घर की छत पर सोलर पैनल लगाएं, खुद की बिजली बनाएं, बैंक खाते में सोलर सब्सिडी पाएं

सरकार द्वारा सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी प्रदान की जा रही है, इस सब्सिडी को प्राप्त कर आप कम कीमत में सोलर सिस्टम लगा सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

नवीकरणीय ऊर्जा के प्रयोग के द्वारा पर्यावरण को सुरक्षित रखा जा सकता है। नवीकरणीय ऊर्जा में सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा आदि सम्मिलित हैं। सोलर ऊर्जा से बिजली प्राप्त करने के लिए सोलर पैनल का प्रयोग किया जा सकता है। सोलर पैनल को आप अपने घर पर लगा कर अपनी बिजली की आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकते हैं। सरकार द्वारा आपके बैंक खाते में सोलर सब्सिडी आपको सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित की जाएगी।

सोलर पैनल खरीदकर घर की छत पर बनाएं बिजली, बैंक खाते में सोलर सब्सिडी पाएं
बैंक खाते में सोलर सब्सिडी

बैंक खाते में सोलर सब्सिडी

सोलर पैनल स्थापित करने के लिए आपको अब NEDA के चक्कर नहीं लगाने होंगे। आप अपने घर की छत पर सोलर पैनल को आप नजदीकी बाजार से खरीद कर स्थापित कर सकते हैं। यदि आप सोलर पैनल स्थापित कर सूचना अधिशासी अभियंता को प्रदान करते हैं तो आपके सोलर सिस्टम में 15 दिन के अंदर नेट मीटर जोड़ दिया जाता है। एवं 30 दिन के अंतर्गत आपके बैंक खाते में सोलर सब्सिडी भेज दी जाती है। MNRE द्वारा इस प्रक्रिया को आसान बनाया गया है। उत्तर प्रदेश के मध्यांचल विद्युत वितरण निगम में आप अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

प्रति किलोवाट 47,943 रुपये लागत

यदि आप अपने घर की छत पर 3 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल को स्थापित करना चाहते हैं, तो आपको 47,943 रुपये प्रति किलोवाट की लागत से सोलर पैनल प्रदान किए जाएंगे। यदि आप 5 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल का प्रयोग करते हैं तो 52,351 रुपये प्रति किलोवाट की लागत से सोलर पैनल प्रदान किए जाएंगे। यदि आप 7 किलोवाट के सोलर पैनल लगाते हैं तो आप 50,052 रुपये प्रति किलोवाट की लागत से सोलर पैनल दिए जाएंगे। यदि आप 10 किलोवाट के सोलर पैनल लगाएं तो इनकी कीमत आपको 45,988 रुपये प्रतिवाट के हिसाब से प्राप्त होगी।

ऐसे होगा फायदा

यदि आप सोलर एक्सपर्ट के अनुसार सोलर सिस्टम स्थापित करते हैं, तो स्थापना में जितनी लागत आएगी, उतने पर आपको सब्सिडी प्रदान की जाएगी। 3 किलोवाट तक के सोलर पैनल पर 40% सब्सिडी दी जाती है। NEDA द्वारा प्रति किलोवाट पर 38,900 रुपये पर ही सब्सिडी निश्चित की गई है। यह प्रतिवर्ष अलग-अलग हो सकती है। पर यदि आपकी लागत 47,943 रुपये प्रति किलोवाट रहती है। तो आपको लगभग 9,000 रुपये प्रति किलोवाट पर सब्सिडी नहीं मिलती है।

यह भी देखें:सोलर वॉल लाइट को घर में लगाएं, यहाँ जानें कीमत

सोलर वॉल लाइट को घर में लगाएं, यहाँ जानें कीमत

केंद्र शीघ्र जारी करे दिशा-निर्देश

इंडियन सोलर पावर एसोसिएशन के महासचिव द्वारा योजना की प्रशंसा की गई है। योजना के द्वारा घरों में सोलर सिस्टम को स्थापित करने में आसानी होगी। योजना से संबंधित दिशा-निर्देश केंद्र सरकार द्वारा जारी किए जायेंगे। जिस से इस प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया जा सकता है। एवं नागरिक को सोलर सिस्टम लगवाने में भी आसानी होगी। जिस से सोलर सिस्टम का प्रयोग कर देश की नवीकरणीय ऊर्जा की क्षमता को भी बढ़ाया जा सकता है।

वर्तमान में मध्यांचल विद्युत वितरण क्षेत्र में आने वाली सोलर पैनल की लागत इस प्रकार है:-

विद्युत लोड 3 किलोवाट 5 किलोवाट 7 किलोवाट 10 किलोवाट
सोलर पैनल70,500 रुपये1,17,500 रुपये1,64,500 रुपये2,35,000 रुपये
इंवर्टर27,920 रुपये66,210 रुपये78,320 रुपये85,610 रुपये
अन्य उपकरण30,000 रुपये50,000 रुपये70,000 रुपये90,000 रुपये
GST15,410 रुपये28,045 रुपये37,538 रुपये49,273 रुपये
कुल लागत 1,43,830 रुपये 2,61,755 रुपये 3,50,358 रुपये 4,59,883 रुपये

इस प्रकार आप सोलर सिस्टम को स्थापित कर इलेक्ट्रिक ग्रिड की निर्भरता को कम कर सकते हैं, जिस से आपको बिजली के बिल में छूट प्राप्त होती है। साथ ही सोलर सिस्टम के प्रयोग से जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को समाप्त किया जा सकता है। जिस से पर्यावरण को सुरक्षित रखने में आपकी एक अहम भूमिका होती है। सोलर सिस्टम के अधिक से अधिक प्रयोग से ही हरित भविष्य की कल्पना की जा सकती है।

यह भी देखें:वारी के सोलर इंवर्टर की कीमत, जानें पूरी जानकारी

वारी के सोलर इंवर्टर की कीमत, जानें पूरी जानकारी

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें