नए सब्सिडी कीमत के साथ 3kw Solar System लगवाने का खर्च देखें

भारत सरकार सोलर पैनल को स्थापित करने पर नागरिकों को सब्सिडी के माध्यम से प्रोत्साहित कर रही है। ऐसे में कम कीमत में सोलर सिस्टम लगा सकते हैं।

Published By News Desk

Published on

सोलर पैनल को विज्ञान की सबसे आधुनिक खोज कहा जाता है, क्योंकि सोलर पैनल के द्वारा सूर्य से प्राप्त होने वाले प्रकाश से बिजली का निर्माण किया जाता है। सोलर पैनल के अंदर सोलर सेल के द्वारा यह कार्य किया जाता है। नए सब्सिडी कीमत के साथ 3kw Solar System लगाना चाहते हैं? यहाँ जाने खर्चा। सोलर पैनल पर्यावरण को बिना नुकसान पहुंचाए ही बिजली का उत्पादन करने के लिए जाने जाते हैं।

नए सब्सिडी कीमत के साथ 3kw Solar System लगवाने का खर्च देखें
3kw Solar System लगवाने का खर्च

सोलर पैनल पर्यावरण के अनुकूल बिना किसी प्रकार के प्रदूषण को उत्पन्न किए ही बिजली का निर्माण करते हैं, इनके इसी महत्व को समझते हुए सरकार द्वारा सोलर सिस्टम को लगाने के लिए नागरिकों को सब्सिडी प्रदान की जा रही है। सोलर सब्सिडी को प्राप्त कर के कम खर्च में ही सोलर सिस्टम लगाया जा सकता है।

3kw Solar System

यदि आपके घर में आने वाले बिजली के बिल में आप लोड की जानकारी में 400 से 400 यूनिट तक लोड देखते हैं, तो आप 3 किलोवाट के सोलर सिस्टम को लगा सकते हैं। 3 किलोवाट के सोलर सिस्टम के द्वारा सूर्य की उपस्थिति में प्रतिदिन लगभग 15 यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। किसी भी क्षमता के सोलर सिस्टम को लगाने से पूर्व घर के बिजली लोड की जानकारी का होना आवश्यक होता है।

सोलर सिस्टम में लगने वाले उपकरण

किसी भी सोलर सिस्टम को मुख्य रूप से ऑनग्रिड एवं ऑफग्रिड प्रकार से स्थापित किया जाता है। ऑफग्रिड सोलर सिस्टम में बिजली का बैकअप रखने के लिए बैटरी का प्रयोग किया जाता है, जबकि ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में किसी भी प्रकार से बैटरी का प्रयोग नहीं किया जाता है, ऐसे सिस्टम में ग्रिड के साथ बिजली को शेयर किया जाता है, जिसमें यूनिट की गणना करने के लिए नेट-मिटरिंग की जाती है। ऑनग्रिड सोलर सिस्टम लगाने पर ही सब्सिडी प्राप्त की जा सकती है।

एक ऑनग्रिड सोलर सिस्टम में सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर, नेट-मीटर एवं अन्य छोटे उपकरणों का प्रयोग किया जाता है, सोलर पैनल सूर्य के प्रकाश से बिजली का उत्पादन करने का कार्य करते हैं। सोलर पैनल से बिजली डायरेक्ट करंट DC के रूप में निर्मित होती है। सोलर इंवर्टर के द्वारा DC को AC प्रत्यावर्ती धारा के रूप में निर्मित किया जाता है, नेट मीटर सिस्टम में शेयर होने वाली बिजली की गणना करने का कार्य करता है।

नए सब्सिडी कीमत के साथ 3kw Solar System लगवाने का खर्च

भारत सरकार द्वारा सोलर सिस्टम को बढ़ावा प्रदान करने के लिए सब्सिडी से जुड़ी योजनाओं को लांच किया गया है। इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए नागरिक को ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को स्थापित करना होता है। ऐसे सोलर सिस्टम में बैटरी का प्रयोग नहीं किया जाता है, पैनल से बनने वाली बिजली को सीधे इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है। जिस से नागरिक अपने बिजली बिल को कम कर सकते हैं। सरकार द्वारा हाल ही में सोलर पैनल पर दी जाने वाली सब्सिडी का अपडेट दिया गया है जो इस प्रकार हैं:-

यह भी देखें:खेती में सोलर पैनल का महत्व, जानें क्या है इसके फायदे

खेती में सोलर पैनल का महत्व, जानें क्या है इसके फायदे

  • 1 किलोवाट के सोलर सिस्टम पर पहले 14,588 रुपये की सब्सिडी प्रदान की जाती थी, अब सरकार द्वारा इस राशि को बढ़ा कर 18,000 रुपये कर दिया है।
  • नए अपडेट के अनुसार सरकार द्वारा 3 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम को लगाने पर 54,000 रुपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। अर्थात औसतन बिना सब्सिडी के 3 किलोवाट सोलर सिस्टम को लगाने में 1.80 लाख रुपये का खर्चा होता है। इस योजना का लाभ प्राप्त कर के इसे 1.20-1.30 लाख रुपये में स्थापित किया जा सकता है।

सोलर सब्सिडी योजना का लाभ उठाने के लिए सावधानियाँ

किसी भी क्षमता के सोलर सिस्टम के लिए सब्सिडी प्राप्त करने से पहले आपको निम्न जानकारियाँ होनी चाहिए:-

  • उपभोक्ता बिजली के सेंशन लोड से लगभग 90% पर ही सब्सिडी का आवेदन कर सकता है। 90% सेंशन लोड पर ही उपभोक्ता को सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जाता है।
  • सेंशन लोड की जानकारी को इलेक्ट्रिक ग्रिड से प्राप्त होने वाले बिजली के बिल से प्राप्त किया जा सकता है।
  • सोलर सिस्टम में सब्सिडी प्राप्त करने के लिए केवल ऑनग्रिड सोलर सिस्टम को ही स्थापित करना चाहिए। जिसमें आप बिजली के बिल को कम करने के साथ ही ग्रिड को बिजली बेच कर कुछ आर्थिक लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • सोलर पैनल पर प्राप्त होने वाली सब्सिडी को केवल अक्षय ऊर्जा विभाग में पंजीकृत विक्रेता द्वारा ही खरीदना और लगवाना चाहिए, इसमें केवल पॉलीक्रिस्टलाइन प्रकार के ही सोलर पैनल लगाए जाते हैं।

सोलर सिस्टम पर सब्सिडी का आवेदन

यदि आप अपने घर में 3 किलोवाट क्षमता का सोलर सिस्टम स्थापित करना चाहते हैं, एवं उसके लिए आप सब्सिडी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप केंद्र सरकार की सबसे लेटेस्ट सूर्य घर मुफ़्त बिजली योजना का आवेदन कर सकते हैं। योजना का आवेदन करने के लिए आपके पास आपका बिजली का बिल होना चाहिए, जिसमें से आप अपना कंज्यूमर नंबर प्राप्त कर सकते हैं। जिसकी सहायता से आप पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। एवं लॉगिन कर के सब्सिडी का आवेदन कर सकते हैं।

सोलर सब्सिडी का आवेदन करने की प्रक्रिया की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

निष्कर्ष

सोलर सिस्टम में एक बार निवेश कर के आप अनेक लाभ प्राप्त कर सकते हैं, बिजली के बिल को कम कर सकते हैं, पर्यावरण को सुरक्षित रख सकते हैं। यदि आपका बजट कम है तो आप सरकार द्वारा शुरू की गई सब्सिडी योजनाओं का आवेदन का कम कीमत में सोलर सिस्टम को स्थापित कर सकते हैं। घरों में अधिकतम 10 किलोवाट तक क्षमता के सोलर सिस्टम को लगाने पर सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाती है। सोलर सिस्टम की स्थापना करने के बाद आने वाली 4-5 सालों में आप अपने निवेश को वापस प्राप्त कर आने वाले 20 वर्षों तक फ्री बिजली का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी देखें:सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

सोलर पैनल कितने साल में होता है खराब, सर्विसिंग में कितने पैसे लगते हैं?

1 thought on “नए सब्सिडी कीमत के साथ 3kw Solar System लगवाने का खर्च देखें”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें