Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल अब केवल ₹25/वाट खर्च पर मिलेगा, जानिए पूरी जानकारी

वारी द्वारा बनाए गए सोलर पैनल अधिक दक्षता के होते हैं ऐसे सोलर पैनल से बिजली का अधिक उत्पादन किया जा सकता है।

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल की तकनीक में आज के समय में तेजी से विकास हो रहा है, जिससे उनकी दक्षता एवं क्षमता को बढ़ाया जा रहा है, सोलर पैनल की तकनीक विकसित होने से उनकी कीमत में भी बढ़ोत्तरी हो रही है। सामान्यतः पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनलों का प्रयोग सबसे अधिक किया जाता है, ऐसे सोलर पैनल की दक्षता कम होती है, और इनकी कीमत भी कम होती है। मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की दक्षता पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल से अधिक होती है। ₹25/वाट खर्च पर मिलेगा Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल यहाँ जानें। ऐसे सोलर पैनल से बिजली की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सकती है।

Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल अब केवल ₹25/वाट खर्च पर मिलेगा, जानिए पूरी जानकारी
Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल

भारत में सोलर पैनल का निर्माण करने वाले अनेक ब्रांड है, भारत के टॉप सोलर ब्रांड में से एक Waaree Solar Energies Ltd. है, जिसके सोलर पैनल उच्च दक्षता के होते हैं, जो अपनी उच्च कार्य प्रदर्शन के लिए एवं विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध रहते हैं। सोलर पैनल मुख्यतः पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोक्रिस्टलाइन एवं बाइफेशियल प्रकार के होते हैं। बाइफेशियल प्रकार के सोलर पैनल एडवांस तकनीक के सोलर पैनल होते हैं, जिनका प्रयोग कर उच्च दक्षता के साथ बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। जिनका प्रयोग कर लंबे समय तक बिजली का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

बाइफेशियल सोलर पैनल

बाइफेशियल सोलर पैनल को सबसे आधुनिक सोलर पैनल कहा जाता है, ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग कर दोनों ओर से बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। ये सोलर पैनल सामने की ओर से सूर्य से प्राप्त होने वाले प्रकाश के माध्यम से बिजली का उत्पादन करते हैं, जबकि पीछे की ओर से ये सोलर पैनल सूर्य के परावर्तित प्रकाश अर्थात Albedo Lights के द्वारा बिजली का उत्पादन करते हैं। ऐसे सोलर पनले का प्रयोग कर कम स्थान पर भी सोलर सिस्टम को स्थापित किया जा सकता है। ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग मुख्यतः कुशल क्षमता के एडवांस सोलर सिस्टम में किया जाता है।

Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल

वारी के द्वारा मोनो PERC एवं बाइफेशियल सोलर पैनल का निर्माण किया जाता है, वारी के सोलर पैनल की पूरी जानकारी एवं कीमत की जानकारी जानने के लिए वारी की आधिकारिक वेबसाइट में जा सकते हैं। साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म अमेजन, फ्लिपकार्ट से भी इन्हें खरीदा जा सकता है। वारी के सोलर पैनल आसानी से बाजारों में भी उपलब्ध रहते हैं। इनके द्वारा अलग-अलग क्षमता में सोलर पैनलों को निर्माण किया जाता है। यदि उपभोक्ता 1 किलोवाट के सोलर सिस्टम को स्थापित करना चाहते हैं तो ऐसे में 520 वाट के दो बाइफेशियल सोलर पैनल स्थापित किए जा सकते हैं।

Waaree बाइफेशियल सोलर में 520 वाट के दो सोलर पैनल की कीमत लगभग 24,000 रुपये तक होती है, इस सोलर पैनल की प्रतिवाट कीमत लगभग 24 रुपये है। आप वारी के मोनो PERC सोलर का प्रयोग भी ऐसे सोलर सिस्टम में कर सकते हैं। बाइफेशियल सोलर पैनल कम धूप में एवं खराब मौसम में बिजली का निर्माण करने की क्षमता रखते हैं। इन सोलर पैनल पर वारे द्वारा 30 वर्ष की कार्य प्रदर्शन वारंटी प्रदान की जाती है, सोलर सिस्टम का प्रयोग लंबे समय तक करने के लिए सोलर पैनल की सफाई को समय-समय पर करते रहना चाहिए।

वारी के 535 वाट के सोलर पैनल

यदि आप वारी के 535 वाले के सोलर पैनल का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में करना चाहते हैं तो दो सोलर पैनल की कीमत लगभग 25,399 रुपये तक है, ऐसे सोलर पैनल की अमेजन पर प्रतिवाट कीमत 25 रुपये है। इन सोलर पैनल का प्रयोग कर आप 1 किलोवाट के सोलर सिस्टम को स्थापित कर सकते हैं।

यह भी देखें:घर की छत पर करें सोलर पैनल से व्यवसाय, जानें पूरी जानकारी

घर की छत पर करें सोलर पैनल से व्यवसाय, जानें पूरी जानकारी

वारी के 540 वाट के सोलर पैनल

वारे के 540 वाट के सोलर पैनल का प्रयोग कर कुशल क्षमता के सोलर सिस्टम को स्थापित किया जा सकता है। 540 वाट क्षमता के दो सोलर पैनल की कीमत अमेजन पर लगभग 25,999 रुपये है, इनकी कीमत 26 रुपये प्रतिवाट से भी कम होती है। बाइफेशियल सोलर पैनल का प्रयोग कर एक आधुनिक सोलर सिस्टम को स्थापित किया जा सकता है।

वारी के 550 वाट के बाइफेशिल सोलर पैनल

वारी के 550 वाट क्षमता के सोलर पैनल बड़ी क्षमता के सोलर पैनल हैं, इनका प्रयोग बड़े सोलर सिस्टम में किया जा सकता है। 550 वाट क्षमता के दो सोलर पैनल की कीमत लगभग 25,999 रुपये है। ऐसे सोलर पैनल की कीमत 26 रुपये प्रतिवाट से कम होती है। इस सोलर पैनल का प्रयोग कर के कम स्थान में सोलर सिस्टम को लगाया जा सकता है।

वारी के बाइफेशियल सोलर पैनल की विशेषताएं

वारी द्वारा बनाए जाने वाली बाइफेशियल सोलर पैनल की विशेषताएं इस प्रकार हैं:-

  • वारी द्वारा निर्मित बाइफेशियल सोलर पैनल की विश्वसनीयता प्रसिद्ध है, ये डवांस्ड क्रैक टॉलरेंस MBB मॉड्यूल होते हैं।
  • वारे बाइफेशियल सोलर पैनल में उच्च कार्य प्रदर्शन करने के लिए हाफ-कट सोलर सेल का प्रयोग किया जाता है। इनमें मुख्यतः उच्च दक्षता के मोनो पर्क M10 सेल लगे होते हैं।
  • इन सोलर पैनल से अधिकतम लाभ प्राप्त किया जा सकता है। एवं कम हानि होती है।
  • ऐसे सोलर पैनल में लगे स्प्लीट जंक्शन बॉक्स हीट से होने वाले प्रभाव में सुधार होता है।
  • वारी के सोलर पैनल इंक्रीसेड शेड टॉलरेंस एवं उच्च क्षमता की दक्षता वाले होते हैं।

बाइफेशियल सोलर पैनल लगाने के लाभ

बाइफेशियल सोलर पैनल लगाने के लाभ निम्नलिखित होते हैं:-

  • बाइफेशिल सोलर पैनल द्वारा दोनों ओर से बिजली का उत्पादन किया जा सकता है, ऐसे सोलर पैनल अन्य सोलर पैनल की तुलना में 5% से 30% ज्यादा बिजली का उत्पादन करते हैं।
  • बाइफेशियल सोलर पैनल के प्रयोग से कम स्थान पर सोलर सिस्टम को स्थापित किया जा सकता है, ऐसे सोलर सिस्टम से अधिक बिजली का उत्पादन भी होता है।
  • बाइफेशियल सोलर पैनल उच्च दक्षता के सोलर पैनल होते हैं, ये बहुत कम रोशनी में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं।

निष्कर्ष

Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल का प्रयोग कर के एक कुशल सोलर सिस्टम को स्थापित किया जा सकता है, सोलर पैनल की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि ये पर्यावरण के अनुकूल ही बिजली का उत्पादन करते हैं, ऐसे सोलर पैनल का प्रयोग कर के जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है। जिस से पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचा सकते हैं, और पर्यावरण में मौजूद कार्बन फुटप्रिन्ट को कम कर सकते हैं। सोलर पैनल द्वारा ही हरित भविष्य को ओर बढ़ा जा सकता है।

यह भी देखें:मंहगाई में आसान तरीके जो कर देगें 50 % तक बिजली बिल कम, उठाएं सरकार फ्री सोलर योजना का लाभ

मंहगाई में आसान तरीके जो कर देगें 50 % तक बिजली बिल कम, उठाएं सरकार फ्री सोलर योजना का लाभ

1 thought on “Waaree बाइफेशियल सोलर पैनल अब केवल ₹25/वाट खर्च पर मिलेगा, जानिए पूरी जानकारी”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें