10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कीमत की जानकारी देखें

Published By News Desk

Published on

पेट्रोल पंप, स्कूल, अस्पतालों एवं मध्यम कारखानों में बिजली की अधिक आवश्यकता होती है, ऐसे प्रतिष्ठानों पर प्रतिदिन बिजली का लोड लगभग 50 यूनिट तक रहता है। ऐसे स्थानों में यदि आप आधुनिक तकनीक के सोलर सिस्टम को स्थापित करने का विचार कर रहे हैं तो आप 10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक को स्थापित कर सकते हैं। आधुनिक तकनीक के सोलर सिस्टम से सामान्य सोलर सिस्टम की तुलना में अधिक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। ऐसे एडवांस सोलर सिस्टम से उपयोगकर्ताओं को अनेक प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं।

10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कीमत की जानकारी देखें
10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कीमत

यह भी जानें: सोलर रुफटॉप सब्सिडी योजना की पात्रता एवं आवेदन प्रक्रिया जानें

सामान्य सोलर सिस्टम के द्वारा प्रतिदिन लगभग 45 से 50 यूनिट बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। आधुनिक तकनीक के सोलर सिस्टम द्वारा प्रतिदिन लगभग 60 यूनिट तक बिजली का निर्माण किया जा सकता है। ऐसे सोलर सिस्टम में बाइफेशियल सोलर पैनल, एडवांस MPPT सोलर इंवर्टर, आधुनिक तकनीक की लिथियम बैटरी का प्रयोग किया जाता है। ऐसे सोलर सिस्टम को एक बार स्थापित करने पर आप आने वाले 20 से 25 सालों तक फ्री बिजली का लाभ प्राप्त कर अपनी इलेक्ट्रिक ग्रिड की निर्भरता को कम कर सकते हैं।

10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैनल

किसी भी क्षमता के सोलर सिस्टम में सबसे मुख्य एवं महत्वपूर्ण उपकरण सोलर पैनल होते हैं, सोलर पैनल के द्वारा सूर्य से प्राप्त होने वाली सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। सोलर पैनल मुख्यतः पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोक्रिस्टलाइन, थिन फिल्म एवं बाइफेशियल प्रकार के होते हैं। बाइफेशियल सोलर पैनल सबसे आधुनिक सोलर पैनल होते हैं। जिनका प्रयोग आप एडवांस सोलर सिस्टम में कर सकते हैं।

बाइफेशियल सोलर पैनल अन्य सोलर पैनल की तुलना में अधिक दक्षता के सोलर पैनल होते हैं। इनके द्वारा दोनों ओर से बिजली का उत्पादन किया जाता है। ये सूर्य से सीधे प्राप्त होने वाले प्रकाश से एवं पृष्ठ भाग से Albedo Light (सूर्य का परावर्तित प्रकाश) से बिजली का उत्पादन करते हैं। सामान्य सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल उचित मात्रा में सूर्य का प्रकाश प्राप्त होने पर ही बिजली का उत्पादन करते हैं। जबकि बाइफेशियल सोलर पैनल खराब मौसम या कम धूप में भी बिजली का निर्माण करते हैं। Bifacial Solar Panel Efficiency

10 किलोवाट क्षमता के बाइफेशियल सोलर पैनल की कीमत लगभग 4,00,000 रुपये तक हो सकती है। इस सोलर पैनल की कीमत 40 रुपये प्रतिवाट है। एक बार सोलर सिस्टम में इस प्रकार के एडवांस सोलर पैनल स्थापित कर लेने के बाद उपयोगकर्ता लंबे समय तक इनके माध्यम से बिजली का उत्पादन कर सकते हैं। इस सोलर पैनल से निर्मित बिजली का प्रयोग कर आप सभी विद्युत उपकरणों को संचालित कर सकते हैं।

10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर इंवर्टर

सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर के सोलर पैनल या बैटरी से प्राप्त दिष्ट धारा DC को प्रत्यावर्ती धारा AC में परिवर्तित किया जाता है। आज के समय में सोलर उपकरणों का निर्माण करने वाले अनेक ब्रांड के आधुनिक सोलर इंवर्टर बाजारों में उपलब्ध हैं। सोलर इंवर्टर मुख्यतः 2 तकनीक में निर्मित होते हैं। PWM (Pulse Width Modulation) एवं MPPT (Maximum Power Point Tracking)

PWM तकनीक सोलर इंवर्टर की पुरानी तकनीक है, इस तकनीक के सोलर इंवर्टर के द्वारा सोलर पैनल से प्राप्त होने वाली बिजली की सिर्फ करंट ही नियंत्रित की जाती है। जबकि MPPT तकनीक के सोलर इंवर्टर द्वारा पैनल से प्राप्त होने वाली बिजली की करंट एवं वोल्टेज दोनों को नियंत्रित किया जा सकता है। इस प्रकार के आधुनिक सोलर इंवर्टर के द्वारा PWM इंवर्टर से 30% अधिक बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। 10 किलोवाट क्षमता के आधुनिक सोलर सिस्टम में निम्न सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर सकते हैं:-

यह भी देखें:कूलर, पंखा, ए.सी सब चलाओ रात -दिन बस ये डिवाइस लगा लो

कूलर, पंखा, ए.सी सब चलाओ रात -दिन बस ये डिवाइस लगा लो

Cellcronic Falcon 6G Plus 8kw-48V– यह MPPT तकनीक में निर्मित सोलर इंवर्टर है। इस सोलर इंवर्टर पर 1 लिथियम बैटरी को जोड़ कर 10 Kw का सोलर सिस्टम बनाया जा सकता है। इस सोलर इंवर्टर द्वारा 8 किलोवाट तक के लोड को चलाया जा सकता है। 10 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल को इस इंवर्टर से जोड़ कर 10 किलोवाट का सोलर सिस्टम बनाया जा सकता है। आधुनिक तकनीक के इस सोलर इंवर्टर को स्मार्टफोन से भी कंट्रोल किया जा सकता है। इसकी कीमत लगभग 1,35,000 रुपये है। इसकी विशेषताएं इस प्रकार हैं:- 5 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैनल

  • Pure Sine Wave आउटपुट
  • 10000 W वाइड MPPT (120~450vdc) चार्ज कंट्रोलर।
  • BMS के लिए आरक्षित संचार पोर्ट (RS-485, कैन-बस या RS-232)
  • उपयोगकर्ता-समायोज्य चार्जिंग करंट और वोल्टेज।
  • कॉन्फ़िगर करने योग्य एसी/पीवी आउटपुट उपयोग टाइमर और प्राथमिकता।
  • घरेलू उपकरणों और व्यक्तिगत कंप्यूटरों के लिए चयन योग्य इनपुट वोल्टेज रेंज।
  • अंतर्निहित एंटी-डस्ट किट।
  • प्रोग्राम करने योग्य एकाधिक ऑपरेशन मोड।
  • 6 इकाइयों तक समानांतर संचालन।
  • 1 साल की वारंटी।

आधुनिक सोलर सिस्टम में सोलर बैटरी

सोलर बैटरी या किसी भी अन्य बैटरी में बिजली के DC रूप को ही संग्रहीत किया जा सकता है। सोलर सिस्टम में सोलर पैनल से बनने वाली बिजली को जमा करने के लिए एवं आवश्यकता के समय पावर बैकअप के लिए बैटरियों का प्रयोग किया जाता है। सामान्य सोलर सिस्टम में लेड एसिड बैटरी का प्रयोग किया जाता है। जिनमें साल में 4-5 बार पानी भरना होता है। ऐसी सोलर बैटरी को अधिक रखरखाव की आवश्यकता होती है। ये वजन में भी बहुत भारी होती हैं। Cellcronic Powerwall lithium battery

आधुनिक सोलर सिस्टम में आधुनिक तकनीक की लिथियम बैटरी का प्रयोग किया जाता है। लिथियम बैटरी वजन में हल्की होती है। इस प्रकार की बैटरी का बहुत कम रख-रखाव करना होता है। लिथियम बैटरी की लाइफ साइकिल सामान्य लेड-एसिड बैटरी से अधिक होती है। Cellcronic Powerwall 2.0 5kw-48V Lithium PO4 Battery का प्रयोग आधुनिक सोलर सिस्टम में कर सकते हैं, इस बैटरी की कीमत आधिकारिक वेबसाइट पर लगभग 1,45,000 रुपये है। इस सोलर बैटरी की विशेषताएं इस प्रकार हैं:-

  • 80% DOD पर 4500 जीवन चक्र।
  • सेलक्रोनिक, डेय, वोल्ट्रोनिक और अधिकांश हाइब्रिड इन्वर्टर ब्रांडों के साथ संगत।
  • लंबे जीवन काल के लिए सुपर ग्राफीन लिथियम कोशिकाएं।
  • स्मार्ट 125 A BMS, सुपर सुरक्षा डिज़ाइन।
  • CAN, RS-485 एवं RS-232 संचार पोर्ट।
  • 32 पावरवॉल इकाइयों तक समानांतर।
  • 40 साल का डिज़ाइन जीवन।
  • सभी मापदंडों को देखने के लिए एलसीडी स्क्रीन को आगे बढ़ाएं।
  • 120 A तक निरंतर उच्च डिस्चार्ज करंट एवं उछाल के लिए 350 A।
  • 5 साल की वारंटी।

सोलर सिस्टम में अन्य खर्चे

सोलर सिस्टम की लगाने में मुख्य उपकरणों के अतिरिक्त अन्य छोटे उपकरणों का प्रयोग भी किया जाता है। सोलर सिस्टम में पैनल स्टैन्ड, ACDB/DCDB बॉक्स आदि उपकरणों का प्रयोग सोलर सिस्टम को सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है। सोलर सिस्टम में प्रयुक्त मुख्य उपकरणों को जोड़ने के लिए अलग-अलग प्रकार के वायर का प्रयोग होता है। सोलर सिस्टम में इन उपकरणों की कीमतों को ही अन्य खर्चों में जोड़ा जाता है। 10 किलोवाट क्षमता के सोलर सिस्टम में लगभग 70,000 रुपये तक अन्य खर्च हो सकता है।

10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की कुल कीमत

इस लेख में हमारे द्वारा औसतन कुल खर्चे की जानकारी दी गई है। 10 किलोवाट क्षमता के आधुनिक सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाले उपकरणों को नागरिक अपनी सुविधा के अनुसार नजदीकी बाजार से या ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म से खरीद सकते हैं। सोलर उपकरणों की कीमत स्थान एवं ब्रांड के आधार पर अलग-अलग हो सकती है। लेख में दिए गए खर्चे में स्थापना करने वाले कर्मियों के भुगतान शुल्क को नहीं जोड़ा गया है। सोलर सिस्टम में होने वाला औसतन कुल खर्चा इस प्रकार है:-

  • 10 किलोवाट क्षमता के बाइफेशियल सोलर पैनल की कीमत- 4,00,000 रुपये
  • Cellcronic Falcon 6G Plus 8kw-48V सोलर इंवर्टर की कीमत- 1,35,000 रुपये
  • Cellcronic Powerwall 2.0 5kw-48V Lithium PO4 Battery की कीमत- 1,45,000 रुपये
  • अन्य खर्च- 70,000 रुपये
  • औसतन कुल खर्चा- 7,50,000 रुपये

10 किलोवाट क्षमता के सस्ते सोलर सिस्टम की कुल कीमत

यदि आप कम कीमत का सोलर सिस्टम स्थापित करना चाहते हैं, तो आप अपने सोलर सिस्टम में पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का प्रयोग सौर ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं। करंट को परिवर्तित करने के लिए आप PWM तकनीक के सोलर इंवर्टर का प्रयोग कर सकते हैं, साथ ही बैटरी बैकअप के लिए लेड-एसिड बैटरी का प्रयोग अपने सोलर सिस्टम में कर सकते हैं, ऐसे में आपके सोलर सिस्टम का कुल औसतन खर्चा इस प्रकार हो सकता है:-

  • 10 किलोवाट क्षमता के पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की कीमत- 2,80,000 रुपये
  • 10 KVA सोलर इंवर्टर की कीमत- 1,20,000 रुपये
  • 100 Ah x 4 सोलर बैटरी की कीमत- 40,000 रुपये
  • अन्य खर्च- 60,000 रुपये
  • कुल औसतन खर्च- 5,00,000 रुपये

इस प्रकार सस्ते सोलर पैनल से आप उचित धूप की उपस्थिति में प्रतिदिन लगभग 50 यूनिट तक बिजली का उत्पादन कर सकते हैं। ये सोलर सिस्टम अधिक मैन्टिनेंस मांगते हैं। इस प्रकार के सोलर सिस्टम को आप सरकारी सब्सिडी की आवश्यकता से भी स्थापित कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इस प्रकार आप उपर्युक्त लेख से आप 10 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक की जानकारी प्राप्त कर अपना आधुनिक सोलर सिस्टम स्थापित कर सकते हैं। ऐसे सोलर सिस्टम से लंबे समय तक फ्री बिजली का उत्पादन कर आप लाभ प्राप्त कर सकते हैं। सोलर सिस्टम के द्वारा पर्यावरण को सुरक्षित रखने में आप अपना सहयोग प्रदान करते हैं। क्योंकि सोलर सिस्टम में प्रयोग होने वाली सभी उपकरण पर्यावरण के अनुकूल ही बिजली का उत्पादन करते हैं। जिस से कार्बन फुटप्रिन्ट को कम किया जा सकता है।

यह भी देखें:5 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा जानें

5 Kw एडवांस टेक्नोलॉजी सोलर पैक लगाने का खर्चा जानें

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें