Solar Panel Angle and Direction: पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज ने की इसके आउटपुट को लेकर स्टडी 

Published By News Desk

Published on

सौर ऊर्जा को भविष्य की ऊर्जा भी कहा जाता है। यह एक स्वच्छ एवं नवीकरणीय ऊर्जा है। इसका उपयोग कर हरित भविष्य की कल्पना को साकार किया जा सकता है। पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज ने सोलर पैनल पर एक अध्ययन किया है। जिस में उनके द्वारा सोलर पैनल को स्थापित करने के कोण एवं दिशा (Solar Panel Angle and Direction) की जानकारी दी गई है। इस अध्ययन में यह भी ज्ञात किया गया कि किन महीनों में सोलर पैनल सर्वाधिक बिजली का उत्पादन करते हैं।

Solar Panel Angle and Direction: पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज ने की इसके आउटपुट को लेकर स्टडी 
Solar Panel Angle and Direction

Solar Panel Angle and Direction

सोलर पैनल की स्थापना में बहुत आवश्यक है कि उन्हें सही से स्थापित किया जाए जिस से वे सही से बिजली का उत्पादन कर सकते हैं। सोलर पैनल को सही एंगल एवं दिशा में स्थापित करना इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि ऐसे में सोलर पैनल के द्वारा सौर ऊर्जा के अधिकतम अवशोषण को सुनिश्चित किया जाता है।

सोलर पैनल को दक्षिण दिशा में 16 डिग्री के कोण पर स्थापित कर के सूर्य की किरणों को बेहतर ढंग से ग्रहण किया जाता है। जिस से बिजली उत्पादन में भी वृद्धि होती है। इंजीनियरिंग कॉलेज द्वारा किए गए इस अध्ययन में यह भी स्पष्ट किया गया कि सोलर पैनल मार्च से अक्टूबर के महीनों में सौर ऊर्जा से सर्वाधिक विद्युत ऊर्जा प्राप्त करता है।

कैसे किया गया यह अध्ययन ?

सोलर पैनल पर किए गए इस अध्ययन को करने के लिए पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज की बिल्डिंग की छत पर विभिन्न दिशाओं में एवं विभिन्न एंगल में 21 सोलर पैनल स्थापित किए गए थे। 2 साल तक इन सोलर पैनल के अलग-अलग मापदंडों पर नजर रखी गई, और यह पाया गया कि दक्षिण दिशा में 16 डिग्री के कोण पर सोलर पैनल कुशल प्रदर्शन कर अधिक बिजली का निर्माण करता है।

यह भी देखें:जनरेटर और इंवर्टर बैक-अप: फायदे और नुकसान देखें।

जनरेटर और इंवर्टर बैक-अप: फायदे और नुकसान देखें।

इस अध्ययन का महत्व

इंजीनियरिंग कॉलेज द्वारा किए गए इस अध्ययन से सोलर पैनल की स्थापना करने में नागरिकों को सहायता प्राप्त होगी। साथ ही ऊर्जा क्षेत्र में किए जाने वाले ऐसे शोध से सोलर पैनल का सटीक कार्य प्रदर्शन प्राप्त किया जा सकता है। सोलर पैनल को सही से, सही दिशा में, सही कोण पर स्थापित करने पर यह सौर ऊर्जा को अच्छे से प्राप्त कर अधिक बिजली का उत्पादन करने में समर्थ हो सकता है। सोलर सिस्टम की स्थापना में कुशल कारीगरों की सहायता से इस इसे सही से स्थापित कर नागरिक सोलर पैनल के उच्चतम प्रदर्शन को प्राप्त कर सकता है।

निष्कर्ष

सोलर पैनल पर्यावरण के अनुकूल कार्य कर के बिजली का उत्पादन करते हैं, इन के द्वारा किसी प्रकार का कोई प्रदूषण उत्पन्न नहीं होता है। साथ ही इनके प्रयोग से उपयोगकर्ता को अनेक प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। इनके प्रयोग से इलेक्ट्रिक ग्रिड बिजली के बिल को कम किया जा सकता है। एवं लंबे समय तक फ्री बिजली का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। सोलर पैनल पर किए गए इस शोध से सोलर पैनल को स्थापित करने में सही एंगल एवं सही दिशा का ध्यान रखा जा सकता है। सोलर पैनल के प्रयोग से पर्यावरण को सुरक्षित किया जा सकता है।

यह भी देखें:सोलर पैनल के लिए Online Form भरिए, सब्सिडी और फायदे दिलाने खुद आपके घर आएंगे निगम कर्मचारी

सोलर पैनल के लिए Online Form भरिए, सब्सिडी और फायदे दिलाने खुद आपके घर आएंगे निगम कर्मचारी

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें