बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत जानें

ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को लगा कर बिजली के बिल में छूट प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे सिस्टम से ग्रिड को बिजली भी बेची जा सकती है।

Published By News Desk

Published on

बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत जानें
बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम

सोलर सिस्टम को लगाने में होने वाला प्राथमिक निवेश अधिक होता है, जिस कारण अधिकांश नागरिक सोलर सिस्टम को स्थापित नहीं करते हैं। सोलर सिस्टम मुख्य रूप से ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम एवं ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम के अनुसार स्थापित किए जाते हैं। ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर, सोलर चार्ज कन्ट्रोलर एवं बैटरी बैकअप के लिए सोलर बैटरियों का प्रयोग किया जाता है। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में किसी प्रकार से पावर बैकअप नहीं किया जाता है। बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत यहाँ जानें।

ऑनग्रिड सोलर सिस्टम की स्थापना करने पर आप सरकार द्वारा लांच की जाने वाली सब्सिडी योजनाओं का आवेदन कर के भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर, नेट-मीटर आदि का प्रयोग किया जाता है। इस सोलर सिस्टम की स्थापना नागरिक कम बिजली कटौती वाले स्थान पर कर सकते हैं, क्योंकि ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से निर्मित होने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है। जिस से जब ग्रिड की बिजली उपलब्ध रहती है, तभी इस सिस्टम की बिजली का प्रयोग भी किया जा सकता है।

4 kw ऑनग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत

4 किलोवाट के सोलर सिस्टम के द्वारा प्रतिदिन 20 यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। जिसके लिए मौसम जैसे कारक का अनुकूल होना आवश्यक होता है। 4 किलोवाट के सोलर सिस्टम में प्रतिमाह लगभग 600 यूनिट बिजली का निर्माण किया जा सकता है। ऐसे में वे नागरिक जिनका प्रतिदिन बिजली का लोड 20 यूनिट है या मासिक बिजली का लोड 600 यूनिट तक है, वे 4 किलोवाट के सोलर सिस्टम को स्थापित कर सकते हैं।

4 किलोवाट के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित कर फ्री बिजली का लाभ उपयोगकर्ता प्राप्त कर सकते हैं। या लेक्ट्रिक ग्रिड से प्राप्त होने वाले बिजली बिल में भारी छूट प्राप्त कर सकते हैं। इस सोलर सिस्टम को लगभग 1.80 लाख से 2.30 लाख रुपये तक में स्थापित कर सकते हैं।

4 Kw सोलर पैनल की कीमत

सोलर पैनल को सोलर सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण उपकरण कहा जा सकता है, क्योंकि सोलर पैनल के द्वारा ही सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करने का कार्य किया जाता है। सोलर पैनल द्वारा बिजली को दिष्ट धारा DC के रूप में निर्मित किया जाता है। सोलर पैनल के प्रकार के अनुसार नागरिक सोलर सिस्टम को स्थापित कर सकते हैं। 4 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल की कीमत इस प्रकार हो सकती है:-

  • यदि उपभोक्ता 4 किलोवाट के पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग सोलर सिस्टम में करे तो उनकी कुल कीमत लगभग 1.20 लाख रुपये तक हो सकती है। इस प्रकार के सोलर पैनल की दक्षता कम होती है। ये कम धूप एवं खराब मौसम में बिजली का उत्पादन करने नहीं में असमर्थ होते हैं। इनकी कीमत कम होने के कारण ही इनका प्रयोग सबसे अधिक सोलर सिस्टम में किया जाता है।
  • यदि उपभोक्ता अपने सोलर सिस्टम में मोनो PERC प्रकार के सोलर पैनल का प्रयोग करे तो 4 किलोवाट मोनो पर्क सोलर पैनल की कीमत लगभग 1.35 लाख रुपये तक हो सकती है। इस प्रकार के सोलर पैनल की दक्षता उच्च होती है। ये खराब मौसम एवं कम धूप में भी बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होते हैं।
  • यदि उपभोक्ता अपने सोलर सिस्टम में 4 किलोवाट बाइफेशियल सोलर पैनल स्थापित करे तो इस प्रकार के सोलर पैनल की कीमत लगभग 1.50 लाख रुपये तक हो सकती है। इस प्रकार के सोलर पैनल आधुनिक तकनीक के सोलर पैनल हैं, इनकी विशेषता यह है कि ये दोनों ओर से बिजली का उत्पादन कर सकते हैं, सामने की ओर से सूर्य के प्रकाश से एवं पृष्ठ भाग से Albedo किरण से बिजली का उत्पादन करते हैं।

4 Kw सोलर सिस्टम की ऑनग्रिड सोलर इंवर्टर की कीमत

सोलर इंवर्टर द्वारा सोलर पैनल से प्राप्त होने वाली बिजली के DC रूप को AC में परिवर्तित किया जाता है। AC प्रत्यावर्ती धारा के द्वारा ही अधिकांश विद्युत उपकरण संचालित होते हैं। बाजार में ऑनग्रिड एवं ऑफग्रिड सोलर सिस्टम के लिए सोलर इंवर्टर उपलब्ध रहते हैं। सोलर इंवर्टर के निर्माता ब्रांड द्वारा PWM (Pulse Width Modulation) एवं MPPT (Maximum Power Point Tracking) तकनीक के सोलर इंवर्टर का निर्माण किया जाता है। PWM तकनीक के सोलर इंवर्टर की कीमत कम होती है। MPPT आधुनिक विकसित तकनीक हैं इसलिए इसकी कीमत अधिक है।

बाजार में UTL, Luminous, Eastman, Smarten, Microtek आदि ब्रांड सोलर इंवर्टरों का निर्माण एवं विक्रय करते हैं। आप किसी भी ब्रांड के माध्यम से 4 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में प्रयुक्त होने वाले सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर सकते हैं। 4 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में प्रयुक्त होने वाले सोलर इंवर्टर के द्वारा 4 KVA तक का लोड आसानी से संचालित किया जा सकता है। इस सोलर इंवर्टर की कीमत लगभग 35,000 रुपये से 45,000 रुपये तक हो सकती है। जिस पर निर्माता ब्रांड द्वारा वारंटी भी प्रदान की जाती है।

बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कुल कीमत

किसी भी सोलर सिस्टम में मुख्य उपकरणों के अतिरिक्त अन्य छोटे उपकरणों का प्रयोग भी किया जाता है, जिनके द्वारा सोलर सिस्टम को सुरक्षा प्रदान की जाती है। 4 किलोवाट के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में वायरिंग, लाइटनिंग अरेस्टर, अर्थिंग, नेटमीटर आदि का प्रयोग किया जाता है, जिनकी कीमत सोलर सिस्टम में अन्य खर्च में सम्मिलित होती है। यह अन्य खर्च लगभग 30,000 रुपये तक हो सकता है। सोलर सिस्टम की कुल कीमत इस प्रकार हो सकती है:-

यह भी देखें:घर में Laptop / Computer चलाने के लिए लगाएँ Solar Panel, कितने वाट का सही रहेगा जानें अभी

घर में Laptop / Computer चलाने के लिए लगाएँ Solar Panel, कितने वाट का सही रहेगा जानें अभी

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग करने पर कुल कीमत:-

  • 4 किलोवाट पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की कीमत- 1,20,000 रुपये
  • सोलर इंवर्टर की कीमत- 35,000 रुपये
  • अतिरिक्त खर्चा- 30,000 रुपये
  • कुल खर्चा- 1,85,000 रुपये

मोनो PERC सोलर पैनल का प्रयोग करने पर कुल खर्चा:-

  • 4 किलोवाट मोनो PERC सोलर पैनल की कीमत- 1,35,000 रुपये
  • सोलर इंवर्टर की कीमत- 40,000 रुपये
  • अतिरिक्त खर्चा- 30,000 रुपये
  • कुल खर्चा- 2,05,000 रुपये

बाइफेशियल सोलर पैनल का प्रयोग करने पर कुल खर्चा:-

  • 4 किलोवाट बाइफेशियल सोलर पैनल की कीमत- 1,50,000 रुपये
  • सोलर इंवर्टर की कीमत- 45,000 रुपये
  • अतिरिक्त खर्चा- 30,000 रुपये
  • कुल खर्चा- 2,25,000 रुपये

4 किलोवाट सोलर सिस्टम पर सब्सिडी

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) भारत सरकार द्वारा सोलर रुफटॉप सब्सिडी योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के माध्यम से नागरिक 1 किलोवाट से 3 किलोवाट क्षमता तक के सोलर सिस्टम पर 40% सब्सिडी प्राप्त करता है, एवं 3 किलोवाट से अधिक 10 किलोवाट तक के सोलर सिस्टम पर 20% सब्सिडी प्राप्त करता है। सोलर सब्सिडी प्राप्त कर के सोलर सिस्टम पर किया जाने वाला प्राथमिक निवेश कम होता है। जिस से नागरिक को आर्थिक राहत प्राप्त होती है। सोलर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करना होता है।

यहाँ भी देखें- सोलर सब्सिडी का आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

सोलर सब्सिडी का आवेदन करने के बाद आपके आवेदन की सत्यता की जांच की जाती है। आवेदन सत्यापित होने के बाद आपको सब्सिडी प्रदान की जाती है। 4 किलोवाट के ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को सब्सिडी प्राप्त कर के आप लगभग 1.40 लाख से 2 लाख रुपये तक में आसानी से स्थापित कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उपर्युक्त आर्टिकल के माध्यम से आप बिना बैटरी के 4 kw सोलर सिस्टम की कीमत की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित करने के लिए सरकारी सब्सिडी भी प्राप्त कर सकते हैं। सोलर सिस्टम के द्वारा आने वाले 20 से 25 साल तक आप बिजली का उत्पादन कर सकते हैं। सोलर उपकरणों के निर्माता ब्रांड द्वारा इसके लिए वारंटी प्रदान की जाती है। सोलर सिस्टम को स्थापित करने से नागरिक स्वतः ही पर्यावरण को सुरक्षित रखने में सहयोग प्रदान करते हैं। क्योंकि सोलर सिस्टम के द्वारा बिना किसी प्रदूषण के बिजली का उत्पादन किया जा सकता है।

यह भी देखें:7 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा देखें

7 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा देखें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें