सोलर पैनल लगाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो होगा भारी नुकसान

खरीददार को सोलर पैनल सिस्टम की ज्यादा नॉलेज न होने के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ता है। सोलर पैनल लगाने से पहले रखे इन बातों का ध्यान जरूर रखें ताकि आपको नुकसान न उठाना पड़े।

Published By SOLAR DUKAN

Published on

सोलर पैनल लगाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो होगा भारी नुकसान
सोलर पैनल लगाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

जैसे-जैसे सोलर पैनलों की मांग बढ़ रही है, वैसे-वैसे कई नई कंपनियां बाजार में आ रही हैं, ये कंपनियां इतने सस्ते और लुभावने रेट पर Solar Panel लगवाकर देने का वादा करती है की बंदा इनकी बातों में आ जाता है। हालांकि, हर कोई सोलर पैनलों से संबंधित जानकारी नहीं रखता है, और खरीदारी करते समय अकसर वेंडर की सलाह के हिसाब से ही सोलर पैनल लगवा लेता है।

वेंडर अक्सर ये इस लिए करते हैं ताकि खरीदार उनके बताए सिस्टम को लें, और उनका मुनाफा बढ़े, खरीददार को सोलर पैनल सिस्टम की ज्यादा नॉलेज न होने के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ता है। सोलर पैनल लगाने से पहले रखे इन बातों का ध्यान जरूर रखें ताकि आपको नुकसान न उठाना पड़े।

1. सोलर पैनल के प्रकारों को समझें

सोलर पैनल दो मुख्य प्रकार के होते हैं: पॉलीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन। पॉलीक्रिस्टलाइन पैनलों में अधिक क्रिस्टल होते हैं, जिसके कारण मोनोक्रिस्टलाइन पैनलों की तुलना में पॉलीक्रिस्टलाइन कम ऊर्जा रूपांतरण दक्षता होती है, मोनोक्रिस्टलाइन पैनल उच्च-गुणवत्ता वाले सिलिकॉन (Silicon Solar) से बने होते हैं और सूर्य की ऊर्जा को बिजली में बदलकर ज्यादा ऊर्जा प्रदान करते हैं।

2. सेल प्रकारों की जाँच करें

सोलर सेल के रंग पर ध्यान दें। पॉलीक्रिस्टलाइन सेल्स में अक्सर नीला रंग होता है, जबकि मोनोक्रिस्टलाइन सेल्स काले होते हैं। मोनोक्रिस्टलाइन सेल सीमित स्थान में ऊर्जा उत्पादन को अधिकतम करने के लिए अधिक कुशल और उपयुक्त होते हैं।

What Is the Difference Between Monocrystalline and Polycrystalline Solar Panels

3. फ्रेम की सामग्री

एल्यूमिनियम फ्रेम वाले पैनल जो टिकाऊपन और लंबे समय तक चलने के लिए जाने जाते हैं। एल्यूमिनियम फ्रेम कठोर मौसम की स्थिति का सामना कर सकते हैं और आमतौर पर 20 साल तक की वारंटी के साथ आते हैं, जो एक विश्वसनीय निवेश सुनिश्चित करता है।

Aluminum Solar Panel Frame

यह भी देखें: अब आधे के भी कम दाम में लगेगा 3 kw सोलर सिस्टम, साथ में सब्सिडी भी

यह भी देखें:घरेलू उपकरणों के लिए बिजली का लोड पता करें

घरेलू उपकरणों के लिए बिजली का लोड पता करें

4. जंक्शन बॉक्स का भी जरूर रखें ध्यान

यह सुनिश्चित करें कि सोलर पैनल के पीछे एक जंक्शन बॉक्स हो। जंक्शन बॉक्स को अलग से खरीदते समय, वाटरप्रूफ वाले को चुनें, जो IP68 रेटिंग द्वारा इंगित किया जाता है। एक वाटरप्रूफ जंक्शन बॉक्स विद्युत कनेक्शन को नमी से बचाता है, जिससे दीर्घकालिक प्रदर्शन सुनिश्चित होता है।

solar panel junction box

5. वारंटी की शर्तों को जरूर देखें

सोलर पैनल लगवाने से पहले, वेंडर द्वारा दी जाने वाली वारंटी की शर्तों को ध्यान से सुनें और सुनिश्चित करें की सभी शर्तें बिल में हों। अच्छी कंपनी के सोलर पैनल आमतौर पर 25 साल तक की वारंटी के साथ आता है, जो खराब होने और कम प्रदर्शन की समस्याओं को कवर करता है।

इन बातों को ध्यान में रखकर, आप सोलर पैनल खरीदने की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं। यदि आप ऑनलाइन सोलर पैनल खरीदने पर विचार कर रहे हैं, तो प्रतिष्ठित कंपनी का ही सोलर सिस्टम खरीदें।

यह भी देखें: मात्र 275 रुपये की किफायती कीमत में घर में लगवाएं सेंसर वायरलेस सोलर लाइट

यह भी देखें:अब आधे के भी कम दाम में लगेगा 3 kw सोलर सिस्टम, साथ में सब्सिडी भी

अब आधे के भी कम दाम में लगेगा 3 kw सोलर सिस्टम, साथ में सब्सिडी भी

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें