Solar Panel लगाएं हर महीने करें 5250 रुपए की बचत, जानें कैसे

सोलर पैनल के माध्यम से बनने वाली बिजली का प्रयोग कर बिजली बिल में बचत की जा सकती है। जिसका लाभ लंबे समय तक प्राप्त किया जा सकता है।

Published By News Desk

Published on

घर की छत पर लगा Solar Panel हर महीने कराएगा 5250 रुपए की बचत, जानिए क्या है तरीका
Solar Panel

सोलर पैनल को आज के समय में विज्ञान की सबसे बड़ी उपलब्धि कहा जा सकता है। सोलर पैनल का प्रयोग कर के सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जा सकता है, जिसका प्रयोग कर घर के सभी विद्युत उपकरणों को चलाया जा सकता है। सोलर पैनल पर्यावरण के अनुकूल रहकर बिजली का उत्पादन करते हैं। सोलर पैनल का प्रयोग कर बिजली के बिल में बचत की जा सकती है, साथ ही घर की छत पर लगा Solar Panel लगा कर हर महीने बचत भी की जा सकती है।

घर की छत पर लगा Solar Panel कराएगा बचत

यदि आप के द्वारा 4 साल पहले 4 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल को लगाया गया है, तो ऐसे में आप लगभग 150 रुपये की बचत प्रतिदिन बिजली से कर सकते हैं, क्योंकि 4 किलोवाट के क्षमता के सोलर पैनल द्वारा प्रतिदिन 20 यूनिट बिजली का उत्पादन किया जा सकता हो। ऐसे में आवश्यक है कि आप ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करें, जिसमें सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है। एवं ग्रिड की बिजली का ही प्रयोग कर सभी उपकरणों को चला सकते हैं। 4 किलोवाट के सोलर सिस्टम से पूरे महीने में 600 यूनिट बिजली निर्मित होती है।

यदि आपके शहर में बिजली की कीमत 7 रुपये प्रति यूनिट है तो ऐसे में आप 600 यूनिट बिजली से लगभग 4,200 रुपये बिजली के बिल की बचत कर सकते हैं। ऐसे में यदि आपके घर पर 5 किलोवाट क्षमता का सोलर सिस्टम लगा हो तो आप उससे 750 यूनिट बिजली मासिक रूप से निर्मित कर सकते है। एवं इस सोलर सिस्टम से 5250 रुपये की बचत की जा सकती है। एक साल में 5 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम से 63 हजार रुपये तक की बचत की जा सकती है।

बिजली से बचत के लिए लगता है ऑनग्रिड सोलर सिस्टम

ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में किसी प्रकार से बिजली का बैकअप नहीं किया जाता है, ऐसे सिस्टम में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ शेयर किया जाता है। सोलर सिस्टम एवं ग्रिड के बीच साझा होने वाली बिजली की गणना करने के लिए नेट-मिटरिंग की जाती है। 5 किलोवाट क्षमता के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को लगाने में होने वाला खर्चा लगभग 2 लाख रुपये से 2.50 लाख रुपये तक का खर्चा होता है। इसमें सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर एवं नेट-मीटर ही मुख्य उपकरण होते हैं।

यह भी देखें:गांव के घरों के लिए और दुकान के लिए सबसे अच्छा सोलर पैनल

गांव के घरों के लिए और दुकान के लिए सबसे अच्छा सोलर पैनल

केंद्र सरकार की पीएम सूर्योदय योजना के माध्यम से आप ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को लगाने में सब्सिडी भी प्राप्त कर सकते हैं, योजना के माध्यम से 10 किलोवाट क्षमता तक के सोलर सिस्टम पर ही सब्सिडी प्रदान की जाती है। इसमें 1 किलोवाट पर 30 हजार रुपये, 2 किलोवाट पर 60 हजार रुपये एवं 3 किलोवाट से 10 किलोवाट तक की क्षमता के सोलर सिस्टम पर 78 हजार रुपये की सब्सिडी उपभोक्ता को प्रदान की जाती है, सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी को प्राप्त कर आप कम कीमत में इस सोलर सिस्टम को लगा सकते हैं।

सोलर सिस्टम देगा लंबे समय तक लाभ

सोलर उपकरणों का निर्माण करने वाले ब्रांड द्वारा अपने सोलर पैनल पर 20 से 30 वर्ष की कार्य प्रदर्शन वारंटी प्रदान की जाती है। सोलर इंवर्टर पर 5 साल की वारंटी प्रदान की जाती है। ऐसे में एक बार निवेश कर के सोलर सिस्टम के माध्यम से लंबे समय तक बिजली का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। ये 25 वर्ष के बाद भी लगभग 80% क्षमता के साथ बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं। ऐसे में 20 साल में उपभोक्ता सोलर पैनल के माध्यम से लगभग 12 लाख रुपये तक की बचत कर सकते हैं।

सोलर सिस्टम को स्थापित करने के बाद उपभोक्ता को अनेक लाभ प्राप्त होते हैं, जैसे सोलर पैनल के माध्यम से बिजली के बिल में बचत की जा सकती है। सोलर पैनल के अधिक प्रयोग से ही जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को खत्म किया जा सकता है, एवं पर्यावरण के अनुकूल कार्य करने वाले उपकरणों पर आश्रित रहा जा सकता है। सोलर पैनल का प्रयोग कर के हरित भविष्य की कल्पना को साकार किया जा सकता है। सरकारी सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर कम कीमत में सोलर सिस्टम लगाया जा सकता है।

यह भी देखें:Hydrogen Solar Panels in India: भारत में हाइड्रोजन सोलर पैनल की कीमत क्या है?

Hydrogen Solar Panel: भारत में हाइड्रोजन सोलर पैनल की कीमत क्या है?

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें