आधुनिक 1.2 kw सिस्टम पर चलाएं बिना बैटरी ए.सी और पूरा लोड

यह सिस्टम उन लोगों के लिए सही है जिनके घर में हेवी लोड थोड़े समय के लिए चलते हैं और जो बार-बार बैटरी बदलने की परेशानी से बचना चाहते हैं।

Published By News Desk

Published on

इस अद्भुत 1.2 kw सिस्टम पर बिना बैटरी ए.सी और बाक़ी लोड भी चलेगा दिन रात
1.2 kw सिस्टम

अगर आप बढ़ते बिजली से परेशान है, और पर्यावरण के अनुकूल ऊर्जा स्त्रोतों का उपयोग करके अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते है। एक अद्भुत 1.2 kW सोलर सिस्टम के बारे में बताएंगे जो बिना बैटरी के दिन-रात ए.सी. और बाकी लोड को चला सकता है।

एक किलोवाट एडवांस सोलर सिस्टम

यह इंवर्टर बाजार में उपलब्ध सामान्य इन्वर्टर्स से बिल्कुल अलग है। इसकी उन्नत टेक्नोलॉजी इतनी शक्तिशाली है कि यह एयर कंडीशनर, फ्रिज, कूलर, पंखा, वाशिंग मशीन और मोटर जैसे घरेलू उपकरणों को बिना किसी परेशानी के चला सकता है। यह बिना बैटरी के या एक बैटरी के साथ काम कर सकता है। यह लिथियम बैटरी सामान्य बैटरियों से कहीं ज्यादा उन्नत है। इसे 30 साल तक चलने के लिए डिजाइन किया गया है, जिससे इसकी देखभाल में 20 तक कोई परेशानी नहीं होगी।

1.2 kw सिस्टम के फायदे

  • आप चाहे तो बैटरी के बिना या एक बैटरी के साथ सिस्टम को चला सकते हैं। यह सिस्टम लिथियम, लैड एसिड या एसएमएफ बैटरी के साथ संगत है।
  • इस इन्वर्टर को दूर से मॉनिटर करने की सुविधा है, जिससे आप कोलकाता में बैठकर मुंबई में स्थापित सिस्टम की निगरानी कर सकते हैं।
  • इन्वर्टर कम से कम 20 साल तक बिना किसी मेंटेनेंस के चलने की क्षमता रखता है।
  • 1 किलोवाट सोलर सिस्टम से, आप हर महीने लगभग 4 से 5 यूनिट बिजली उत्पन्न कर सकते हैं, जिससे आपके बिजली के बिल में काफी कमी आएगी।
  • सोलर सिस्टम की मेंटेनेंस लागत अपेक्षाकृत कम होती है। सोलर पैनल्स लंबे समय तक चलते हैं और उन्हें बहुत कम देखभाल की जरूरत होती है।
  • भारत सरकार और विभिन्न राज्य सरकारें सोलर सिस्टम लगाने पर सब्सिडी और अन्य प्रोत्साहन प्रदान करती हैं, जिससे इसकी लागत कम हो जाती है और निवेश पर रिटर्न तेजी से मिलता है।

यह सिस्टम उन लोगों के लिए सही है जिनके घर में हेवी लोड थोड़े समय के लिए चलते हैं और जो बार-बार बैटरी बदलने की परेशानी से बचना चाहते हैं। यह विकल्प उन्हें एक बैटरी के साथ पूरे घर का लोड चलाने की सुविधा देता है, चाहे मौसम कोई भी हो।

1 केवीए एमपीपीटी सोलर इन्वर्टर

यह एक MPPT सोलर इन्वर्टर है जिसे सौर पैनल से बिजली को एसी बिजली में बदलने के लिए डिज़ाइन किया गया है जिसका उपयोग घरों और व्यवसायों में किया जा सकता है। यह इन्वर्टर 1 किलोवाट बिजली का उत्पादन कर सकता है, जो एक छोटे घर या व्यवसाय के लिए पर्याप्त है। ये इन्वर्टर आपको अधिकतम 1 किलोवाट का सोलर पैनल लगाने की सुविधा देता है, जिससे आप 800 वाट तक का लोड आसानी से उठा सकते हैं।

इस इन्वर्टर के साथ एक बैटरी लगाना अनिवार्य है, जो इसे और भी उपयोगी बनाता है। इस इन्वर्टर की एक खासियत यह है कि आप इस पर केवल 24 वोल्ट का एक पैनल लगा सकते हैं। अगर आपको ज्यादा पावर की जरूरत है, तो आप अधिक पैनल्स भी सीरीज में जोड़ सकते हैं। यह इन्वर्टर न सिर्फ अपनी तकनीकी क्षमताओं के लिए जाना जाता है, बल्कि इसका ग्राफिकल डिस्प्ले भी आपको बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करता है। इस इन्वर्टर के साथ, आप अपने घर के एयर कंडीशनर सहित कई बड़े उपकरणों को भी चला सकते हैं।

SPV रेंज और पावर फैक्टर

इस इन्वर्टर की एसपीवी रेंज 300 वोल्ट है और इसका पावर फैक्टर 1 है, जो इसकी ऊर्जा दक्षता को दर्शाता है। आमतौर पर जो 1 केवीए इन्वर्टर होते हैं, वे 800 वाट का लोड संभाल सकते हैं, पर यह इन्वर्टर 1.2 केवीए का होकर 1200 वाट तक का लोड संभाल सकता है।

1.2 kw solar system Features

इस सिस्टम में AC output और input के लिए अलग -अलग ग्रेड का प्रयोग कर सकते हैं, इसके आपको बिजली रखनी है या नहीं रखनी रखनी है इसे सीधे भी सोलर पीनल पर लगा सकते है। सोलर पीनल लगाने के लिए सोक्रेट मिल जाता है, जहाँ पर आप सोलर प्लक और सोलर का माइनर लगा सकते है। इस पर आप 24, 48 या फिर 48 से ऊपर का वोल्ट पैनल लगा सकते है।

यह भी देखें:सोलर पैनल को किस दिशा में लगाना चाहिए | Best Direction and Angle For Solar Panel in India

सोलर पैनल को किस दिशा में लगाना चाहिए | Best Direction and Angle for Solar Panel in India

1. Nexus 3 बायफेशियल सोलर पैनल

Nexus3 बायफेशियल पैनल 580 वाट की उच्च ऊर्जा क्षमता के साथ आते हैं, जो उन्हें बाजार में उपलब्ध अधिकांश सोलर पैनलों से शक्तिशाली बनाता है। ये पैनल उन्नत टॉपकॉन टेक्नोलॉजी से लैस हैं, जो उन्हें कम रोशनी की स्थितियों में भी अधिकतम ऊर्जा उत्पादन की क्षमता प्रदान करती है। टॉपकॉन टेक्नोलॉजी एक एडवांस फोटोवोल्टाइक तकनीक है जो सोलर पैनलों की दक्षता को बढ़ाती है। इसका मुख्य लाभ यह है कि यह पैनलों को कम रोशनी की स्थितियों में भी ऊर्जा उत्पादन करने में सक्षम बनाती है, जिससे आपको बादल छाए दिनों या सुबह और शाम के समय में भी अधिक ऊर्जा मिलती है।

2. ऊर्जा उत्पादन और एसी चलाने की क्षमता

जब आप चार Nexus3 बायफेशियल पैनल को सीरीज में जोड़ते हैं, तो आप 2200 वाट तक का उत्पादन कर सकते हैं। इससे प्रतिदिन लगभग 10 यूनिट बिजली उत्पन्न होती है, जो एक घरेलू उपभोक्ता के लिए उल्लेखनीय है। इतनी ऊर्जा का उत्पादन आपको अपने घर में एसी जैसे बड़े उपकरणों को चलाने की क्षमता देता है, चाहे आपके पास 1 टन या डेढ़ टन का सोलर एयर कंडीशनर हो। Nexus3 बायफेशियल पैनल सिस्टम बैटरी के साथ भी काम करता हैं। आप चाहे तो लेड एसिड बैटरी या लिथियम बैटरी, दोनों में से किसी एक को चुन सकते हैं। यह आपको अतिरिक्त लचीलापन देता है कि आप अपनी ऊर्जा जरूरतों के अनुसार बैटरी का चयन कर सकते हैं।

3 . हाइब्रिड सिस्टम की सुविधा

हाइब्रिड सिस्टम सोलर ऊर्जा और ग्रिड ऊर्जा के बीच स्मार्ट स्विचिंग की सुविधा देता है। उदाहरण के लिए, यदि आपके घर में 800 वाट का लोड चल रहा है और सोलर पैनल केवल 200 वाट ऊर्जा उत्पन्न कर रहे हैं, तो हाइब्रिड सिस्टम शेष 600 वाट की आवश्यकता को ग्रिड से पूरा करेगा। इससे ऊर्जा की खपत में काफी बचत होती है। हाइब्रिड इन्वर्टर आपको ऊर्जा स्रोतों का चयन करने की लचीलापन देता है। आप सोलर को पहले स्रोत के रूप में, बैटरी को दूसरे, और ग्रिड को तीसरे स्रोत के रूप में चुन सकते हैं। इससे आपके ऊर्जा उपयोग को और अधिक कुशलता से प्रबंधित करने में मदद मिलती है।

एडवांस सोलर सिस्टम के साथ मिलेगी WIFI की सुविधा

इस सिस्टम में वाईफाई फीचर के साथ, उपभोक्ता अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर के माध्यम से इन्वर्टर की सेटिंग्स को आसानी से नियंत्रित और मॉनिटर कर सकते हैं। यह फीचर उपभोक्ताओं को अपने घर या ऑफिस के ऊर्जा उपयोग की निगरानी और नियंत्रण करने में मदद करता है, जिससे ऊर्जा की बचत में मदद मिलती है।

3 साल की वारंटी और 15 साल की स्क्रैप वैल्यू

इस बैटरी की खास विशेषता ये है कि इसमें आपको 15 साल की वारंटी की जाती है, जिसमें पहले 3 साल में खराबी आने पर बैटरी को मुफ्त में बदला जाता है। अगले 12 सालों में, यदि बैटरी खराब होती है, तो उपभोक्ता को नई बैटरी पर 50% डिस्काउंट पर MRP पर मिल जाती है। यह बैटरी 1280 वोल्ट की क्षमता रखती है, जो 1200 वाट तक के पूरे लोड को सहन कर सकती है। इस बैटरी में उपयोग किए गए उच्च-क्षमता वाले सेल, इसे उच्च दक्षता प्रदान करते हैं, जिससे यह लेड एसिड बैटरी की तुलना में अधिक ऊर्जा-कुशल होती है।

इस बैटरी का उपयोग करने से ऊर्जा दक्षता में सुधार होता है और बिजली के बिल में काफी बचत हो सकती है। यह बैटरी ऊर्जा की खपत को कम करती है और बिजली के बिलों में 60-70% तक की कमी ला सकती है, जिससे लंबे समय में इसकी लागत को आसानी से पूरा किया जा सकता है। इस बैटरी की कीमत इसकी ऊर्जा बचत क्षमता को देखते हुए बहुत ही उचित है।

यह भी देखें:Hydrogen Solar Panel 100% Self Dependent 24 घंटे मिलेगी बिजली 100% गारंटी

Hydrogen Solar Panel 100% Self Dependent 24 घंटे मिलेगी बिजली 100% गारंटी

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें