क्या सोलर पैनल की वारंटी 25 साल होती है, जानें

Published By News Desk

Published on

सोलर सिस्टम में निवेश करना उपयोगकर्ता को भविष्य के लिए लाभ प्रदान करता है। सौर ऊर्जा को भविष्य की ऊर्जा भी कहा जाता है। इसका कारण यह है कि आने वाले समय में अधिकांश हर छोटे-बड़े क्षेत्र में सोलर सिस्टम के द्वारा ही बिजली का उत्पादन किया जाएगा। क्योंकि इस से पर्यावरण के अनुकूल बिजली का उत्पादन किया जाता है। किसी प्रकार के प्रदूषण को उत्पन्न किए बिना यह आसानी से सूर्य की किरणों का प्रयोग कर विद्युत ऊर्जा का निर्माण करता है। एवं जीवाश्म ईंधन की निर्भरता तो कम करता है। सोलर पैनल पर लगे PV सेल सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने का कार्य करते हैं।

सोलर पैनल 25 साल की वारंटी के बारे में विस्तार से समझें
सोलर पैनल 25 साल की वारंटी के बारे में विस्तार से समझें

इस आर्टिकल में आप सोलर पैनल 25 साल की वारंटी के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। वर्तमान में अनेकों कंपनियों के द्वारा सोलर पैनल का निर्माण किया जा रहा है। कंपनियां अलग-अलग प्रकार एवं अलग-अलग क्षमता के सोलर पैनल का निर्माण कर रही हैं। कई सोलर पैनल की निर्माता कंपनियों द्वारा अपने उत्पाद पर 25 वर्ष की वारंटी दी जाती है। इस वारंटी की जानकारी उपभोक्ता को पूर्ण रूप से नहीं होती है। इस लेख के माध्यम से आप सोलर पैनल पर मिलने वाली वारंटी की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सोलर पैनल वारंटी के प्रकार

किसी भी सौलर पैनल पर मुख्यतः निम्न दो प्रकार की वारंटी प्रदान की जाती है:

  • उत्पाद वारंटी (Product Warranty)– किसी भी सोलर पैनल में यदि निर्माता ब्रांड की कारीगरी के कारण किसी प्रकार की खराबी या दोष रहता है, तो ब्रांड द्वारा वारंटी के रूप में उस पैनल को बदल दिया जाता है। हर ब्रांड की अपनी-अपनी वारंटी की पॉलिसी होती है। अधिकांश सोलर पैनलों पर 10 वर्ष की वारंटी दी जाती है। यदि सोलर पैनल में उपभोक्ता को दाग-धब्बे, फ्रेम या कांच की खराबी, जंक्शन बॉक्स क्षति, या बैकशीट के साथ कोई समस्या जैसी कोई खराबी दिखाई देती है, तो उपभोक्ता इस वारंटी का दावा कर सकते हैं।
  • प्रदर्शन वारंटी (Performance Warranty)- इस वारंटी में सोलर पैनल के निर्माता ब्रांड द्वारा पैनल की कार्य-शक्ति की गारंटी दी जाती है। यह गारंटी की 25 वर्षों की कंपनियों द्वारा सोलर पैनल पर दी जाती है। इसके अनुसार सोलर पैनल 25 वर्ष होने के बाद अपने मूल आउटपुट का कम से कम 80% उत्पादन करेंगे। सोलर पैनल प्रतिवर्ष लगभग अभी कार्यक्षमता को 0.50% खो देते हैं। इसलिए इनके उच्च प्रदर्शन के लिए यह वारंटी उपभोक्ता को दी जाती है।

सोलर पैनल 25 साल की वारंटी

सोलर पैनल निर्माताओं द्वारा दी जाने वाली 25 साल की वारंटी में मुख्यतः निम्नलिखित बिन्दु सम्मिलित होते हैं:

यह भी देखें:सोलर पैनल घर पर लगवाने में कितना खर्च होगा? सोलर पैनल से कमाई करने की जानकारी देखें

घर पर सोलर पैनल लगवाने में कितना खर्च होगा? और कैसे होगी साथ में कमाई, देखें

  • यदि सोलर पैनल अपनी क्षमता के अनुरूप बिजली का उत्पादन नहीं करते हैं। तो ऐसी स्थिति में दी जाने वाली वारंटी में सोलर पैनल के निर्माता उस पैनल में होने वाली खराबी को सही करते हैं या उसे बदल के स्थापित करते हैं।
  • यदि सोलर पैनल को बनाने में किसी प्रकार की खराबी हो जाती है, जिस कारण वे स्थापित करने के बाद कार्य नहीं करते हैं, तो ऐसे में सोलर निर्माता द्वारा उस पैनल का या तो बदल दिया जाता है, या उस पैनल को ठीक से निर्मित किया जाता है। जिसकी टेस्टिंग होने के बाद उसे पुनः स्थापित किया जाता है। जिसकी पूरी जिम्मेदारी निर्माता कंपनी स्वयं लेती है।
  • कुछ प्रसिद्ध ब्रांड मौसम की खराबी से होने वाली घटनाओं जैसे औलवृष्टि या तूफान के कारण खराब हुए सोलर पैनल को सही करती है।

वारंटी में क्या शामिल नहीं है?

सोलर ब्रांड द्वारा दी जाने वाली 25 साल की वारंटी में निम्नलिखित बिन्दु शामिल नहीं रहते हैं:

  • यदि सोलर पैनल को ब्रांड के पेशेवर कारीगर के बिना ही उपभोक्ता स्वयं या किसी अन्य व्यक्ति की सहायता से स्थापित करता है, एवं उस स्थापना के दौरान सोलर पैनल में कोई खराबी या जाती है, या उसे किसी प्रकार की क्षति पहुँचती है तो ऐसे में ब्रांड द्वारा किसी प्रकार की सहायता नहीं दी जाती है। सोलर पैनल को निर्माता ब्रांड द्वारा स्थापित करवाना चाहिए।
  • यदि सोलर पैनल का रखरखाव आपके द्वारा सही से न किया जाए एवं इसके दुरुपयोग के कारण पैनल में किसी प्रकार की क्षति हो जाए तो सोलर पैनल निर्माता कंपनी ऐसे में कोई वारंटी नहीं देती है। इसलिए उपभोक्ता को अपने सोलर सिस्टम की समय-समय पर मैन्टिनेंस करनी चाहिए।
  • यदि सोलर पैनल में स्वाभाविक रूप से किसी प्रकार की टूट-फूट हो जाए, जिस से सोलर पैनल खराब हो जाए। या वारंटी की अवधि के दौरान किसी सोलर पैनल में किसी प्रकार की छेड़छाड़ की जाए तो ऐसे में कंपनी द्वारा इस टूट-फूट को वारंटी के द्वारा कवर नहीं किया जाता है।
  • रासायनिक पदार्थों से यदि सोलर पैनल को किसी प्रकार की क्षति पहुंचाई जाए तो ऐसे में वारंटी शून्य कर दी जाती है। आकाशीय बिजली, बाढ़ या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा से यदि सोलर पैनल को क्षति होती है तो भी वारंटी शून्य कर दी जाती है।

सोलर पैनल वारंटी पर विचार करने योग्य कारक

सोलर पैनल पर प्राप्त होने वाली वारंटी की जानकारी को जानने के बाद सोलर पैनल को खरीदने से पूर्व उपभोक्ता को निम्न कारकों का ध्यान होना चाहिए:

  • सोलर पैनल को खरीदने से पूर्व आप जिस ब्रांड का सोलर पैनल ले रहे हैं, उस ब्रांड के द्वारा दी जाने वाली वारंटी पर क्या वह कार्य भी करता है, इसकी जानकारी आपको होनी चाहिए। ऐसे ब्रांड के सोलर पैनल लें जो विश्वसनीय हों एवं अपने द्वारा दी जाने वाले वारंटी पर कायम रहते हों।
  • ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग करें जिन पर लंबे समय की वारंटी प्रदान की जाती हो, जिस से उपभोक्ता को अपने द्वारा किए गए निवेश पर सुरक्षा प्राप्त हो सके। कम से कम 20 साल से अधिक वारंटी प्रदान करने वाले ब्रांड के सोलर पैनल का ही प्रयोग करें।
  • सोलर पैनल को खरीदने से पूर्व निर्माता ब्रांड द्वारा दी जाने वाली वारंटी की जानकारी को पूरी तरह से जान लें। यह पता करें कि ब्रांड किन शर्तों पर वारंटी प्रदान करता है, एवं किन शर्तों ओर वारंटी नहीं दी जाती है।

सोलर पैनल 25 साल की वारंटी के लाभ:

ऐसे सोलर पैनल जिन पर 25 साल की वारंटी दी जाती है उनसे होने वाले लाभ इस प्रकार हैं:

  • इस वारंटी में यदि सोलर पैनल की मैन्टिनेंस करनी हो या शर्तों के अनुरूप पैनल खराब हुआ हुआ हो तो उसे बदने की आवश्यकता होती है। ऐसे में यह वारंटी आपके द्वारा किए गए सोलर पैनल के निवेश को सुरक्षित करती है। ऐसे में उपभोक्ता को एक मानसिक शांति भी रहती है। एवं अपने द्वारा किए गए निवेश से वह लाभ प्राप्त कर सकता है।
  • यदि आप के द्वारा अपने घर पर सोलर सिस्टम स्थापित किया गया है एवं आप अपना घर बेचते हैं तो लंबे समय तक वारंटी प्रदान करने वाले सोलर पैनल अधिक मूल्य के हो जाएंगे। ऐसी संभावना है।

निष्कर्ष

वर्तमान में भारत में सोलर पैनलों पर 25 साल की वारंटी प्रदान करने वाले अनेक ब्रांड हैं। जो इस वारंटी के माध्यम से प्रतिबद्ध रहते हैं। सोलर पैनलों को लंबे समय तक सुरक्षा एवं उच्च प्रदर्शन करने के लिए इस प्रकार की वारंटी सोलर पैनल के निवेश पर महत्वपूर्ण है। सोलर पैनल में निवेश करने से पूर्व उपभोक्ता को वारंटी की सहरों की जानकारी सही से समझ लेनी चाहिए। जिस से वह उनका रखरखाव एवं इंस्टालेशन की प्रक्रिया को सावधानीपूर्वक पूरी करवा सकते हैं। ऐसे ब्रांड के सोलर पैनल का ही प्रयोग उपभोक्ता को करना चाहिए। जो अपने द्वारा की गई वारंटी के लिए प्रतिबद्ध रहते हों।

यह भी देखें:सोलर पैनल की कीमत जानें : how much do solar panels cost

सोलर पैनल की कीमत जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें