PWM Vs MPPT Solar Inverter की पूरी जानकारी जानें

घरों में चलने वाले अधिकांश उपकरण AC से संचालित होते हैं, ऐसे में सोलर इंवर्टर के द्वारा सोलर पैनल से बनने वाली DC को AC में बदलने का कार्य किया जाता है।

Published By News Desk

Published on

वर्तमान में समय में एडवांस तकनीक से निर्मित सोलर उपकरणों को बाजारों देखा जाता है, जिनकी सहायता से सौर ऊर्जा का प्रयोग सही से एवं अधिक मात्रा में किया जाता है। ऐसे ही बाजारों में सोलर चार्ज कन्ट्रोलर देखे जाते हैं। सोलर सिस्टम में सोलर चार्ज कन्ट्रोलर का मुख्य कार्य पैनल से प्राप्त होने वाली बिजली को नियंत्रित करना होता है। ये सामान्यतः दो प्रकार के होते हैं। PWM Vs MPPT Solar Inverter.

PWM Vs MPPT Solar Inverter की जानकारी यहाँ देखें। जिसमें आप इन दोनों ही प्रकारों के सोलर चार्ज कन्ट्रोलरों के अंतर को जान सकते हैं। यह एक ऐसा उपकरण है जो साधारण से इंवर्टर को भी सोलर इंवर्टर में परिवर्तित कर सकता है। इनके आधार पर ही सोलर इंवर्टर में भी अंतर किया जाता है।

PWM Vs MPPT Solar Inverter की पूरी जानकारी जानें
PWM Vs MPPT

PWM क्या है

PWM का पूरा नाम Pulse Width Modulation है। यह सोलर चार्ज कन्ट्रोलर की पारंपरिक तकनीक है। इस तकनीक के कन्ट्रोलर में स्विच का प्रयोग किया जाता है, जैसे बहुत तेजी से ON/OFF किया जाता है। ऐसा होने पर सिस्टम में रेटिंग के अनुसार ही वोल्टेज प्राप्त होती है। यह उपकरण सोलर सिस्टम को सुरक्षा प्रदान करता है। जैसे यदि किसी 12 वोल्ट की बैटरी की 14 वोल्ट की आवश्यकता हो एवं सोलर पैनल 24 वोल्ट का उत्पादन कर रहे हों, तो ऐसे में PWM चार्ज कन्ट्रोलर द्वारा 14 वोल्ट आउटपुट प्रदान की जाती है। PWM सोलर चार्ज कन्ट्रोलर सिर्फ वोल्टेज को ही नियंत्रित करते हैं। ये करंट को नियंत्रित नहीं करते हैं।

MPPT क्या है?

MPPT का फुल फॉर्म Maximum Power Point Tracking है। यह एडवांस तकनीक के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर होते हैं। यह PWM तकनीक से अनेक विशेषताओं में उन्नत होते हैं। इस प्रकार के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर सोलर पैनल से प्राप्त होने वाली वॉलेज एवं करंट दोनों को ही नियंत्रित कर सकते हैं। इनका प्रयोग ऐसे सोलर सिस्टम में अधिक होता हैं जहां सोलर पैनल की वोल्टेज में लगातार उतार-चढ़ाव होता है।

यह भी देखें:HR Solar Inverter Charger Yojana 2024: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ व पात्रता

HR Solar Inverter Charger Yojana में सरकार दे रही 40% सब्सिडी, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ व पात्रता के बारे में जानें

MPPT तकनीक के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर PWM की तुलना में 30% अधिक दक्ष होते हैं। जब सोलर पैनल को सही से सूर्य की रोशनी प्राप्त नहीं होती है एवं वे इस स्थिति में सही से काम नहीं कर रहे होते हैं तो इस प्रकार के चार्ज कन्ट्रोलर पैनल से अधिक बिजली को प्राप्त करते हैं।

PWM Vs MPPT Solar Inverter अंतर देखें

PWM तकनीक एवं MPPT तकनीक के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर में निम्न अंतर है:

कारक PWMMPPT
दक्षताPWM तकनीक के चार्ज कन्ट्रोलर सिर्फ वोल्टेज को ही नियंत्रित करते हैं। ये करंट को नियंत्रित नहीं करते हैं।ये PWM तकनीक से चार्ज कन्ट्रोलर से अधिक दक्षता वाले होते हैं। वोल्टेज के साथ करंट को भी नियंत्रित करने में सक्षम हैं।
वोल्टेज अनुकूलताये कम इनपुट वोल्टेज को ही नियंत्रित करते हैं।ये उच्च इनपुट वोल्टेज को नियंत्रित करने के लिए बनाए जाते हैं।
मौसम के अनुरूपयदि कम रोशनी या उच्च तापमान में खराब हो सकते हैं।ये मौसम के अनुकूल कार्य करते हैं। कम रोशनी या उच्च तापमान होने पर ये बेहतर प्रदर्शन करते हैं।
लागतPWM सोलर चार्ज कन्ट्रोलर सस्ते होते हैं।PWM सोलर चार्ज कन्ट्रोलर की तुलना में महंगे होते हैं।
अनुप्रयोग उपयुक्ततायह छोटे सोलर सिस्टम में प्रयोग किए जाते हैं।इनका प्रयोग बड़े सोलर सिस्टम में एवं परिवर्तनशील मौसम वाले क्षेत्रों में किया जाता है।
सुरक्षाये कम सुरक्षा प्रदान करते हैं।PWM की तुलना में बहुत अधिक सुरक्षित हैं।

भारत में PWM एवं MPPT तकनीक के इंवर्टर बनाने वाले ब्रांड

वर्तमान में भारत में सोलर इंवर्टरों का निर्माण करने वाले अनेक ब्रांड हैं, PWM एवं MPPT तकनीक से सोलर चार्ज कन्ट्रोलर या इंवर्टर का निर्माण करने वाले प्रमुख ब्रांड इस प्रकार हैं:

  • Luminous Solar Inverter (NXG 1800 PWM, NXT 1 KVA MPPT)
  • UTL Solar Inverter
  • Smarten Solar Inverter
  • Microtek Solar Inverter
  • Eastman Solar Inverter

निष्कर्ष

उपर्युक्त आर्टिकल के अनुसार आप PWM Vs MPPT की जानकारी को समझ सकते हैं। MPPT आधुनिक तकनीक है। इस तकनीक के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर विकसित होते हैं। PWM एवं MPPT दोनों ही तकनीकों का प्रयोग सोलर सिस्टम में किया जाता है। यह उपयोगकर्ता के सोलर सिस्टम एवं बजट पर निर्धारित करता है कि उसे किस प्रकार की तकनीक का सोलर चार्ज कन्ट्रोलर प्रयोग करना चाहिए। उच्च दक्षता के लिए MPPT तकनीक के सोलर चार्ज कन्ट्रोलर का प्रयोग किया जा सकता है। इस प्रकार के सोलर उपकरण बिना किसी प्रदूषण को उत्पन्न किए कार्य करते हैं। एवं उपयोगकर्ता को सौर ऊर्जा का लाभ प्रदान करते हैं।

नवीनतम लेख देखें

यह भी देखें:मात्र ₹380 महीने में खरीदें बेस्ट solar inverter, जानें फीचर्स

मात्र ₹380 महीने में खरीदें बेस्ट solar inverter, जानें फीचर्स

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें