60 हजार रुपये लगाकर शुरू करें बिजनेस होगी लाखों की कमाई, सरकार देगी 40% सब्सिडी, जानिए कैसे करें स्टार्ट?

सोलर सिस्टम को स्थापित करने के लिए सरकार द्वारा अनेक सब्सिडी योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका आवेदन कर आप सब्सिडी एवं ऋण प्राप्त कर सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

सौर ऊर्जा एक नवीकरणीय प्राकृतिक ऊर्जा है। सूर्य से प्राप्त होने वाली इस ऊर्जा के माध्यम से बिजली का उत्पादन करने के लिए सोलर पैनल का प्रयोग किया जाता है। सोलर पैनल पर्यावरण के अनुकूल ही बिजली का उत्पादन करते हैं। इनके इसी महत्व को समझते हुए सरकार द्वारा नागरिकों को सोलर पैनल स्थापित करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। यदि आपके घर की छत खाली है तो आप उसका प्रयोग सोलर पैनल को स्थापित करने के लिए कर लाखों की कमाई कर सकते हैं।

60 हजार रुपये लगाकर शुरू करें बिजनेस होगी लाखों की कमाई

सामान्यतः 1 किलोवाट के सोलर सिस्टम को स्थापित करने में करीब 1 लाख रुपये रुपये का खर्चा आता है। सोलर सिस्टम में होने वाले निवेश के अधिक होने का कारण बहुत से नागरिक इसका प्रयोग नहीं करते हैं, ऐसे में आपको बता दें। केंद्र सरकार से सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए 40% की सब्सिडी आप प्राप्त कर सकते हैं। जिस से सोलर सिस्टम को 60 हजार रुपये तक में स्थापित किया जा सकता है।

राज्य सरकार भी अपने स्तर से सोलर पैनल लगाने के लिए नागरिकों को सब्सिडी प्रदान करती है। जिस से सोलर पैनल को स्थापित करने की राशि और भी कम हो सकती है। यदि आपके पास सोलर पैनल लगाने के लिए निवेश होने वाली राशि एकमुश्त नहीं है तो ऐसे में आप की भी बैंक से ऋण प्राप्त कर सकते हैं। वित्त मंत्रालय द्वारा सभी बैंकों को सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए लोन प्रदान करने के लिए कहा गया है।

60 हजार रुपये लगाकर शुरू करें बिजनेस होगी लाखों की कमाई
60 हजार रुपये लगाकर शुरू करें बिजनेस होगी लाखों की कमाई

होगी लाखों की कमाई

सोलर सिस्टम को स्थापित करने के लिए सरकार द्वारा अनेक सब्सिडी योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका आवेदन कर आप सब्सिडी एवं ऋण प्राप्त कर सकते हैं। इनमें पीएम सूर्योदय योजना, सोलर रुफटॉप सब्सिडी योजना, कुसुम योजना एवं राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन प्रमुख हैं। इन योजनाओं की अधिक जानकारी के लिए आप अपने राज्य में अक्षय विभाग के कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा योजनाओं के लिए लांच किये गए ऑनलाइन पोर्टल से भी आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सोलर पैनल का प्रयोग कर आने वाले 25 साल तक आप बिजली का उत्पादन कर सकते हैं, सोलर पैनल से जुड़ी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करना होता है, जिस में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है। ऐसे में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को आप अपने विद्युत वितरक डिस्कॉम को बेच सकते हैं। जिस से आप आर्थिक लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। एवं लाखों रुपये सोलर सिस्टम से बनने वाली बिजली से प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी देखें:केवल 13000 में लगवाएं 1kw सोलर पैनल सिस्टम, तुरंत करें अप्लाई

मात्र 13000 में लगवाएं 1kw सोलर पैनल सिस्टम, अभी करें आवेदन

सोलर पैनल कहाँ से खरीदें

सोलर पैनल से जुड़ी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए आप को विक्रेता की जानकारी के लिए अपने राज्य के नवीकरणीय ऊर्जा विकास विभाग से संपर्क कर सकते हैं। जिसके कार्यालय सभी जिलों में होते हैं। साथ ही आप ऑनलाइन भी विभाग की आधिकारिक वेबसाइट से अपने शहर में विक्रेता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। आपको विभाग द्वारा पंजीकृत किये गए विक्रेता से ही सोलर पैनल को खरीदना है।

मेटनेंस का खर्च नहीं

यदि आप एक ऑफग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करते हैं, तो ऐसे में आपको बस सोलर सिस्टम में लगी हुई बैटरी को बदलना होता है। इसके अतिरिक्त सोलर सिस्टम में लगे उपकरणों का सामान्य रखरखाव आप स्वयं से भी कर सकते हैं। कम क्षमता के सोलर सिस्टम को आप अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं। बड़े सोलर सिस्टम के द्वारा अधिक बिजली का उत्पादन करने पर आप ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को ही स्थापित करें।

निष्कर्ष

सोलर सिस्टम को स्थापित करने से उपयोगकर्ता को अनेक लाभ होते हैं, जिनमें वह इलेक्ट्रिक बिजली के बिल को कम कर सकता है, सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को बेच कर आर्थिक लाभ प्राप्त कर सकता है, साथ ही सोलर पैनल का प्रयोग करने से सबसे बड़ा लाभ पर्यावरण को सुरक्षित किया जा सकता है। जिस से हरित भविष्य की स्वर्णिम कल्पना को साकार किया जा सकता है। सोलर सिस्टम को स्थापित करने के लिए सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं का लाभ प्राप्त करें।

यह भी देखें:सौर ऊर्जा के पक्ष एवं विपक्ष: क्या हैं फायदे और नुकसान?

सौर ऊर्जा के पक्ष एवं विपक्ष: क्या हैं फायदे और नुकसान?

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें