TATA 3KW सोलर सिस्टम 60% तक की सब्सिडी पर खर्चा नाममात्र…

टाटा के 3 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम को लगा कर आप घर के सभी विद्युत उपकरणों को संचालित कर सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

आजकल सोलर पैनल लगवाने का प्रचलन काफी चल रहा है, चूंकि सरकार इसके लिए बढ़िया सब्सिडी दे रही है तो काफी लोग इसका फायदा उठा रहे हैं। सौर ऊर्जा के माध्यम से बिजली प्राप्त करने के लिए सोलर पैनल का प्रयोग किया जाता है। सौर ऊर्जा को भविष्य की ऊर्जा भी कहते हैं, इसका प्रयोग अधिक से अधिक कर के ही पर्यावरण को सुरक्षित रखा जा सकता है। सोलर सिस्टम को स्थापित करने में एक बार निवेश करना होता है। जिसके बाद आने वाले कई सालों तक उपयोगकर्ता उसका लाभ प्राप्त कर सकता है। TATA कंपनी का 3KW सोलर सिस्टम (Tata 3KW Solar System) की जानकारी यहाँ देखें।

TATA 3KW सोलर सिस्टम 60% तक की सब्सिडी पर खर्चा नाममात्र…
TATA 3KW सोलर सिस्टम 60% तक की सब्सिडी पर खर्चा नाममात्र…

सोलर सिस्टम स्थापित करने से केवल बिल को ही कम नहीं किया जाता है, इसके द्वारा पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाया जा सकता है। सोलर सिस्टम पर्यावरण के अनुकूल ही बिजली उत्पादन का कार्य करते हैं, अर्थात यह बिना किसी प्रदूषण को उत्पन्न किए ही बिजली का निर्माण करते हैं। सोलर सिस्टम के इसी महत्व को समझते हुए सरकार द्वारा भी इन्हें स्थापित करने के लिए नागरिकों को सब्सिडी योजनाओं के द्वारा प्रोत्साहित किया जा रहा है।

TATA कंपनी का 3KW सोलर सिस्टम

3 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल के द्वारा प्रतिदिन 15 यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। जिस से घर में संचालित होने वाली विद्युत उपकरणों जैसे टीवी, फ्रिज, AC, लैपटॉप, सीलिंग फैन, लाइट बल्ब आदि को आसानी से चलाया जा सकता है। TATA कंपनी का 3KW सोलर सिस्टम लगाने पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए MNRE के गाइडलाइंस एवं ALMM स्टैंडर्ड के अंतर्गत आपको सोलर सिस्टम में प्रयोग किए जाने वाले घटकों का चयन करना होता है। जिसके बाद ही आप सरकार द्वारा दी जाने वाले सब्सिडी को प्राप्त कर सकते हैं। सरकार द्वारा सोलर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आपको ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करना होता है।

TATA कंपनी का 3KW ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम

  • ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में पावर बैकअप के लिए किसी प्रकार की सुविधा नहीं होती है, इसमें सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ शेयर किया जाता है।
  • जिसमें उपभोक्ता के सोलर पैनल द्वारा भेजी गई बिजली की यूनिट की गणना करने के लिए नेट-मीटरिंग की जाती है। इस प्रकार के सोलर सिस्टम के माध्यम से बिजली के बिल को कम किया जा सकता है,
  • और साथ ही सोलर पैनल द्वारा बनने वाली अतिरिक्त बिजली को बेच कर आर्थिक लाभ भी प्राप्त किया जा सकता है। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सभी प्रकार के उपकरणों को चलाया जा सकता है, क्योंकि इसमें इलेक्ट्रिक ग्रिड से प्राप्त होने वाली बिजली का ही प्रयोग किया जाता है।

TATA कंपनी का 3KW सोलर सिस्टम ऑनग्रिड इन्स्टॉल करने में होने वाला कुल खर्चा लगभग 2,15,000 रुपये से 2,60,000 रुपये तक हो सकता है। जिसे आप सब्सिडी के माध्यम से 1,50,000 रुपये तक में स्थापित कर सकते हैं। इस प्रकार के सोलर सिस्टम में मुख्य रूप से सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर एवं नेट-मीटर का प्रयोग किया जाता है। साथ ही अन्य उपकरणों में अलग-अलग प्रकार की वायर और अन्य एसेसीरिज का प्रयोग भी किया जाता है। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को कम बिजली कटौती वाले स्थानों के लिए उपयुक्त कहा जाता है।

TATA कंपनी का 3KW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम

  • ऑफग्रिड सोलर सिस्टम का प्रयोग ऐसे स्थानों के लिए उपयुक्त कहा जाता है, जहां इलेक्ट्रिक ग्रिड की बिजली की कटौती बहुत अधिक मात्रा में होती है, या जिन स्थानों में इलेक्ट्रिक ग्रिड की सुविधा ही उपलब्ध नहीं है।
  • ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में पावर बैकअप के लिए सोलर बैटरियों का प्रयोग किया जाता है। सोलर बैटरियों में संग्रहीत की जाने वाली बिजली का प्रयोग उपभोक्ता अपनी आवश्यकताओं के अनुसार कर सकता है।
  • ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में को एक पूर्ण सोलर सिस्टम भी कहा जाता है।

ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर, सोलर बैटरी का प्रयोग मुख्य उपकरणों के रूप में किया जाता है। साथ ही इसमें अन्य उपकरणों में अलग-अलग प्रकार की वायर और अन्य एसेसीरिज का प्रयोग भी किया जाता है। इस प्रकार TATA कंपनी का 3KW ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम लगाने में लगभग 3,00,000 रुपये तक का खर्चा हो सकता है। सोलर सिस्टम के द्वारा आप लंबे समय तक फ्री में बिजली प्राप्त कर सकते हैं। सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले उपकरणों पर आपको टाटा द्वारा वारंटी भी प्रदान की जाती है।

यह भी देखें:पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना में इन बैंकों में करें लोन का आवेदन

पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना में इन बैंकों में करें लोन का आवेदन

सोलर सिस्टम में लगने वाले उपकरण

TATA कंपनी के 3KW क्षमता के सोलर सिस्टम में सोलर पैनल में आप 320 वाट के 10 पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग कर सकते हैं। जिसके द्वारा दिष्ट धारा DC के रूप में बिजली का उत्पादन किया जाता है। DC को AC में परिवर्तित करने के लिए सोलर इंवर्टर में आप 3 KVA क्षमता वाला सोलर इंवर्टर प्रयोग कर सकते हैं, यदि आपको भविष्य में अपने सोलर सिस्टम को बढ़ाना है तो आप अधिक क्षमता के सोलर इंवर्टर का प्रयोग भी कर सकते हैं। सोलर बैटरियों का चयन नागरिक अपनी बिजली की आवश्यकताओं के अनुसार कर सकते हैं।

यदि आपको कम बैटरी बैकअप की आवश्यकता होती है तो आप 80 Ah या 100 Ah की सोलर बैटरी का प्रयोग कर सकते हैं। यदि आपको अधिक बैटरी बैकअप की आवश्यकता होती है, तो आप 150 Ah या 200 Ah की बैटरी को अपने सोलर सिस्टम में जोड़ सकते हैं। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में शेयर बिजली का गणना करने के लिए नेट-मीटर का प्रयोग करें। एवं किसी सोलर सिस्टम को स्थापित करने के लिए किसी एक्सपर्ट कर्मचारी की सहायता प्राप्त करें। टाटा के सोलर उपकरण अपनी विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध हैं, जिनकी सहायता से आप एक कुशल सोलर सिस्टम स्थापित कर सकते हैं।

एक बार सोलर सिस्टम स्थापित करने के कुछ ही वर्षों में आप उस निवेश को वापस प्राप्त कर सकते हैं, और उसके बाद के अनेक वर्षों तक आप फ्री में सोलर पैनल से बिजली प्राप्त कर सकते हैं। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम के लिए सब्सिडी का आवेदन करने के लिए आप सोलर सूर्य घर सब्सिडी योजना के आधिकारिक पोर्टल से आवेदन कर सकते हैं। सोलर सिस्टम का प्रयोग कर जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है, जिस से हरित भविष्य की कल्पना को सच किया जा सकता है।

यह भी देखें:PM Kusum Solar Pump Yojana 2024: किसानों के लिए 90% सब्सिडी पर सोलर पंप: जानिए कैसे करें आवेदन!

PM Kusum Solar Pump Yojana: किसानों के लिए 90% सब्सिडी पर सोलर पंप, जानें कैसे करें आवेदन!

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें