भारत का सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम की कीमत, देखें

5 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम से आप आसानी से घर के सभी उपकरणों को चला सकते हैं। ऐसे सोलर सिस्टम कम कीमत में लगाए जा सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

भारत का सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम लगवाने में कितना खर्चा आता है। यहाँ जानें
भारत का सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम

गर्मियों के समय में बिजली की आवश्यकता बढ़ जाती है, ऐसे में अधिक पावर वाले विद्युत उपकरणों जैसे एसी, कूलर आदि का प्रयोग बढ़ जाता है, ये उपकरण गर्मियों में ठंडक प्रदान करने के लिए चलाए जाते है। ऐसे उपकरणों के प्रयोग से बिजली का बिल भी अधिक प्राप्त होता है, साथ ही गर्मियों में बिजली की कटौती भी बढ़ जाती है। ऐसे में सोलर पैनल का प्रयोग कर के सभी समस्याओं से निपटा जा सकता है। सोलर पैनल एक ऐसा उपकरण है, जो सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने का कार्य करता है। सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम यहाँ देख सकते हैं।

सोलर सिस्टम का प्रयोग कर पर्यावरण के अनुकूल बिजली का उत्पादन किया जा सकता है, साथ ही यह बिजली के बिल को कम करने में सहायक होता है, सोलर पैनल का प्रयोग कर के अनेक लाभ उपयोगकर्ता को प्राप्त होते हैं। एक पूरे सोलर सिस्टम में सोलर पनेलम सोलर इंवर्टर एवं सोलर बैटरी मुख्य उपकरण के रूप में प्रयोग किए जाते हैं। सोलर सिस्टम के अनुसार ही इन उपकरणों का प्रयोग किया जाता है। आज के समय में बाजारों में अनेक सोलर ब्रांड हैं जो अपने सोलर उपकरणों को बाजार में बेचते हैं। 5 किलोवाट के सोलर सिस्टम से बिजली की पूरी पूर्ति की जा सकती है।

भारत का सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम

भारत का सबसे सस्ता 5kW सोलर सिस्टम लगाने का कुल खर्चा लगभग 2.60 लाख रुपये तक हो सकता है। यह ऑफग्रिड सोलर सिस्टम को लगाने का खर्चा होता है। ऐसे सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को जमा करने के लिए सोलर बैटरियों का प्रयोग किया जाता है। इसमें सोलर पैनल, सोलर बैटरी एवं सोलर इंवर्टर मुख्य उपकरण होता है। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को लगाने में बैटरी का प्रयोग नहीं किया जाता है। इस प्रकार 5 किलोवाट क्षमता के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को लगभग 1.80 लाख रुपये में स्थापित कर सकते हैं। जिससे बिजली के बिल को कम किया जा सकता है।

ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ शेयर किया जाता है, ऐसे सोलर सिस्टम में आप सभी प्रकार के उपकरणों को इलेक्ट्रिक ग्रिड की बिजली के माध्यम से ही चला सकते हैं। इसमें शेयर होने वाली बिजली की गणना करने के लिए नेट मीटर को स्थापित किया जाता है, ऐसे सोलर सिस्टम को लगाने पर सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सब्सिडी को भी प्राप्त कर सकते हैं। हमारे द्वारा बताया गया कुल खर्च औसतन है। यह स्थान के अनुसार कम या ज्यादा हो सकता है। 5 किलोवाट के सोलर पैनल की कीमत लगभग 1.50 लाख रुपये तक हो सकती है।

5 किलोवाट के सोलर सिस्टम में सोलर इंवर्टर

सोलर सिस्टम में सोलर इंवर्टर के द्वारा DC को AC में परिवर्तित करने का कार्य किया जाता है, जिस से अधिकांश उपकरण संचालित होते हैं। 5 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में आप Eapro 5kVA PWM सोलर इन्वर्टर को प्रयोग कर सकते हैं। इस सोलर इंवर्टर के माध्यम से 4 किलोवाट तक का लोड आसानी से संचालित किया जा सकता है। ऐसे सोलर इंवर्टर को 5 किलोवाट के सोलर पैनल से जोड़ सकते हैं। यह PWM (Pulse Width Modulation) तकनीक का सोलर इंवर्टर है। इस सोलर इंवर्टर पर अपने पावर बैकअप के लिए आप 4 बैटरियों को जोड़ सकते हैं।

यह भी देखें:लाइफटाइम चलेगा ये वाला सुपर 1 kw सोलर पैक, कीमत देखें

ये वाला सुपर 1 kw सोलर पैक लाइफटाइम चलेगा, कीमत देखें

5 किलोवाट के सोलर सिस्टम में सोलर इंवर्टर

Eapro 5kVA PWM सोलर इन्वर्टर की कीमत लगभग 45,000 रुपये तक होती है। यह सोलर इंवर्टर उपभोक्ता को अनेक फीचर्स के साथ प्रदान किया जाता है, ऐसे सोलर सिस्टम में एक डिस्प्ले लगी होती है। जिस पर सिस्टम में होने वाले लोड एवं वोल्टेज की जानकारी देख सकते हैं। इस सोलर इंवर्टर पर निर्माता ब्रांड द्वारा 2 वर्ष की वारंटी भी प्रदान की जाती है। यह Pure Sine Wave आउटपुट प्रदान करने वाले वाला इंवर्टर है। इसका प्रयोग कर आप अपने कंप्यूटर एवं प्रिंटर जैसे उपकरणों को आसानी से चला सकते हैं।

सोलर सिस्टम में सोलर बैटरी

सोलर बैटरी का प्रयोग पावर बैकअप रखने के लिए सोलर सिस्टम में किया जाता है, यदि उपभोक्ता को अधिक बिजली की आवश्यकता होती है तो ऐसे में अधिक क्षमता की बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं। सबसे अधिक एलईडी एसिड बैटरियों का प्रयोग सोलर सिस्टम में होता है, सोलर बैटरी की कीमत इस प्रकार रहती है:-

  • 100 Ah की सोलर बैटरी की कीमत लगभग 10,000 रुपये है। यदि आप 4 सोलर बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में करते हैं तो कुल 40,000 रुपये का भुगतान आपको बैटरी के लिए करना होता है।
  • यदि आप 150 Ah की बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में करते हैं तो एक बैटरी की कीमत लगभग 15,000 रुपये तक है। 4 बैटरी की कुल कीमत 60,000 रुपये होती है।
  • यदि आपको और अधिक पावर बैकअप की आवश्यकता है तो ऐसे में आप 200 Ah की बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं, इस क्षमता की एक बैटरी की कीमत लगभग 20,000 रुपये है। 4 बैटरियों को आप 80 हजार रुपये में खरीद सकते हैं।

सोलर सिस्टम में अन्य खर्च

सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले सोलर पैनल, सोलर बैटरी, सोलर इंवर्टर मुख्य उपकरण होते हैं, इनके साथ साथ सोलर सिस्टम को सुरक्षा प्रदान करने एक लिए अन्य उपकरणों का प्रयोग भी किया जाता है, ऐसे सिस्टम में सोलर पैनल स्टैन्ड, ACDB/DCDB बॉक्स का प्रयोग भी होता है। सोलर सिस्टम में कनेक्शन स्थापित करने के लिए वाइरिंग भी की जाती है, इस प्रकार 5 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में अन्य खर्च लगभग 30 हजार रुपये से 40 हजार रुपये तक का हो सकता है।

निष्कर्ष

सोलर सिस्टम को स्थापित करने से इसके उपयोगकर्ता को अनेक लाभ प्राप्त होते है, 5 किलोवाट के सोलर सिस्टम से घर के सभी उपकरणों को आसानी से चलाया जा सकता है। सोलर सिस्टम द्वारा पर्यावरण को स्वच्छ एवं सुरक्षित रखा जा सकता है, इनके प्रयोग से ही जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है। भारत में आज के समय में तेजी से सोलर सिस्टम स्थापित किये जा रहे हैं। सोलर सिस्टम द्वारा आने वाले 25 से अधिक सालों तक बिजली का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी देखें:सोलर पंप की आवेदन तिथि बढ़ाई, रिजेक्ट किसान भी कर सकते हैं सब्सिडी के लिए अप्लाई

सोलर पंप की आवेदन तिथि बढ़ाई, सभी किसान कर सकते हैं सब्सिडी का आवेदन

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें