10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? जानें

Published By News Desk

Published on

10 किलोवाट सोलर सिस्टम घर के लिए एक बड़ा सोलर सिस्टम हो सकता है, इसका प्रयोग सामान्यतः दुकानों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों एवं कारखानों में किया जाता है। यदि आपके घर, प्रतिष्ठान या औद्योगिक क्षेत्र में प्रतिदिन बिजली की खपत 45 यूनिट से 50 यूनिट तक रहती है, तो ऐसे में आप सौर ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा का लाभ प्राप्त करने के लिए 10 किलोवाट के सोलर सिस्टम को स्थापित कर सकते हैं, जिसके द्वारा उचित धूप की उपस्थिति में 50 यूनिट बिजली का उत्पादन प्रतिदिन किया जा सकता है। 10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? इस लेख से जानें।

एक पूरे सोलर सिस्टम में सोलर पैनल, सोलर इंवर्टर, सोलर चार्ज कन्ट्रोलर एवं सोलर बैटरी का प्रयोग किया जाता है। सोलर पैनल में पॉलीक्रिस्टलाइन या मोनोक्रिस्टलाइन प्रकार का प्रयोग किया जाता है, मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल उच्च दक्षता के सोलर पैनल होते हैं, ये पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की तुलना में कम धूप में भी अधिक बिजली का उत्पादन कर सकते हैं।

10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? जानें
10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं?

10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं?

10 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम से सभी प्रकार के विद्युत उपकरणों को चलाया जा सकता है। यदि नागरिक द्वारा ऑन-ग्रिड सोलर सिस्टम स्थापित किया जाए तो ऐसे सोलर सिस्टम से सभी उपकरणों को संचालित किया जा सकता है, क्योंकि ऐसे सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से निर्मित होने वाली बिजली को इलेक्ट्रिक ग्रिड के साथ साझा किया जाता है, और इलेक्ट्रिक ग्रिड से प्राप्त होने वाली बिजली का प्रयोग होता है।

यदि नागरिक ऑफग्रिड सोलर सिस्टम का प्रयोग करें तो ऐसे में 10 KVA लोड को संचालित करने वाले सोलर इंवर्टर को सोलर सिस्टम में स्थापित किया जाता है। ऑफ-ग्रिड सोलर सिस्टम में बिजली को स्टोर करने के लिए सोलर बैटरियों का प्रयोग किया जाता है, जो DC (दिष्ट धारा) के रुप में जमा की जाती है, DC को AC (प्रत्यावर्ती धारा) में बदलने के लिए सोलर इंवर्टर का प्रयोग होता है, इस से निम्न उपकरण चलाए जा सकते हैं:- 1 किलोवाट सोलर सिस्टम में चलने वाले उपकरण

  • LED बल्ब
  • ट्यूबलाइट
  • सीलिंग फैन (छत के पंखे)
  • लैपटॉप एवं डेस्कटॉप कंप्यूटर
  • LED टीवी
  • रेफ्रिजरेटर (500L)
  • कूलर
  • एयर कंडीशनर (AC- 2 Ton)
  • Music System
  • सेट-अप बॉक्स
  • Laser Printer
  • Juicer Mixer Grinder
  • टोस्टर (800W तक)
  • वाशिंग मशीन

10 किलोवाट बिजली पर चलने वाले उपकरणों का विवरण

सोलर सिस्टम में उचित दक्षता एवं क्षमता के सोलर इंवर्टर का प्रयोग करना चाहिए, जो आपके द्वारा चलाए जाने वाले उपकरणों को बिना नुकसान पहुंचाए संचालित कर सकते हैं। सभी विद्युत उपकरणों पर उनके द्वारा प्रयोग की जाने वाली बिजली की रेटिंग दी गई होती है, किसी भी इस सोलर सिस्टम में भी सभी उपकरणों को एक साथ नहीं प्रयोग करना चाहिए, ऐसा होने पर ओवरलोडिंग के कारण सिस्टम के जल्दी खराब होने की संभावनाएं रहती है।

  • 10 ट्यूबलाइट (प्रति 20 वाट)- 200 वाट
  • 12 लैपटॉप (100 वाट)- 1200 वाट
  • 10 सीलिंग फैन (प्रति 75 वाट)- 750 वाट
  • 2 LED टीवी (प्रति 100 वाट)- 200 वाट
  • 2 रेफ्रिजरेटर (200 वाट)- 400 वाट
  • एयर कन्डिशनर AC (x6) – 7200 वाट
  • कुल कीमत- 9950 वाट

10 किलोवाट सोलर सिस्टम में प्रयोग करें ये सोलर इंवर्टर

आज के समय में बाजार में अनेक कंपनियों के आधुनिक तकनीक के सोलर इंवर्टर उपलब्ध हैं, जिनका प्रयोग कर कुशल सोलर सिस्टम का निर्माण किया जा सकता है, ऐसे सोलर सिस्टम के द्वारा उपकरणों को सही से संचालित किया जा सकता है। सोलर इंवर्टर के द्वारा ही लोड को नियंत्रित किया जाता है। सोलर इंवर्टर मुख्य रूप से PWM (Pulse Width Modulation) एवं MPPT (Maximum Power Point Tracking) प्रकार की तकनीक के साथ उपलब्ध रहते हैं।

PWM तकनीक के सोलर इंवर्टर द्वारा सोलर पैनल से बनने वाली बिजली की करंट को नियंत्रित किया जाता है, यह पारंपरिक तकनीक है। जबकि MPPT एक एडवांस तकनीक है जो सोलर पैनल से निर्मित बिजली की करंट एवं वोल्टेज दोनों को नियंत्रित करने का कार्य करती है। MPPT तकनीक के सोलर इंवर्टर की दक्षता PWM तकनीक के सोलर इंवर्टर से 30% अधिक होती है, 10 किलोवाट के सोलर सिस्टम में निम्न सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर सकते हैं:-

Cellcronic Falcon 6G Plus 8Kw-48V: यह एक हाइब्रिड सोलर इंवर्टर है। इस सोलर सिस्टम से 8 किलोवाट तक का लोड आसानी से चलाया जा सकता है, MPPT तकनीक में यह इंवर्टर 10 Kw तक के लोड को संचालित कर सकता है। इस सोलर इंवर्टर को यूजर फ़्रेंडली बनाने के लिए इस पर LCD डिस्प्ले दी गई होती है। इस सोलर इंवर्टर की कीमत आधिकारिक वेबसाइट पर लगभग 1,22,000 रुपये है। इसकी विशेषताएं इस प्रकार हैं:-

क्रमांक विशेषताएं
1Pure Sine Wave (आउटपुट)
210000W Wide MPPT (120~450vdc) चार्ज कंट्रोलर
3मोबाइल मॉनिटरिंग के लिए वाईफ़ाई लॉगर कनेक्ट करने के लिए बाहरी पोर्ट (एंड्रॉइड ऐप उपलब्ध है)
4बीएमएस के लिए आरक्षित संचार पोर्ट (RS-485, कैन-बस या RS-232)
5उपयोगकर्ता-समायोज्य चार्जिंग करंट और वोल्टेज।
6कॉन्फ़िगर करने योग्य एसी/पीवी आउटपुट उपयोग टाइमर और प्राथमिकता।
7घरेलू उपकरणों और व्यक्तिगत कंप्यूटरों के लिए चयन योग्य इनपुट वोल्टेज रेंज।
8Internal Anti-dust Kit
9प्रोग्राम करने योग्य एकाधिक ऑपरेशन मोड।
106 इकाइयों तक समानांतर संचालन।
111 साल की वारंटी निर्माता द्वारा प्रदान की जाती है।

10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? से संबंधित प्रश्न एवं उत्तर

10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं?

यह भी देखें:घर में सोलर पैनल लगाने से पहले जरूर जान लें ये बातें, सोलर पैनल लगाना कितना है फायदेमंद?

घर में सोलर पैनल लगाने से पहले जरूर जान लें ये बातें, सोलर पैनल लगाना कितना है फायदेमंद?

10 किलोवाट सोलर सिस्टम से ट्यूबलाइट, LED बल्ब, सीलिंग फैन (छत के पंखे), लैपटॉप एवं डेस्कटॉप कंप्यूटर, LED टीवी,रेफ्रिजरेटर (500L), कूलर, एयर कंडीशनर (AC- 2 Ton), Music System, सेट-अप बॉक्स, Laser Printer, Juicer Mixer Grinder, टोस्टर, वाशिंग मशीन आदि सभी उपकरणों को चला सकते हैं।

10 किलोवाट सोलर सिस्टम को लगाने में कितने तक का खर्चा हो सकता है?

10 किलोवाट सोलर सिस्टम को लगाने में कुल खर्चा लगभग 5.25 लाख रुपये से 7 लाख रुपये तक हो सकता है।

10 किलोवाट सोलर सिस्टम से कितनी बिजली का उत्पादन किया जा सकता है?

10 किलोवाट सोलर सिस्टम से प्रतिदिन अनुकूल कारकों के होने पर लगभग 50 यूनिट तक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है।

सोलर सिस्टम को स्थापित करने के क्या-क्या लाभ है?

सोलर सिस्टम को स्थापित करने से नागरिक की जीवाश्म ईंधन की निर्भरता को खत्म किया जा सकता है, इलेक्ट्रिक ग्रिड बिजली के बिल को कम किया जा सकता है। इस सिस्टम के द्वारा पर्यावरण के अनुकूल बिजली का उत्पादन किया जाता है, यह पर्यावरण को सुरक्षित रखने में सहायक है।

इस प्रकार ऊपर दी गई जानकारी के द्वारा आप 10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? को जान सकते हैं। 10 किलोवाट सोलर सिस्टम एक मजबूत सोलर सिस्टम होता है, जिसके द्वारा नागरिक सभी प्रकार के उपकरणों को संचालित कर सकते हैं। सोलर सिस्टम के अधिक से अधिक प्रयोग से ही हरित भविष्य की कल्पना की जा सकती है, क्योंकि सोलर सिस्टम के प्रयोग से ही पर्यावरण में उपस्थित कार्बन फुटपरिन्ट को कम किया जा सकता है।

यह भी देखें:सबसे बढ़िया सोलर कॉम्बो पैकेज मात्र ₹1,550 में लगवाएं, जानिए कीमत व पूरा EMI प्लान

सबसे बढ़िया सोलर कॉम्बो पैकेज मात्र ₹1,550 में लगवाएं, जानिए कीमत व पूरा EMI प्लान

2 thoughts on “10 किलोवाट सोलर सिस्टम में क्या-क्या चला सकते हैं? जानें”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें