सोलर पैनल खरीद रहे हैं? तो इन बातों का रखें ध्यान

बढ़ते बिजली की समस्या से छुटकारा पाने के लिए क्या आप सोलर खरीद रहें हैं? यदि हां तो आपको सोलर पैनल खरीदने से पहले रखना है कुछ आवश्यक बातों का ध्यान।

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल खरीद रहे हैं? तो इन बातों का रखें ध्यान
सोलर पैनल खरीद रहे हैं?

घर पर अधिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होने के कारण बिजली का ज्यादा उपयोग किया जा रहा है, जिससे हर महीने बिजली का भारी बिल आता है। इसके साथ ही बिजली की कीमत भी बढ़ती जा रही है। बिजली का बिल कम आए इसके लिए हम कई उपकरणों को बंद करते हैं लेकिन फिर भी बिजली बिल अधिक ही आता है। इससे बढ़िया आप अपने घर पर सोलर पैनल स्थापित कर सकते हैं। इससे आपका मुफ्त बिजली बिल आएगा।

सोलर पैनल लगाकर आप अपनी घर ही सभी बिजली आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं, साथ ही आपको बार-बार होने वाली बिजली कटौती की समस्या नहीं होगी। गर्मी में बिजली कटौती की अधिक समस्या रहती है जिससे लोगों को अधिक परेशानी होती है। इसलिए आप सोलर पैनल जरूर स्थापित करें, लेकिन इसे खरीदने से पहले आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना होता है।

यह भी पढ़ें – MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर की व्याख्या

घर पर कौन सा सोलर सिस्टम लगाएं?

सोलर सिस्टम, जिसे सौर ऊर्जा प्रणाली भी कहा जाता है, एक ऐसी प्रणाली है जो सूर्य के प्रकाश से ऊर्जा प्राप्त करती है और उसे विद्युत ऊर्जा में बदलकर घरों, व्यवसायों या बिजली ग्रिड को बिजली प्रदान करती है।

सोलर सिस्टम, एक ऐसी प्रणाली है जो सूर्य के प्रकाश से ऊर्जा प्राप्त करती है जिसे सौर ऊर्जा प्रणाली भी कहा जाता है। यह सूर्य के प्रकाश को विद्युत् ऊर्जा में बदलकर बिजली का निर्माण करती है। यह मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं- Off Grid एवं On Grid

Off Grid सोलर सिस्टम

यदि आप अपने घर पर ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाते हैं, तो आपको इसमें सोलर पैनल, इन्वर्टर तथा बैटरी का इस्तेमाल करना होता है। जिन क्षेत्रों में बिजली की अधिक समस्या रहती है, अर्थात बिजली कुछ ही समय के लिए रहती है वहां पर आप इसका उपयोग कर सकते हैं। ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम में बैटरी बैकअप मिलता है। आप मेन सप्लाई बंद करके घर के उपकरण आसानी से चालू कर सकते हैं। यह सिस्टम दिन भर सूरज की रोशनी में चार्ज होता है और रात को बिजली कटौती के समय काम आता है।

On Grid सोलर सिस्टम

यदि आप अपने घर पर बढ़ते बिजली बिल को कम करना चाहते हैं तो आप ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम का उपयोग कर सकते हैं। यह सिस्टम main supply उपलब्ध रहने पर काम करता है। यदि आप मेन सप्लाई बंद ऑफ करते हैं तो ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम भी ऑफ हो जाता है अर्थात किसी भी तरह की बिजली नहीं देता है। यह जो सिस्टम में इसमें केवल सोलर पैनल और इन्वर्टर का ही यूज़ होता है। इन्वर्टर घर के सभी उपकरण चलाता है।

यदि आपका सोलर सिस्टम अधिक बिजली का निर्माण करता है तो आप इसे किसी और को बेच भी सकते हैं। न दोनों सोलर सिस्टम में से आपको जो भी पसंद आता है आप उसे खरीद सकते हैं। आप इन दोनों की क्षमता, कुशलता देख सकते हैं उसके बाद अपने घर पर लगा सकते हैं।

सोलर पैनल कितने प्रकार के होते हैं?

सोलर पैनल मुख्यत तीन प्रकार के होते हैं:-

1. मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

यह भी देखें:Solar Generator घर पर लगाएं , पंखा, टीवी और AC का नहीं आएगा ज्यादा बिल

Solar Generator से चलाएं घर का पंखा, टीवी और AC, नहीं आएगा बिजली बिल

मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल सबसे महंगे और बेहतर क्वालिटी के सोलर पैनल होते हैं जो सूरज की कम रोशनी में भी अच्छी तरह से काम करते हैं। लम्बे समय तक चलने वाले यह सोलर पैनल अधिक टिकाऊ होते हैं। आप इन्हें घरेलु उपयोग के लिए लगा सकते हैं।

2. पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

पॉलीक्रिस्टलाइन एक सोलर कंपनी है जो सस्ती कीमत पर सोलर प्रदान करती है। यह मोनोक्रिस्टलाइन पैनल की तुलना में कार्य के हल्के होते हैं। कम रोशनी में कार्य करने में कुशल होते हैं। सौर ऊर्जा परियोजनाओं में बड़े स्तर पर इस्तेमाल किए जाते हैं।

3. थिन-फिल्म सोलर पैनल

यह इन दो सोलर पैनल से थोड़े हल्के होते हैं जो आपको सही कीमत पर मिल जाते हैं। इसे आप अपने घर पर स्थापित करके बिजली आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकते हैं। कम प्रकाश में भी चार्ज हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें – Solar Panel Offer: अब 70% तक छूट के साथ खरीदें सोलर पैनल, आज ही उठाएं ऑफर का लाभ!

Load को कैलकुलेट करें

आप अपने घर के उन उपकरणों के लोड को देखें जिसे आप सोलर सिस्टम पर चलाना चाहते हैं। आप उपकरणों के लोड को जोड़कर ही सिस्टम खरीदें। उपकरणों का लोड कैसे जोड़ना है उदाहरण के लिए यहां पर देखें: –

  • 2 फैन – 90+90 = 180 वाट
  • 1 टन एयर कंडीशनर – 1300 वाट
  • 34 इंच एलईडी टीवी – 70 वाट
  • टोटल = 180+1300+70 = 1550 वाट

अगर आप सोलर सिस्टम पर घर के सभी उपकरण 1550 वाट लोड पर चलाना चाहते हैं तो आप 2000 से अधिक वाट का सोलर सिस्टम लगाना होगा। और अगर आप ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाना चाहते हैं तो आपको इसमें बैटरी को चार्ज करने के लिए पावर की भी जरुरत होती है। इसमें भी आपको 2000 वाट से अधिक का सोलर सिस्टम लगाना होगा। जब सोलर सिस्टम चलाएंगे तो उसमें उपकरण का लोड पड़ेगा और उस दौरान बैटरी भी चार्ज होगी।

अगर सोलर पैनल से सप्लाई होनी रुक जाती है तो उपकरण चार्ज हुई बैटरी से आसानी से चल सकते हैं। इसमें आपको करीबन 2.5 kw का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाना होगा। एक किलोवाट का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाने पर आपका खर्चा 90 हजार रूपए तक आएगा। लेकिन इसमें आपको शिपिंग इंस्टालेशन मुफ्त में दी जाएगी।

भारत में शीर्ष 10 सोलर पैनल ब्रांड

सोलर सिस्टम लगाने से पहले आपको इसकी पूरी जानकारी मालूम होनी आवश्यक है। यहां पर हम आपको कुछ कंपनी के सोलर सिस्टम के नाम बता रहें हैं जहाँ से आप अपने घर पर सोलर सिस्टम लगवा सकते हैं।

आप Loom Solar Private Limited कंपनी को चुन सकते हैं यह बहुत ही ही बेहतर कंपनी है जो अच्छी ब्रांड के सोलर सिस्टम प्रदान करती है। यदि आप भी लूम सोलर, luminous, Microtek, Tata Power Solar, Vikram Solar, Canadian Solar, Trina Solar, Jinko, Adani जैसी कंपनियों का सोला पैनल स्थापित करना चाहते हैं तो आप इसके लिए Loom Solar Private Limited से कांटेक्ट कर सकते हैं। यहाँ पर आपको अच्छी क्वालिटी और उचित दाम पर सोलर सिस्टम मिल जाते हैं।

यह भी देखें:केवल 13000 में लगवाएं 1kw सोलर पैनल सिस्टम, तुरंत करें अप्लाई

मात्र 13000 में लगवाएं 1kw सोलर पैनल सिस्टम, अभी करें आवेदन

1 thought on “सोलर पैनल खरीद रहे हैं? तो इन बातों का रखें ध्यान”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें