Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम लगाने में कितना खर्चा आएगा? जानें

Published By News Desk

Published on

किसी भी क्षमता के सोलर पैनल को स्थापित करने से पूर्व यह जानना आवश्यक है कि उपभोक्ता उसे जिस स्थान पर लगाना चाहते हैं, वहाँ बिजली का लोड कितना रहता है? लोड के अनुसार ही सोलर सिस्टम को स्थापित किया जाना चाहिए, ऐसे में आर्थिक नुकसान होने की संभावना नहीं रहती है। यदि आपके घर में बिजली का लोड प्रतिदिन 8 यूनिट से 10 यूनिट तक रहता है, तो आप Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम को लगा सकते हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको 2 किलोवाट के सोलर सिस्टम में लगने वाले उपकरणों एवं उसमें होने वाले कुल खर्चे की जानकारी प्रदान करेंगे।

Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम लगाने में कितना खर्चा आएगा? जानें
Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम

सोलर ऊर्जा के माध्यम से आप अपने घर में आने वाले बिजली के बिल में भारी छूट प्राप्त कर सकते हैं, सोलर सिस्टम को स्थापित करने के अनेक लाभ हैं। एक बार सिस्टम को स्थापित करने पर आप आने वाले लंबे समय तक फ्री बिजली का उत्पादन सोलर पैनल की सहायता से कर सकते हैं। सोलर सिस्टम पर्यावरण के अनुकूल बिजली का उत्पादन करने के लिए प्रसिद्ध हैं। ये बिना किसी प्रदूषण को उत्पन्न किए ही बिजली का उत्पादन कर सकते हैं। सोलर सिस्टम के इसी महत्व को समझते हुए सरकार द्वारा नागरिकों को सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम में सोलर पैनल

Eapro द्वारा दो प्रकार के सोलर पैनल का निर्माण एवं विक्रय किया जाता है। जो पॉलीक्रिस्टलाइन एवं मोनोक्रिस्टलाइन PERC (Passivated Emitter and Rear Contact) प्रकार के सोलर पैनल होते हैं। पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल कम दक्षता के सोलर पैनल होते हैं। इन्हें स्थापित करने के लिए अधिक स्थान की आवश्यकता होती है, इनका प्रयोग सबसे अधिक किया जाता है, जिसका कारण इनकी कीमत का कम होना है। मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल उच्च दक्षता के सोलर पैनल होते हैं। इनकी कीमत भी अधिक होती है, ये कम धूप में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं।

  • Eapro के 2 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में 250 वाट के 8 पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग किया जा सकता है। Eapro 2 किलोवाट पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की कीमत लगभग 60,000 रुपये है।
  • Eapro 2 किलोवाट मोनो PERC सोलर पैनल की कीमत लगभग 70,000 रुपये तक है। 2 किलोवाट की क्षमता के सोलर सिस्टम में Eapro के 335 वाट के 6 सोलर पैनल का प्रयोग किया जा सकता है।

(नोट: उपभोक्ता ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से सोलर उपकरणों को खरीद सकते हैं, जिस कारण इनकी कीमत कम या ज्यादा हो सकती है।)

Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम में सोलर इन्वर्टर/सोलर चार्ज नियंत्रक

सोलर सिस्टम में प्रयोग किए जाने वाले सोलर पैनल सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं। यह विद्युत ऊर्जा दिष्ट धारा DC के रूप में होती है। DC को AC (प्रत्यावर्ती धारा) के रूप में परिवर्तित करने के लिए सोलर इंवर्टर की आवश्यकता होती है। यदि उपभोक्ता अपने सोलर सिस्टम में साधारण इंवर्टर का प्रयोग करना चाहते हैं तो वे इंवर्टर को सोलर चार्ज कन्ट्रोलर की सहायता से जोड़ सोलर इंवर्टर में परिवर्तित कर सकते हैं। Eapro द्वारा PWM (Pulse Width Modulation) एवं MPPT (Maximum Power Point Tracking) तकनीक के सोलर इंवर्टर बनाए जाते हैं, जिनका प्रयोग आप अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं:-

Eapro Solar 2750VA– यह PWM तकनीक का सोलर इंवर्टर है, जिस पर अधिकतम 3200 वाट के सोलर पैनल जोड़े जा सकते हैं। इस सोलर इंवर्टर के द्वारा अधिकतम 2500 VA के लोड को संचालित किया जा सकता है। इस सोलर इंवर्टर की बैटरी वोल्टेज 24 वोल्ट है। इस पर 2 सोलर बैटरियों को जोड़ा जा सकता है। इस सोलर इंवर्टर की VOC 88 वोल्ट है। इसकी कीमत लगभग 20,000 रुपये है। इस सोलर इंवर्टर पर निर्माता Eapro द्वारा 2 वर्ष की वारंटी प्रदान की जाती है। Eapro सोलर सिस्टम में सोलर इन्वर्टर

Eapro 3KVA/24V सोलर इंवर्टर– यह MPPT तक का सोलर इंवर्टर है। जिसका अर्थ यह होता है कि यह सोलर पैनल से प्राप्त करंट एवं वोल्टेज दोनों को ही नियंत्रित कर सकता है। इस सोलर इंवर्टर पर लगे सोलर चार्ज कन्ट्रोलर को करंट रेटिंग 100 एम्पियर होती है। एवं इसकी VOC 110 वोल्ट है। इस सोलर इंवर्टर पर अधिकतम 3000 वाट के सोलर पैनल स्थापित किए जा सकते हैं, जिससे यह सोलर इंवर्टर 2400 वाट तक के लोड को संचालित कर सकता है। इस सोलर इंवर्टर की नॉमिनल बैटरी वोल्टेज 24 वोल्ट है, इस पर 2 बैटरियाँ जोड़ी जा सकती है। इस सोलर इंवर्टर की कीमत लगभग 24,000 रुपये है। इस पर 2 साल की वारंटी Eapro द्वारा प्रदान की जाती है।

2 किलोवाट सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाली बैटरी की कीमत

किसी भी क्षमता के सोलर सिस्टम में सोलर बैटरियों का प्रयोग पावर बैकअप के लिए किया जाता है। उपभोक्ता सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले सोलर इंवर्टर की रेटिंग के अनुसार सोलर बैटरियों का प्रयोग करते हैं। आप अपने पावर बैकअप की आवश्यकता के अनुसार सोलर बैटरियों का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं। Eapro द्वारा अलग-अलग क्षमता की सोलर बैटरियों का प्रयोग किया जाता है। जिनकी कीमत इस प्रकार है:-

यह भी देखें:सौर पैनलों में किस सामग्री का उपयोग किया जाता है: what material is used in solar panels

सौर पैनलों में किस सामग्री का उपयोग किया जाता है

  • Eapro की 100 Ah की सोलर बैटरी की कीमत लगभग 9,000 रुपये है।
  • Eapro की 150 Ah की सोलर बैटरी की कीमत लगभग 13,000 रुपये है।
  • Eapro की 170 Ah की सोलर बैटरी की कीमत लगभग 16,000 रुपये है।

सोलर सिस्टम में होने वाला अन्य खर्च

सोलर सिस्टम को स्थापित करने में मुख्य सोलर उपकरण के अतिरिक्त माउंटिंग संरचनाएं, पैनल स्टैन्ड, वायर लाइटिंग अरेस्टर आदि उपकरणों का प्रयोग भी किया जाता है। ये छोटे उपकरण सोलर सिस्टम की सुरक्षा एवं सोलर उपकरणों में कनेक्शन स्थापित करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। इन सभी उपकरणों की कीमत एवं सोलर सिस्टम को स्थापित करने वाले एक्सपर्ट कर्मियों के भुगतान को ही अन्य खर्चों में जोड़ा जाता है। इस सोलर सिस्टम में यह लगभग 10,000 रुपये तक हो सकता है।

Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम में होने वाला कुल खर्चा

सोलर सिस्टम में प्रयोग किए जाने वाले सोलर पैनल एवं सोलर इंवर्टर कुल खर्चे को निर्धारित करने का कार्य करते हैं, Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम को स्थापित करने में होने वाला कुल खर्चा इस प्रकार है:-

यदि उपभोक्ता पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग कर सोलर सिस्टम स्थापित करे तो कुल खर्चा:-

Eapro सोलर उपकरण एवं अन्यकीमत
2 किलोवाट क्षमता के पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल60,000 रुपये
Eapro 2750VA PWM Solar Inverter20,000 रुपये
100 Ah x 2 सोलर बैटरी18,000 रुपये
अन्य खर्च10,000 रुपये
कुल खर्चा1,08,000 रुपये

यदि उपभोक्ता अपने सोलर सिस्टम में मोनो पर्क सोलर पैनल का प्रयोग करे तो कुल खर्चा:-

Eapro सोलर उपकरण एवं अन्यकीमत
2 किलोवाट क्षमता के पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल70,000 रुपये
Eapro 3KVA/24V MPPT सोलर इंवर्टर24,000 रुपये
150 Ah x 2 सोलर बैटरी26,000 रुपये
अन्य खर्च10,000 रुपये
कुल खर्चा1,30,000 रुपये

उपर्युक्त सारणियों में ऑफग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करने में होने वाले कुल खर्चे की गणना की गई है। ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में पावर बैकअप के लिए बैटरियों का प्रयोग किया जा सकता है।

सोलर सिस्टम लगाने के लिए सब्सिडी

यदि आप ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करना चाहते हैं, ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है। इसमें पावर बैकअप के लिए बैटरी का प्रयोग नहीं किया जा सकता है। ऐसे में आप MNRE भारत सरकार द्वारा संचालित योजना सोलर रुफटॉप सब्सिडी का आवेदन कर सकते हैं, इसमें 2 किलोवाट के सोलर सिस्टम पर नागरिक को 40% सब्सिडी प्राप्त होती है। ऐसा होने पर आप सोलर सिस्टम को काफी कम कीमत पर स्थापित कर सकते हैं। 2 किलोवाट के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को सब्सिडी प्राप्त करने पर आपका कुल खर्चा लगभग 80,000 रुपये से 1,00,000 रुपये तक में स्थापित कर सकते हैं।

यह भी देखें: सोलर रुफटॉप सब्सिडी योजना का आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

निष्कर्ष

उपरोक्त आर्टिकल के माध्यम से आप Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम को स्थापित करने में होने वाले कुल खर्चे एवं सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले उपकरणों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सोलर सिस्टम को स्थापित कर आप पर्यावरण को सुरक्षित रखने के भागीदार बन जाते हैं। सोलर सिस्टम पर निवेश करना बुद्धिमानी है, भले ही इस पर किया गया प्राथमिक निवेश आपको महंगा लगे, लेकिन यह निवेश आपको लंबे समय तक फ्री बिजली प्रदान करने में सक्षम है। सोलर सिस्टम के अधिक से अधिक प्रयोग से हरित भविष्य की कल्पना की जा सकती है।

यह भी देखें:पतंजलि 1 किलोवाट सोलर पैनल लगवाने का खर्चा जानें

पतंजलि 1 किलोवाट सोलर पैनल लगवाने का खर्चा जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें