पीएम सूर्य घर योजना का लाभ उठा कर लगाएं सोलर पैनल, देखें ये पांच स्टेप्स

सोलर पैनल पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए जानें पीएम सूर्य घर मुफ़्त बिजली योजना से जुड़े महत्वपूर्ण 5 स्टेप।

Published By News Desk

Published on

पीएम सूर्य घर योजना का लाभ उठा कर लगाएं सोलर पैनल, देखें ये पांच स्टेप्स
पीएम सूर्य घर योजना

देश के नागरिकों को नवीकरणीय ऊर्जा का लाभ प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल ही में पीएम सूर्य घर मुफ़्त बिजली योजना को लांच किया गया है। सोलर पैनल का प्रयोग कर के ग्रिड बिजली के बिल से राहत प्राप्त होती है। साथ ही पर्यावरण को स्वच्छ रखने में भी आम नागरिक का योगदान प्राप्त होता है। सोलर पैनल बिना किसी प्रदूषण को उत्पन्न किए बिजली का निर्माण करते हैं। क्या आप पीएम सूर्य घर योजना में लगवाना चाहते हैं सोलर पैनल, तो पीएम सूर्य घर योजना से जुड़े पाँच स्टेप्स जानें।

क्या है पीएम सूर्य घर योजना?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पीएम सूर्य घर योजना (PM Surya Ghar Yojana) को जारी किया गया है, इस योजना के माध्यम से देश के 1 करोड़ परिवारों की छतों पर सोलर रुफटॉप स्थापित किए जाएंगे। साथ ही साथ ऐसे परिवारों को सरकार द्वारा हर महीने 300 यूनिट फ्री बिजली भी प्रदान की जाएगी। इस योजना का आवेदन शुरू हो गया है, योजना का लाभ प्राप्त कर कम कीमत में सोलर पैनल को स्थापित किया जा सकता है।

क्या आप पीएम सूर्य घर योजना में लगवाना चाहते हैं सोलर पैनल

प्रधानमंत्री सूर्य घर योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए निम्न 5 स्टेप का पालन करें:-

यह भी देखें:क्या सब्सिडी वाले सोलर पैनल सिस्टम में बैटरी मिलती हैं, लगाने से पहले जानें

क्या सब्सिडी वाले सोलर पैनल सिस्टम में बैटरी मिलती हैं? यहां जानें

  1. योजना का आवेदन करने के लिए सबसे पहले पीएम सूर्य घर-मुफ़्त बिजली योजना की आधिकारिक वेबसाइट में जाएँ एवं अपना नामांकन सबमिट करें।
  2. आपके द्वारा किया गया आवेदन आपके डिस्कॉम को प्राप्त हो जाता है, आपके द्वारा किए गए आवेदन की तकनीकी जांच उनके द्वारा की जाती है। सभी जानकारी सही होने पर आवेदन को स्वीकार किया जाता है। यदि कोई जानकारी गलत हो तो उसे दोबारा सुधार के लिए भेजा जाता है।
  3. अब डिस्कॉम द्वारा पंजीकृत सोलर उपकरण विक्रेता के साथ एक एग्रीमेंट साइन करना होता है, उसके बाद सोलर पैनल को स्थापित किया जाना शुरू किया जाता है। सोलर उपकरणों के पंजीकृत विक्रेताओं की जानकारी भी योजना के आधिकारिक वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है।
  4. जब सोलर सिस्टम पूरी तरह से स्थापित हो जाता है तो आपको उसकी जानकारी भी पोर्टल में सबमिट करनी होती है। जिसके बाद आपके सोलर सिस्टम का निरीक्षण किया जाता है।
  5. आपके सोलर पैनल की जांच होने के पर आपके सिस्टम पर नेट-मीटर स्थापित किया जाता है। इस प्रकार आपके द्वारा किए गए आवेदन को पूरा कर दिया जाता है। एवं पूर्ण आवेदन के 30 दिनों के अंतर्गत आपको सब्सिडी प्रदान की जाती है।

केंद्र सरकार की इस योजना में 1 किलोवाट से 10 किलोवाट तक की क्षमता के सोलर सिस्टम लगाने पर सब्सिडी प्रदान की जाती है। 1 किलोवाट के सोलर सिस्टम पर 30 हजार रुपये की सब्सिडी, 2 किलोवाट के सोलर सिस्टम पर 60 हजार की सब्सिडी एवं 3 किलोवाट से 10 किलोवाट तक के सोलर सिस्टम पर 78 हजार रुपये की सब्सिडी प्रदान की जाती है। इसमें उपभोक्ता को ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करना होता है। जिसमें बिजली को ग्रिड के साथ शेयर किया जाता है।

सोलर पैनल लगाने पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आप उपर्युक्त स्टेप का पालन कर सकते हैं। सोलर सिस्टम के अधिक प्रयोग से ही हरित भविष्य की ओर बढ़ा जा सकता है, क्योंकि सोलर पैनल के अधिक प्रयोग से जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को पूरी तरह से समाप्त किया जा सकता है। जिस से पर्यावरण में मौजूद कार्बन फुटप्रिन्ट में कमी हो सकती है। एक बार सोलर सिस्टम को स्थापित करने के बाद आने वाले 4-5 सालों में उस पर किए गए भुगतान का पूरा प्रयोग किया जा सकता है। उसके बाद 20 से अधिक सालों तक फ्री बिजली का लाभ उपयोगकर्ता को प्राप्त होता है।

यह भी देखें:भारत के सबसे पावरफुल सोलर पैनल, जानिए परफॉरमेंस और कीमत

भारत के सबसे पावरफुल सोलर पैनल देखें, परफॉरमेंस और कीमत

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें