12v और 24v के सोलर पैनल में क्या अंतर है

Published By SOLAR DUKAN

Published on

सौर ऊर्जा के प्रयोग के लिए वर्तमान में सोलर पैनलों के प्रयोग में काफी बढ़ोतरी देखी गयी है। अधिकांश लोग अपने घरों में या व्यावसायिक क्षेत्रों में सोलर पैनलों को स्थापित कर रहे हैं। ऐसा करने से उन्हें बिजली के बिल में भरी छूट प्राप्त होती है। साथ ही वे एक प्रकार से पर्यावरण के अनुकूल ही कार्य करते हैं। 12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनलों का घरों में बहुतायत रूप में प्रयोग हो रहा है। पर उपभोक्ताओं को इनमें अंतर की जानकारी प्राप्त ना होने के कारण वे सोलर सिस्टम में अलग-अलग उपकरणों का प्रयोग कर देते हैं जिस कारण उनका सोलर सिस्टम जल्दी खराब हो जाता है।

12v और 24v के सोलर पैनल में क्या अंतर है

12v सोलर पैनल

12v सोलर पैनल अर्थात ऐसा सोलर पैनल जो 12 वोल्ट पर विद्युत जनरेट करता है। इनका प्रयोग सर्वाधिक ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करने में किया जाता है। वैसे तो ये मोनोक्रिस्टलाइन एवं पॉलीक्रिस्टलाइन दोनों ही प्रकार के होते हैं पर अधिकांशतः इन्हें पॉलीक्रिस्टलाइन ही प्रयोग किया जाता है।
12v सोलर पैनल

ये 10 वाट से 180 वाट तक में उपलब्ध रहते हैं। सामान्यतः पॉलीक्रिस्टलाइन होने पर इनकी बाजार में कीमत 2000 रुपये से 15 हजार रूपये तक होती है एवं इस से अधिक कीमत के 12 वोल्ट सोलर पैनल मोनोक्रिस्टलाइन होते हैं। इनका उपयोग मुख्यतः छोटे उपकरण, ट्रैवलिंग वैन, स्ट्रीट लाइट, सोलर टोर्च, चार्जर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाता है।

24v सोलर पैनल

24 वोल्ट पर विद्युत जनरेट करने वाले सोलर पैनल को 24v सोलर पैनल होते हैं। ये सामान्यतः ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करने में प्रयोग किये जाते हैं। 24 वोल्ट के सोलर पैनल ज्यादातर मोनोक्रिस्टलाइन होते हैं। इस प्रकार के सोलर पैनल का Voc 33 वोल्ट तक होता है।
24v सोलर पैनल

24 वोल्ट के सोलर पैनल 300 वाट से अधिक में उपलब्ध रहते हैं। मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल होने के कारण इनकी बाजार में कीमत 10 हजार रूपये से शुरू होती है। इनका प्रयोग घरों में ऑन-ग्रिड बिजली से संचालित होने वाले सभी उपकरणों, व्यावसायिक एवं वाणिज्यिक क्षेत्रों में किया जाता है।

12v और 24v के सोलर पैनल के लाभ

12v और 24v के सोलर पैनल से नीचे दिए गए लाभ होते हैं:

12v सोलर पैनल 24v सोलर पैनल
ये वजन में हल्के होते हैं एवं इन्हें मेंटिनेंस की ज्यादा आवश्यकता नहीं होती है।इस प्रकार के सोलर पैनलों पर गर्मी का अधिक प्रबह्व नहीं पड़ता है ये गर्मीं होने पर भी अच्छा प्रदर्शन देते हैं।
12 वोल्ट की बिजली से संचालित किये जाने वाले हर उपकरण को इस सोलर पैनल से उत्पन्न होने वाली बिजली से प्रयोग किया जा सकता है।इन पैनलों को स्थापित करना आसान है।
इन्हें उच्च पैकिंग से निर्मित किया जाता है जिस कारण ये अच्छा प्रदर्शन प्रदान करती है।अधिक क्षमता होने के कारण ये अधिक समय तक प्रयोग में लिए जा सकते हैं।

12v और 24v के सोलर पैनल की हानियां

12v और 24v के सोलर पैनल द्वारा होने वाली हानियां इस प्रकार हैं:

12v सोलर पैनल 24v सोलर पैनल
ये सिर्फ 12 वोल्ट के उपकरणों को संचालित करने के लिए ही प्रयोग में लिए जा सकते हैं इस से अधिक होने पर ये काम नहीं करते है।अधिक वोल्टेज से संचालित होने वाले उपकरणों पर ये सौर पैनल कार्य नहीं करते हैं।
अधिक गर्मी होने पर ये अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं।24v सोलर पैनल की कीमत अधिक होती है।

12v और 24v के सोलर पैनल संचालन हेतु प्रयोग किये जाने वाले उपकरण

किसी भी सोलर पैनल को स्थापित करने के बाद उसे संचालित करने के लिए कुछ अन्य उपकरणों की आवश्यकता होती है। जिनके द्वारा उनका सही से एवं अधिक समय तक प्रयोग किया जा सकता है:

  • बैटरी के साथ संगतता (Compatibility)– ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में यदि 12v के सोलर पैनल को स्थापित लिया जाता है तो ऐसे में 12v की बैटरी का प्रयोग की बिजली को संग्रहित करने के लिए करना चाहिए। एवं यही 24 वोल्ट के सोलर पैनल को स्थापित किया गया है तो 24 वोल्ट की बैटरी ही विद्युत संग्रहण के लिए करनी चाहिए। 24 वोल्ट की बैटरी बाजारों में उपलब्ध नहीं रहती है। दो 12 वोल्ट की बैटरियों को श्रेणी क्रम (series) में जोड़ कर 24 वोल्ट बनाया जाता है।
  • इन्वर्टर के साथ संगतता (Compatibility)– ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम में 12 वोल्ट के सोलर पैनल को 12 वोल्ट के इन्वर्टर के साथ ही जोड़ा जाता है। एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनल को 24 वोल्ट के इन्वर्टर के साथ ही जोड़ा जाता है। एडवांस टेक्नोलॉजी के इन्वर्टर (Maximum Power Point Tracking MPPT) होने पर यह 12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट दोनों ही प्रकार के सोलर पैनल को सपोर्ट करते हैं।
  • चार्ज कंट्रोलर के साथ संगतता (Compatibility)– किसी भी चार्ज कंट्रोलर की रेटिंग से अधिक रेटिंग के सोलर पैनल को साथ नहीं जोड़ा जा सकता है। वर्तमान में बाजारों में 6 एम्पियर से लेकर 60 एम्पियर तक के चार्ज कंट्रोलर आ गए हैं। इनकी सहायता से आप 12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनलों का प्रयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

12v और 24v के सोलर पैनल से सम्बंधित जानकारी के अनुसार आप इनका प्रयोग अपने क्षेत्र के अनुसार कर सकते हैं। जहां 12 वोल्ट सोलर पैनल एक पोर्टेबल सिस्टम हो सकता है इसका प्रयोग आप यात्राओं के दौरान भी कर सकते हैं। 24 वोल्ट के सोलर सिस्टम को घर में बिजली संचालन एवं व्यवसायिक स्तर पर प्रयोग करने के लिए करते हैं। अपनी आवश्यकतानुसार आप सोलर पैनलों को स्थापित कर सकते हैं।

12v और 24v के सोलर पैनल से सम्बंधित प्रश्न एवं उत्तर

12v सोलर पैनल की विशेषताएं क्या है?

12v सोलर पैनल की विशेषताएं ये 10 वाट से 180 वाट तक में उपलब्ध रहते हैं। सामान्यतः पॉलीक्रिस्टलाइन होने पर इनकी बाजार में कीमत 2000 रूपये से 15 हजार रूपये तक होती है एवं इस से अधिक कीमत के 12 वोल्ट सोलर पैनल मोनोक्रिस्टलाइन होते हैं।

24v सोलर पैनल की विशेषताएं क्या है?

24v सोलर पैनल की विशेषताएं ये 300 वाट से अधिक में उपलब्ध रहते हैं। मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल होने के कारण इनकी बाजार में कीमत 10 हजार रूपये से शुरू होती है।

12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनल में अधिक गर्मी होने पर भी अच्छा प्रदर्शन को करता है?

12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनल में अधिक गर्मी होने पर भी अच्छा प्रदर्शन 24 वाल्ट के सोलर पैनल करते हैं।

12 वोल्ट एवं 24 वोल्ट के सोलर पैनलों का उपयोग कहाँ-कहाँ किया जा सकता है?

12 वोल्ट के सोलर पैनलों का प्रयोग कम वोल्टेज वाले सभी उपकरणों को संचालित करने में किया जा सकता है ये यात्राओं के दौरान अपने साथ ले जाए जा सकते हैं। इनका प्रयोग घरों में भी किया जा सकता है। 24 वोल्ट के सोलर पैनलों का प्रयोग अधिक 24 वोल्ट से कम वोल्टेज के उपकरणों को संचालित करने के लिए किया जाता है। इन्हें घरों में, व्यावसायिक एवं वाणिज्यिक क्षेत्रों में प्रयोग किया जा सकता है।

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें