सोलर पैनल पर डिस्काउंट का झांसा देकर 1 लाख 80 हजार रुपये की ठगी, अगर आपको भी मिले ऑफर तो तुरंत जानें कैसे बचें

सोलर पैनल पर डिस्काउंट में किसान के साथ हुई ठगी! झांसा देकर 1 लाख 80 हजार रुपये लूटे गए। आइए जानते हैं इस सम्पूर्ण घटना के बारे में..........

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल पर डिस्काउंट का झांसा देकर 1 लाख 80 हजार रुपये की ठगी, अगर आपको भी मिले ऑफर तो तुरंत जानें कैसे बचें
सोलर पैनल पर डिस्काउंट का झांसा देकर 1 लाख 80 हजार रुपये की ठगी, अगर आपको भी मिले ऑफर तो तुरंत जानें कैसे बचें

बिजली बिल के बढ़ते खर्चे को कम करने के लिए ज्यादातर लोग सोलर पैनल का इस्तेमाल करते है, लेकिन आजकल सोलर पैनल पर डिस्काउंट का झांसा देकर लोगों से लाखों रूपए की ठगी की जा रही है। ऐसी ही मामला किसी किसान के साथ हाल ही में घटा है जिसके तहत ठगो ने उनसे 1 लाख से भी अधिक रूपए लूटे हैं। किसी गलत सौदे में फंसने से नुकसान ही झेलना पड़ता है। सोलर पैनल लगाने के नाम पर हजारों से लेकर लाखों रूपए तक की ठगी की जा रही है। अगर आपके पास भी ऐसी कोई ऑफर आता है तो आप उन्हें तुरंत मना कर दीजिए और पुलिस कंप्लेंट करिए। तो चलिए इस पूरे मामले की जानकारी इस लेख में जानते हैं।

क्या है मामला?

यह जो घटना घटी है वह गाजीपुर थाना के फरीदाबाद टिकरी निवासी एक किसान के साथ हुई है। सोलर पंप लगवाने की छूट का लालच देकर किसान से करीबन 1 लाख 80 हजार रूपए की ठगी हुई है। लोभ में आकर किसान ने ठगों के कहने पर उनके खातों में किस्तों पर राशि भेजता रहता था। जब उन्हें यह बात पता लगी कि उनके साथ ठगी हुई है तो किसान ने साइबर थाने में जाकर शिकायत की।

थाने में जब उनसे इस पूरे मामले की बात पूछी गई तो किसान धर्मेंद्र ने कहा कि कुछ दिन पहले हमारे गांव में एक टीम आई थी। उन्होंने कहा कि यदि आप सोलर पैनल लगाते हैं तो आप इससे आता चक्की कारखाना एवं समरसेबिल पंप चला सकते हैं। इसके बाद वे कृषि भवन गए और पूरी जानकारी लेने के बाद 11 जून को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर दिया। इसके दूसरे ही दिन उनके नंबर पर कॉल आया। उन्होंने कॉल उठाया तो कहा गया कि वे लखनऊ से बोल रहें हैं और आवेदन के बारे में पूछने लगे।

इसके बाद वे पैनल पर लाखों की छूट मिलने की बात बताने लगे। तीन बार झांसा देने के बाद 1 लाख 80 रूपए मांगे गए। किसान से यह पैसे अलग अलग खाते में मांगे गए थे। चौथी बार 10 हजार रूपए और मांगने की बात कही गई लेकिन उन्हें संदेह होने लग गया। इसके बाद वे कृषि भवन गए जहाँ उन्हें इस तरह से कॉल अथवा छूट की बात से मना कर दिया गया। इसके बाद यह रिपोर्ट साइबर थाने में दर्ज की गई। अब इस मामले में जाँच की जा रही है।

यह भी देखें:यूपी के बरेली जिले में सोलर पैनल लगवाने वालों को मिलेगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली

यूपी के बरेली जिले में सोलर पैनल लगवाने वालों को मिलेगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली

सोलर पैनल पर डिस्काउंट के धोखाधड़ी मामले से कैसे बचे?

सोलर पैनल पर भारी छूट का लालच देकर लगों से ठगी करने की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। लेकिन आपको इन सब घटनाओं से संकेत रहना है। ऐसे घोखेबाजों से बचने के लिए हम आपको कुछ आवश्यक जानकारी देने जा रहें हैं जिन्हे ध्यान से पढ़ें।

  • अगर कोई कंपनी आपसे कहती है कि वे आपको बाजार की कीमतों से भी बहुत कम कीमत पर सोलर पैनल देगी तो आपको सीधे मना कर देना है।
  • आपको उस कंपनी में निवेश करने से पहले जांच कर लेनी है।
  • अगर आप सोलर सिस्टम लगवाना चाहते हैं तो सही इंस्टॉलरों का चयन करें।
  • आप सरकारी योजना में आवेदन करके सोलर पैनल पर सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • बाजार में सोलर पैनल के क्या दाम है पहले यह जानकारी पता कर लें।

सोलर सिस्टम पर सब्सिडी कैसे मिलती है?

आपको बता दें सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा पीएम सूर्य घर योजना और रूफटॉप सोलर योजना एवं अन्य कई योजनाएं शुरू की गई है। अगर आप कम खर्चे में ही सोलर सिस्टम लगाना चाहते हैं तो आप इन योजनाओं में आवेदन कर सकते हैं। योजना में आवेदन करने के पास जिस क्षमता वाला सोलर पैनल आप खरीदते हैं उसके अनुसार आपको सरकारी सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा। सरकारी सब्सिडी का लाभ प्राप्त करके आप आसानी से कम खर्चे पर सोलर सिस्टम लगाकर अपनी ऊर्जा आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त सोलर पंप में सब्सिडी प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कुसुम योजना को शुरू किया गया है। अतः जब भी कोई सब्सिडी देने की बात करता है तो आपको सतर्क रहना है क्योंकि सब्सिडी केवल आपको सरकार द्वारा ही प्रदान की जाएगी।

यह भी देखें:गार्डन में लगने वाली सोलर लाइट मिल रही 73% की बम्पर छूट के साथ केवल 299 रुपये में

गार्डन में लगने वाली सोलर लाइट मिल रही 73% की बम्पर छूट के साथ केवल 299 रुपये में

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें