रिड की बिजली का प्रयोग ही सभी उपकरणों को चलाने के लिए किया जाता है। शेयर होने वाली बिजली की गणना करने के लिए सिस्टम में नेट-मिटरिंग की जाती है।

सरकार द्वारा सोलर सब्सिडी प्राप्त कर कम कीमत में सोलर सिस्टम स्थापित किया जा सकता है। ऐसे सिस्टम के द्वारा बिजली के बिल को कम किया जा सकता है, और अतिरिक्त बिजली को डिस्कॉम को बेच भी सकते हैं। हाल ही में सरकार द्वारा पीएम सूर्य घर मुफ़्त बिजली योजना को जारी किया गया है। पीएम सूर्योदय में में नागरिकों को 1 किलोवाट पर 30 हजार रुपए, 2 किलोवाट पर 60 हजार रुपये एवं 3 किलोवाट से 10 किलोवाट तक की क्षमता के सोलर सिस्टम पर 78 हजार रुपये सब्सिडी के रुपए में प्रदान किए जाते हैं।

सोलर पैनल को एक बार स्थापित करने के बाद उसका प्रयोग आने वाले 25 से 30 सालों तक आसानी से किया जा सकता है। ऐसे में आप बिजली के बिल में बचत कर आर्थिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप बिजली का बैकअप रखना चाहते हैं तो आप ऑफग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित कर के सोलर बैटरी में बिजली को संग्रहीत कर सकते हैं। सोलर सिस्टम का रखरखाव करना चाहिए, जिस से इसका प्रयोग लंबे समय तक किया जा सकता है। एवं पर्यावरण को भी प्रदूषण से मुक्त कर हरित भविष्य को ओर बढ़ा जा सकता है। इस लेख से आप सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब की जानकारी देख सकते हैं।

यह भी देखें:Solar Generator घर पर लगाएं , पंखा, टीवी और AC का नहीं आएगा ज्यादा बिल

Solar Generator से चलाएं घर का पंखा, टीवी और AC, नहीं आएगा बिजली बिल

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें