मोनोक्रिस्टलाइन या पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल घर के लिए कौन सा है बेस्ट, यहाँ जानें

मोनोक्रिस्टलाइन पैनल अथवा पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल दोनों ही बिजली निर्माण करते हैं लेकिन कौन सा पैनल सबसे अच्छा होता है जो अधिक कुशल हो अधिक बिजली का निर्माण कर सकें। तो चलिए जानते हैं।

Published By News Desk

Published on

मोनोक्रिस्टलाइन या पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल घर के लिए कौन सा है बेस्ट, यहाँ जानें
कौन सा है solar panel बेस्ट?

ऊर्जा आवश्यकताओं को पूरा करने और बढ़ते बिजली बिल से राहत प्राप्त करने के लिए पूरी दुनिया में सोलर एनर्जी की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। बाजार में कई तरह के Solar Panel आ गए हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कौन सा सोलर पैनल सबसे अच्छा होता है? अगर आप भी सोलर पैनल लगाना चाहते हैं, तो आपको यह जानकारी मालूम होनी चाहिए। हम यहाँ आपको मोनोक्रिस्टलाइन और पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल के बारे में बताने जा रहें हैं, कि इनमें कौन सा पैनल सबसे बेस्ट होता है, जिससे आपको बेहतर लाभ प्राप्त हो सकता है।

यह भी पढ़ें- इलेक्ट्रिक कार को चार्ज करने के लिए कितने सोलर पैनल की जरूरत होती है

मोनोक्रिस्टलाइन पैनल या पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल में से कौन सा है सबसे बेस्ट पैनल है?

Monocrystalline और Polycrystalline Panel दोनों सोलर पैनल हैं जो सूरज की रोशनी से बिजली जनरेट करने का काम करते हैं। इनका इस्तेमाल घर एवं व्यवसायों में बिजली प्रदान करने के लिए किया जाता है, यह एक लोकप्रिय एवं टिकाऊ ऊर्जा प्राप्त करने का तरीका है। सोलर पैनल की दक्षता, लागत एवं ये कितनी बिजली जनरेट करते हैं, उस अनुसार इनमें अंतर किया जाता है।

पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल सस्ते होते हैं, जिसके कारण इन्हें कोई भी आम आदमी खरीद सकते हैं, लेकिन मोनो पैनल इनसे अधिक महंगे होते हैं। पॉली पैनल अधिक जगह घेरते हैं, साथ ही इनकी Efficiency भी बहुत कम होती है, जबकि मोनो पैनल बहुत कम जगह घेरते हैं, और इनकी एफिसिएंसी भी अधिक होती है। जिस कारण ये पॉली पैनल से अधिक पसंद किए जाते हैं।

यह भी देखें:सौर ऊर्जा हमारा भविष्य कैसे बदल सकती है?

सौर ऊर्जा हमारा भविष्य कैसे बदल सकती है?

मोनोक्रिस्टलाइन पैनल या पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल के बारे में विस्तार से जानते हैं, जिसके आधार पर आप चयन पाएंगे कि इनमें से अधिक बेस्ट कौन सा सोलर पैनल है।

यह भी पढ़ें- सबसे शक्तिशाली सोलर पैनल

मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

  • ये सोलर पैनल उच्च गुणवत्ता वाले सिलिकॉन क्रिस्टल से बने होते हैं। इसके प्रत्येक पैनल में जितने अधिक सिलिकॉन सेल होंगे, उतना अधिक ऊर्जा का उत्पादन होता है।
  • आवासीय प्रतिष्ठानों के लिए मोनोक्रिस्टलाइन पैनल को सबसे कुशल सौर पैनल कहा जाता है। लेकिन ये पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल की तुलना में थोड़ा अधिक महंगे और 15% से 20% अधिक कुशल होते हैं।
  • इनका रंग काला होता है, इन पैनल में 25 साल की वारंटी मिलती है।
  • ये कम जगह पर भी लगाये जा सकते हैं, इस कारण इन्हें सबसे अच्छा सोलर पैनल कहा जाता है।
  • अगर आप अपने घर पर सोलर पैनल लगाना चाहते हैं तो इन्हें खरीद सकते हैं।

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

  • पॉलीक्रिस्टलाइन एक प्रकार के सोलर पैनल है, जो सिलिकॉन क्रिस्टल से बने होते हैं।
  • ये मोनो पैनल से थोड़े सस्ते होते हैं, तथा कम कुशल (औसतन 15% से 17%) होते हैं।
  • ये नीले रंग के होते हैं, तथा इनको लगाने के लिए बड़ी छत की जरूरत होती है।
  • इनका जो सामान्य जीवन काल है, वह 15 से 20 वर्ष होता है।
  • इनकी एक ये खासियत है कि यह आपको कम बजट में ही मिल जाएंगे, इसलिए आम लोगों के लिए यह सोलर सिस्टम लगाना अच्छा विकल्प माना जा सकता है जो अपने बजट के अनुसार यह पैनल लगा सकें।

पॉलीक्रिस्टलाइन पैनल से अधिक मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल ज्यादा अच्छे होते हैं जिस कारण इन्हें घर के लिए बेहतर सोलर पैनल माना जाता है। साथ ही पॉली पैनल की तुलना में मोनो पैनल अधिक बिजली बनाते हैं। इसलिए आप इन सोलर पैनल को लगाकर अपनी बिजली आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं।

यह भी देखें:आपके घर के लिए कितने किलोवाट का सोलर पैनल सिस्टम लगेगा ऐसे करें हिसाब

घर के लिए कितने किलोवाट का सोलर पैनल सिस्टम लगाएं, यहां जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें