Solar System Without Battery: बिना बैटरी के चलेगा सोलर, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली

बिना बैटरी वाला ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम भी एक विकल्प है। यह सिस्टम दिन के दौरान पैनलों द्वारा उत्पन्न बिजली का उपयोग करता है और अतिरिक्त बिजली ग्रिड में वापस भेज देता है। आप इस अतिरिक्त बिजली के लिए बिजली कंपनी से भुगतान प्राप्त कर सकते हैं,जिसे "नेट मीटरिंग" कहा जाता है।

Published By SOLAR DUKAN

Published on

Solar System Without Battery:  अब बिना बैटरी के चलेगा सोलर, साथ ही 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली

रिन्यूएबल ऊर्जा का उपयोग करना हमारे लिए सबसे बेहतर हो सकता है, जिससे हम अपनी बिजली की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं और पर्यावरण को किसी भी नुकसान का सामना नहीं करना पड़ता। सोलर पैनल इसमें सबसे महत्वपूर्ण हैं, जो सोलर ऊर्जा को बिजली में बदलते हैं।

सोलर पैनलों का उपयोग करके हम बिजली की जनरेशन कर सकते हैं और बिजली के बिल को कम कर सकते हैं। साथ ही PM Surya Ghar Muft Bijli Yojana के तहत सब्सिडी सहायता प्रदान की जाती है जिससे कि लोग सोलर पैनल लगा सकें। यहाँ हम जानेंगे Bina Battery वाला On-Grid Solar System Install के बारे में ताकि आप सोलर सिस्टम लगाने से पहले निश्चिंत हो जाएं।

सोलर सिस्टम इंसटोलेशन

सोलर पैनल सिस्टम लगाने से पहले, आपको अपने घर के बिजली के लोड का अंदाजा लगाना चाहिए जिससे कि आप सही साइज के सोलर सिस्टम का चयन कर सकें। यह जानकारी आपको ग्रिड बिजली बिल और मीटर के माध्यम से प्राप्त हो सकती है। यह सिस्टम आपको अपने ऊर्जा की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है।

एक बार सोलर पैनल सही स्थान और एंगल में इंस्टॉल हो जाते हैं, तो उनकी क्षमता के अनुसार बिजली उत्पन्न की जा सकती है।

बिना बैटरी के सोलर सिस्टम ऐसे काम करते हैं

एक सोलर सिस्टम तीन प्रमुख प्रकार के होते हैं – ऑन-ग्रिड, ऑफ-ग्रिड, और हाइब्रिड। ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में, आप बैटरियों का उपयोग करते हैं, जिससे कि आप बिजली बिल को कम कर सकें, जबकि हाइब्रिड सिस्टम में, आप ग्रिड और बैटरी दोनों का उपयोग कर सकते हैं। ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम में किसी भी प्रकार की बैटरी की आवश्यकता नहीं होती।

बिना बैटरी के सोलर सिस्टम को दो तरीकों से सेटअप किया जा सकता है – ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम और ट्रांसफार्मरलेस इनवर्टर।

यह भी देखें:घर पर सोलर सिस्टम लगाने चाहते हैं? यहाँ जानें कीमत, सब्सिडी और पूरी जानकारी

घर पर सोलर सिस्टम लगाने चाहते हैं? यहाँ जानें कीमत, सब्सिडी और पूरी जानकारी

Solar System Without Battery कैसे काम करते हैं:

  • ऑन-ग्रिड: इस प्रकार के सिस्टम में, सोलर पैनल दिन के उजाले में बिजली पैदा करते हैं और इसे सीधे बिजली ग्रिड में भेजते हैं। जब आपकी बिजली की जरूरत कम होती है, तो आप ग्रिड से बिजली खरीदते हैं।
  • ट्रांसफार्मरलेस इनवर्टर: यह तकनीक सोलर पैनल द्वारा उत्पन्न डीसी बिजली को एसी बिजली में बदल देती है, जिसे आपके घर के उपकरणों द्वारा उपयोग किया जा सकता है। अतिरिक्त बिजली ग्रिड में वापस भेज दी जाती है।

सोलर पैनलों द्वारा उत्पन्न बिजली को DC से AC में कन्वर्ट करने के लिए सोलर इन्वर्टर का उपयोग किया जाता है। सोलर इन्वर्टर और सोलर पैनल के बीच एक सोलर चार्ज कंट्रोलर होता है।

2kw Mono Perc Solar Panel Price

अगर आप अच्छी टेक्नोलॉजी के सोलर पैनल खरीदना चाहते हैं, तो आप Mono Perc technology के सोलर पैनल का चयन कर सकते हैं। इसके साथ ही, आप बाइफेशियल सोलर पैनल भी खरीद सकते हैं, जो दोनों तरफ से काम करते हैं और उनकी एफिशिएंसी भी अधिक होती है।

सोलर पैनल सिस्टम की कीमत विभिन्न फैक्टर्स पर निर्भर करती है, जैसे कि पैनल की क्षमता, टेक्नोलॉजी, और ब्रांड। आप 2 किलोवाट के मोनो पर्स सोलर पैनल को लगभग 66,000 रुपये में प्राप्त कर सकते हैं, जबकि बाइफेशियल सोलर पैनल की कीमत लगभग 76,000 रुपये हो सकती है। इस प्रकार 2KW ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम की अनुमानित लागत ₹80,000 से ₹1,00,000 तक हो सकती है।

बिना बैटरी वाला On-Grid Solar System बिजली बिल कम करने का एक शानदार तरीका है। यदि आप सौर ऊर्जा में निवेश करने पर विचार कर रहे हैं, तो यह एक बढ़िया विकल्प है।

यह भी देखें:कौन सा सोलर पैनल लगायें, कौन सा सोलट सिस्टम सबसे अच्छा है

कौन सा सोलर पैनल लगायें, कौन सा सोलट सिस्टम सबसे अच्छा है

2 thoughts on “Solar System Without Battery: बिना बैटरी के चलेगा सोलर, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली”

  1. हमने अपने स्कूल में 2.5 kv का सोलर सिस्टम लगवाया है,,जब से ये सिस्टम लगा है,,बिजली का बिल डबल से ज्यादा आने लगा है,, धन्य है,ये सिस्टम और mpeb
    अब केवल रोना रोना ही जारी है

    Reply

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें