सोलर पैनलों को सही तरीके से साफ कैसे करें

Published By SOLAR DUKAN

Published on

सोलर पैनल सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने का कार्य करते हैं, जिसके लिए उन पर फोटोवोल्टिक सेल लगे होते हैं। सोलर पैनल में किया गया निवेश उपयोगकर्ता को लंबे समय तक लाभ प्रदान करता है। यह लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक है कि सोलर पैनल का रखरखाव एवं सफाई समय-समय पर की जाए। सोलर पैनल पर गंदगी, धूल आदि जमा हो जाने पर यह उसकी कार्य करने की शक्ति को कम कर देते हैं। जिस से इनकी दक्षता कम हो जाती है। साफ सोलर पैनल में सूर्य की किरणें सेल में इलेक्ट्रॉनों को सक्रिय करती हैं जिस से वे अधिक ऊर्जा का उत्पादन कर सकते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि सोलर पैनलों को सही तरीके से कैसे साफ करें (How to Clean Solar Panels the Right Way) । सामान्यतः सोलर पैनलों को झुकाव के साथ स्थापित किया जाता है। जिस से बारिश के समय इन पर जमी हुई धूल स्वतः ही धूल जाती है। सोलर पैनल की सफाई के संबंध में उपयोगकर्ताओं को सावधानी का ध्यान रखना चाहिए। जिस से वे सोलर पैनल को बिना नुकसान पहुंचाए सोलर पैनल को साफ कर सके। आपको सोलर पैनल की सफाई कब करनी चाहिए, उसे साल करने के तरीके एवं उसमें बरतने वाली सावधानियों के बारे में आप इस लेख से जान सकते हैं।

सोलर पैनलों को सही तरीके से साफ कैसे करें
सोलर पैनलों को सही तरीके से कैसे साफ करें

कैसे जानें सोलर पैनलों को कब साफ करना है

यह जानने के लिए कि सोलर पैनल को साफ कब करना है, उसके लिए आपको निम्न बिंदुओं पर ध्यान देना चाहिए:

  • सोलर पैनल को स्थापित करने का स्थान– आपके द्वारा स्थापित किए गए सोलर पैनल के स्थान से आपको यह पता चलता है कि सोलर पैनल पर कितने समय में गंदगी जमा हो जाती है। यदि आप ऐसे स्थान में रहते हैं जहां धूल-मिट्टी प्रचुर मात्रा में उड़ती है, या पेड़ों के नजदीक आपका सोलर पैनल स्थापित है, तो ऐसे में पत्तों एवं पक्षियों की बीट से आपका सोलर पैनल गंदा हो जाता है। ऐसे स्थानों पर महीने में 1 बार सफाई की जा सकती है।
  • सोलर पैनल की कार्य क्षमता– सोलर पैनल की दक्षता में कमी आने पर आप उसमें जमी हुई गंदगी को साफ कर सकते हैं। सोलर पैनल के उपयोगकर्ताओं को समय-समय पर सोलर पैनल का निरीक्षण करना चाहिए। जिस से उन्हें सोलर पैनल की पूरी दक्षता से ऊर्जा प्राप्त करने में सहायता प्राप्त हो सके। इसका पता आपको ग्रिड से प्राप्त होने वाले बिजली के बिल से चल सकता है। ऐसे में कम से कम 6 महीने में सोलर पैनल को साफ किया जाना चाहिए।
  • निगरानी प्रणाली (Monitoring System) का प्रयोग करें– यदि सोलर सिस्टम के उपयोगकर्ता के पास निगरानी प्रणाली हो जिस से वह सोलर पैनल की कार्य क्षमता की जांच कर सके, ऐसे में यदि कार्य क्षमता में गिरावट होने पर गंदगी की जानकारी प्राप्त हो जाती है। निगरानी सिस्टम की सहायता से पूरे सोलर सिस्टम की अन्य तकनीकी समस्याओं के बारे में भी पता किया जा सकता है।
  • प्राकृतिक रूप से सफाई– आपके स्थान पर होने वाली बारिश की मात्रा से भी आप सोलर पैनल को साफ करने के समय के बारे में जान सकते हैं। यदि बारिश की मात्रा औसतन रहती है तो सोलर पैनल की सफाई स्वतः ही हो जाती है। जिसमें आपको इसकी सफाई करने की कम आवश्यकता होती है।

सोलर पैनलों को सही तरीके से कैसे साफ करें

सोलर पैनल को साफ करने से पूर्व ध्यान रखें कि मुख्यतः यह सफाई आपको किसी सोलर पैनल के विशेषज्ञ की सलाह पर करनी चाहिए। यदि आप स्वयं से सोलर पैनलों की सफाई करते हैं तो आप निम्न प्रक्रिया से उन्हें साफ कर सकते हैं:

यह भी देखें:Solar Panel: कौन सा सोलर पैनल अच्छा रहता है? कौन सा लगाएं

Solar Panel: कौन सा सोलर पैनल अच्छा रहता है? कौन सा लगाएं

  • सोलर पैनलों की सफाई करने से पूर्व सबसे पहले आपको अपना सिस्टम बंद कर देना है।
  • सोलर पैनल पर जमी हुई गंदगी को साफ करने के लिए आपको साफ पानी का प्रयोग एक नरम नली के द्वारा करना चाहिए। उपयोगकर्ता एक बायोडिग्रेडबल साबुन का प्रयोग कर सकते हैं। सोलर पैनल को एक कोने से साफ करना शुरू करें।
  • पैनल को किसी मुलायम कपड़े या स्पंज की सहायता से साफ करें। (सोलर पैनल को हाई प्रेशर वाले पाइप से एवं कठोर सामग्रियों से साफ नहीं करना चाहिए, ऐसे में वे सोलर पैनल को नुकसान पहुंचा सकते हैं।)
  • यदि हवाई अड्डों, सड़क या अधिक आवाजाही वाले स्थानों पर आपका सोलर पैनल स्थापित है तो ऐसे में सोलर पैनल पर एक प्रकार की चिकनाई-युक्त गंदगी जमा हो जाती है। ऐसे में उपयोगकर्ता को आइसोप्रोपिल एल्कोहल (यह सेनेटाइजर में उपलब्ध रहता है) का उपयोग सोलर पैनल की सफाई के लिए करना चाहिए।

सोलर पैनलों की सफाई में ध्यान रखने वाली सावधानियां

सोलर पैनल यदि पूरी तरह से साफ होते हैं तो वह अपनी पूर्ण क्षमता से सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं। जब आप सोलर पैनल को साफ करते हैं, उसमें अधिक सावधानी बरतनी चाहिए, किसी प्रकार से सोलर पैनल को नुकसान नहीं होना चाहिए, सफाई करने से पूर्व आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए:

  • यदि आपके सोलर सिस्टम में स्थापित सोलर पैनल ऐसे स्थान पर हैं जहां सूर्य की ऊर्जा उन्हें तेजी से सीधी प्राप्त होती है, चूंकि सोलर पैनल ताप अवशोषण गुणों के कारण सूर्य की ऊर्जा से अधिक गर्म हो जाते हैं, ऐसे में यदि आप अपने सोलर पैनल को दिन में साफ करते हैं तो इस से उन्हें नुकसान हो सकता है। अत्यधिक गर्म होने पर सोलर पैनल में पानी डालने पर उनका सुरक्षा कांच टूट सकता है। इसलिए सोलर पैनलों को सामान्यतः सुबह या शाम के समय में ही साफ करना चाहिए।
  • जिस पानी से सोलर पैनल को साफ किया जाता है वह कठोर जल अर्थात खनिजों से युक्त पानी नहीं होना चाहिए, इस प्रकार के पानी में युक्त खनिज सोलर पैनल को खराब कर सकते हैं, इसलिए सोलर पैनल को मुख्यतः आसुत जल (Distilled Water) के द्वारा ही साफ करना चाहिए।
  • सोलर पैनल की सफाई करने से पूर्व स्वयं की सुरक्षा की भी सावधानी बरतनी चाहिए। जिस से सफाई करते समय आपको किसी प्रकार की चोट न लगे, पैनलों की सफाई पेशेवर क्लीनर की सहायता से ही करनी चाहिए।
  • गर्मी से बचें: सौर पैनल बहुत गर्म हो सकते हैं। गर्मी से होने वाले नुकसान से बचने के लिए उन्हें सुबह या शाम को साफ करना सबसे अच्छा है।
  • जल गुणवत्ता: खनिज संचय को रोकने के लिए शीतल जल का उपयोग करें। कठोर पानी पैनलों को दीर्घकालिक नुकसान पहुंचा सकता है।
  • सुरक्षा उपकरण: यदि आपको छत पर चढ़ने की आवश्यकता है, तो सुनिश्चित करें कि आपके पास सही उपकरण और प्रशिक्षण है। सुरक्षा और दक्षता के लिए एक पेशेवर क्लीनर को काम पर रखने पर विचार करें।

सोलर पैनलों की सफ़ाई पर विशेषज्ञ की राय

सोलर पैनलों की सफाई करने से पूर्व विशेषज्ञ की राय अवश्य प्राप्त करें। सामान्यतः इसमें मतभेद भी प्राप्त होता है। कुछ विशेषज्ञ सोलर पैनल की सफाई पर 5% दक्षता खो देने की बात करते हैं तो कुछ 25% नुकसान होने का ट्रक देने हैं। ऐसे में आवश्यक है कि आप स्वयं से भी सफाई की जानकारी की खोज करें, गूगल द्वारा कैलिफोर्निया सोलर फार्म में अध्ययन कर यह बताया गया है कि 15 महीने से सफाई न किए गए सोलर पैनल को साफ करने पर उनके द्वारा बिजली का उत्पादन दोगुना हो गया।

सोलर सिस्टम को सुरक्षित एवं मजबूत रखने के लिए सोलर पैनल की सफाई करनी चाहिए। यह भौगोलिक कारकों पर भी निर्भर करता है। यदि प्लांट बर्फीले क्षेत्र में हो तो पैनल से बर्फ को हटाना चाहिए एवं यदि सामान्य क्षेत्र में प्लांट हो तो धूल-मिट्टी, पत्तों को पैनल से हटाना चाहिए, ऐसे स्थान जहां अधिक प्रदूषण होता है वहाँ सोलर पैनल की सफाई समय-समय पर करते रहना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए आप अपने नजदीकी सोलर पैनल निर्माता के विशेषज्ञों से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उपरोक्त लेख की सहायता से आप यह समझ सकते हैं कि सोलर पैनल की सफाई कितनी आवश्यक होती है। इस से उसकी कार्य-क्षमता को सुरक्षित रखा जा सकता है। अब उपयोगकर्ता अपने आवश्यकता एवं सहूलियत के अनुसार स्वयं या पेशेवर क्लीनर द्वारा सोलर पैनल की सफाई कर सकते हैं। सोलर सिस्टम में किया जाने वाला निवेश प्रारंभ में उपभोक्ता को महंगा लगता है, लेकिन यह आने वाले 20 से 25 सालों तक फ्री बिजली प्रदान करने में सक्षम होता है।

यह भी देखें:अब 0% Interest कि EMI पर लगाएं इस कंपनी का 3KW का on grid सोलर पैनल सिस्टम

अब 0% Interest कि EMI पर लगाएं इस कंपनी का 3KW का on grid सोलर पैनल सिस्टम

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें